अजित को जाट फैक्टर से घेरने में जुटी भाजपा

ब्यूरो/अमर उजाला, लखनऊ Updated Sat, 01 Feb 2014 09:21 AM IST
internal politics in bjp
भाजपा ने रालोद के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह को घेरने के लिए पश्चिम में जाट फैक्टर पर काम शुरू कर दिया है।

कोशिश है कि अजित को उनके लोकसभा क्षेत्र बागपत में ही घेर लिया जाए। इसके लिए मुंबई के पुलिस आयुक्त पद से इस्तीफा देने वाले डॉ. सत्यपाल सिंह को चुनाव मैदान में उतारने की रणनीति है।

डॉ. सत्यपाल ने भी खाकी उतारकर खादी पहनने की घोषणा कर दी है। वे बागपत के हैं। जानकारी के मुताबिक, डॉ. सत्यपाल जल्द ही भाजपा में शामिल हो जाएंगे।

भाजपा के एक प्रमुख नेता ने बताया कि इन्हें बागपत से उतारा जा सकता है। हालांकि डॉ. सत्यपाल के नजदीकी लोगों का कहना है कि वे बागपत के बजाय मुजफ्फरनगर या मेरठ से राजनीति की पारी शुरू करना चाहते हैं।

बागपत के बासौली गांव के रहने वाले डॉ. सत्यपाल विचारधारा के स्तर पर भगवा खेमे के लिए ही नहीं, बल्कि भाजपा के लिहाज से भी जातीय समीकरणों के खांचों में फिट बैठते हैं। नागपुर में तैनाती के दौरान संघ परिवार से उनके नजदीकी रिश्ते बने।

उस समय वे संघ परिवार के और नजदीक आ गए जब उन्होंने इशरत जहां एनकाउंटर मामले में एसआईटी चीफ बनने के बाद यह तर्क देते हुए जांच से इन्कार कर दिया था कि वे गुजराती नहीं जानते। जाट समीकरणों पर नजर डालें तो डॉ. सत्यपाल का गोत्र तोमर है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश: कांग्रेस ने लहराया परचम, 24 में से 20 वॉर्ड पर कब्जा

मध्यप्रदेश के राघोगढ़ में हुए नगर पालिका चुनाव में कांग्रेस को 20 वार्डों में जीत हासिल हुई है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

लखनऊ में बच्चे को चाकू मारने वाली छात्रा ने कोर्ट में ये कहा

लखनऊ के ब्राइटलैंड स्कूल में चाकूकांड की आरोपी छात्रा को शुक्रवार को जुवेनाइल जस्टिस कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट में आरोपी छात्रा ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इनकार कर दिया।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper