Hindi News ›   Haryana ›   Yamuna Nagar ›   Minister of State for Sports Sandeep Singh gave instructions to cancel the license of the depot in Yamunanagar

यमुनानगर: राशन वितरण में गड़बड़ी की मिली शिकायत, खेल राज्यमंत्री संदीप सिंह ने डिपो का लाइसेंस रद्द करने के दिए निर्देश

संवाद न्यूज एजेंसी, यमुनानगर (हरियाणा) Published by: भूपेंद्र सिंह Updated Wed, 15 Dec 2021 10:13 PM IST

सार

यमुनानगर में कष्ट निवारण समिति की बैठक में आई शिकायतों पर खेल राज्यमंत्री संदीप सिंह सख्त दिखे। बैठक में आईं 11 शिकायतों में से 7 मौके पर निपटाईं गई।
समस्याएं सुनते खेल राज्यमंत्री संदीप सिंह।
समस्याएं सुनते खेल राज्यमंत्री संदीप सिंह। - फोटो : संवाद न्यूज एजेंसी
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

हरियाणा के यमुनानगर में कष्ट निवारण समिति की बैठक में खेल एवं युवा कार्यक्रम राज्यमंत्री संदीप सिंह कुछ शिकायतों पर सख्त नजर आए। उन्होंने राशन वितरण में गड़बड़ी की एक शिकायत पर अधिकारियों को एक राशन डिपो होल्डर का लाइसेंस तुरंत प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिए। उधर, बैठक में राज्यमंत्री के समक्ष कुल 11 शिकायतें सामने आईं, जिनमें से सात मामलों को उन्होंने मौके पर ही निपटा दिया।



बुधवार को हुई इस बैठक में गांव लाक्कड़मय प्रतापपुर निवासी रामकुमार ने राज्य मंत्री को बताया कि गांव का डिपो होल्डर लोगों को महीने की आखिरी तारीख को राशन को बांटता है। ऐसे में कई लोग राशन लेने से वंचित रह जाते हैं। राज्यमंत्री ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए खाद्य आपूर्ति विभाग के डीएफएससी को डिपो होल्डर का लाइसेंस निलंबित करने का आदेश दिया। 


बैठक में गांव बुबका निवासी एक महिला ने राज्यमंत्री को बताया कि उसके पति की मौत हो चुकी है। उसके पास एक बच्चा है, मगर वह उसके ससुराल वालों के पास है। ससुराल वाले बच्चे को उसे नहीं दे रहे हैं। उसने बच्चे को उसे दिलाने की मांग की। इस पर राज्यमंत्री ने एसपी कमलदीप गोयल से कहा कि वह आज ही इस मामले में कार्रवाई करें और पीड़िता का बच्चा उसे दिलाया जाए और महिला की सहायता दी जाए।

नस कटने के मामले में दोबारा जांच के आदेश

बैठक के दौरान ही तारापुरी कॉलोनी निवासी कोमल ओबराय ने खेल राज्यमंत्री को बताया कि उसकी पित्त की पथरी का ऑपरेशन इसी साल की 25 मार्च को शहर के एक निजी अस्पताल में हुआ था। ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर से शरीर की नस कट गई थी। इससे उसके शरीर में जहर फैल गया था।

इसके बाद उसने दस दिन बाद शहर केे दूसरे निजी अस्पताल में उपचार करवाया, मगर यहां भी आराम न मिलने के बाद उसे चंडीगढ़ रेफर कर दिया। परिवार के लोग उसे चंडीगढ़ के एक निजी अस्पताल लेकर गए। कोमल ने बताया कि उसने इसकी शिकायत सीएम विंडो पर दी थी, सिविल अस्पताल के डॉक्टरों ने इस मामले में गलत रिपोर्ट बनाकर निजी अस्पताल के डॉक्टर के हक में दी। फरियादी की शिकायत सुनने के बाद राज्यमंत्री ने सीएमओ को इसकी दोबारा जांच करने के आदेश दिए। 

मिलीभगत से पेड़ काटने की भी शिकायत

बैठक में खेल मंत्री संदीप सिंह के सामने गांव डारपुर निवासी ताजू ने ग्राम पंचायत डारपुर के सरपंच की मिलीभगत से पेड़ काटे जाने, गांव सढूरा निवासी मेवा सिंह ने बिजली के घरेलू कनेक्शन लेने, गांव मुरादनगर निवासी कपिल देव दत्ता ने 100-100 वर्ग गज के प्लॉट देने की जांच करने, देवधर निवासी पुष्पिंद्र द्वारा अवैध खनन की जांच करने के बारे में अपनी-अपनी शिकायतें दीं। इसके अलावा प्रेमपाल सैनी गांव  सारण निवासी ने प्राकृतिक आपदा से खराब हुई धान की फसल का मुआवजा दिलवाने बारे में अपनी शिकायत दी। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00