गांवों के विकास के लिए नाबार्ड देगा तोहफा

ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Sat, 25 Jan 2014 03:08 PM IST
NABARD to provide fund for rular development
सूबे के गांवों के विकास के लिए नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डवलपमेंट (नाबार्ड) ने 1,21,618 करोड़ रुपये के बजट का आकलन किया है।

नाबार्ड के मुताबिक उत्पादकता बढ़ाने, कृषि में निजी पूंजी निर्माण, बुनियादी सुविधाओं, समावेशी विकास व वित्तीय समावेशन के लिए यह बजट आवश्यक है।

शुक्रवार को यहां एक होटल में आयोजित नाबार्ड की स्टेट क्रेडिट सेमिनार में यह बात अधिकारियों ने कही। सेमिनार का शुभारंभ कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक रंजन ने किया।

इस दौरान उन्होंने राज्य फोकस पेपर का लोकार्पण भी किया। नाबार्ड स्टेट फोकस पेपर के मुताबिक 1,21,618 करोड़ रुपये में से 88,353 करोड़ कृषि के लिए हैं।

इसी राशि में से 71,515 करोड़ रुपये किसान क्रेडिट कार्ड के रूप में अल्प अवधि के लिए कृषि आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए उपयोग होंगे।

योजना में 15,455 करोड़ की राशि गैर कृषि क्षेत्र और 17,808 करोड़ रुपये अन्य प्राथमिकता वाले क्षेत्रों में खर्च की जाएगी। मालूम हो कि स्टेट फोकस पेपर राज्य के जिलों से जुड़ी खामियों का लेखा-जोखा रखता है।

सेमीनार में नाबार्ड के मुख्य महाप्रबंधक केके गुप्ता ने कहा कि राज्य सरकार व बैंक के द्वारा सकारात्मक सहयोग के विस्तार के लिए कृषि नीति पर दोबारा विचार किए जाने की जरूरत है।

उन्होंने प्रदेश सरकार से सामान्य बजट में अलग से कृषि के लिए बजट का प्रावधान किए जाने की जरूरत पर जोर दिया।

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

देखिए, बीजेपी सांसद वरुण गांधी के बगावती तेवर!

बीजेपी सांसद वरुण गांधी केंद्र सरकार की नीतियों पर जमकर बरसे।

21 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper