विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बेटी को जलाकर मारने वाला पिता हिरासत में

बेटी को जलाकर मारने वाला पिता हिरासत में

पलवल। गांव दीघोट में बुधवार को देर शाम जलकर मरने वाली किशोरी के मामले में सदर पुलिस ने मृतका के पिता के खिलाफ पड़ोसी के बयान पर हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बृहस्पतिवार को शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस का कहना है कि किशोरी की हत्या उसके पिता द्वारा प्रेम-प्रसंग के मामले को लेकर की गई है। पुलिस ने आरोपी पिता को हिरासत में ले लिया है हालांकि अभी तक उसकी गिरफ्तारी नहीं दिखाई है।
जिला सिविल अस्पताल में बुधवार को देर शाम गांव दीघोट से 16 वर्षीया किशोरी सोनम को जली अवस्था में लाया गया था। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। किशोरी की मौत के मामले में किसी ने पुलिस को रात को ही सूचना दे दी थी कि उसकी परिजनों ने जलाकर हत्या कर दिया है। इस जानकारी के बाद पुलिस ने अस्पताल में पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर शवगृह में रखवा दिया था। बृहस्पतिवार को सुबह पुलिस ने इस मामले में जांच करने पर पड़ोस में रहने वाले देवी सिंह ने शिकायत दी कि 15 मई को दोपहर एक बजे वह घर से मितरोल रोड की तरफ जा रहा था। जब वह गांव निवासी गंगाराम के मकान के पास पहुंचा तो उसने देखा कि गंगाराम अपने घर से तेज गति से निकल रहा था। उसे गंगाराम के घर से जलने की बदबू आई तो उसने घर के अंदर जाकर देखा। वहां कमरे के अंदर गंगाराम की पुत्री सोनम जली हुई अवस्था में पड़ी थी और उस समय वहां पर कोई मौजूद नहीं था। देवी सिंह ने शिकायत में आरोप लगाया है कि गंगाराम ने ही अपनी पुत्री को जलाकर मारा है।
जांच अधिकारी मनोज कुमार ने बताया कि आरोपी गंगाराम के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया गया। शव का पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया गया है। उन्होंने बताया कि मृतका किशोरी कक्षा 12वीं में पढ़ती थी तथा उसकी हत्या प्रेम प्रसंग के चलते की गई है। उनका कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। वहीं बताया गया कि पुलिस ने आरोपी गंगाराम को हिरासत में लिया है तथा देर रात तक गिरफ्तारी दिखा दी जाएगी।
... और पढ़ें

युवक पर गोली चलाने के 20 दिन बाद भी नहीं हुई कोई कार्रवाई

बीस दिन बाद भी नहीं हुई कार्रवाई, सीएम विंडो पर शिकायत
पलवल। गांव मीसा में बाइक सवार युवकों द्वारा दबंगई दिखाते हुए एक दलित पर गोली चलाने के मामले में 20 दिन बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इससे नाराज पीड़ित परिजनों ने सीएम विंडो पर शिकायत की है। उन्होंने आरोपियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। पलवल के गांव मीसा निवासी अवतार ने गत 25 अप्रैल को चांदहट थाना पुलिस को शिकायत दर्ज कराई थी कि वह नोएडा स्थित प्राईवेट कंपनी में काम करता है। 25 अप्रैल को अवतार ने छुट्टी कर रखी थी और अपनी मां के साथ खेतों में पानी लगाने के लिए गया हुआ था। लेकिन बिजली नही आने के कारण अवतार अपनी के साथ घर आ गया और घर पर चारपाई पर लैटा हुआ था। उसी दौरान तीन-चार धमाके की आवाज सुनाई दी। अवतार ने बाहर आकर देखा तो एक बाइक पर दो युवक आए और आते ही उन्होंने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर गोली चला दी। गोली अवतार के बांय पैर में लगी। शोर को सुनकर अवतार की मां बाहर आई। तो उक्त युवकों ने उसकी मां पर भी लाठी-डंडा से हमला कर दिया और जान से मारने की धमकी देते हुए मौके से फरार हो गए। लेकिन पीड़ित ने दोनों युवकों को पहचान लिया। जो गांव निवासी राजेश व उसका भाई नीतिन थे। पुलिस ने पीड़ित की शिकायत के आधार पर आरोपियों के खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया गया था। लेकिन बीस बीत जाने के बाद भी पुलिस की तरफ आरोपियों के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई।
... और पढ़ें

राउंड वार अपलोड होगा परिणाम

महिला के साथ दुष्कर्म कर फोटो वायरल करने की धमकी दी
पलवल। घर में घुसकर 24 वर्षीय महिला के साथ दुष्कर्म करने व उसके अश्लील फोटो को नेट पर वायरल करने की धमकी देने का मामला सामने आया है। महिला थाना पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर नामजद आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। महिला थाना प्रभारी इंदूबाला ने बताया कि महिला ने पुलिस को दी शिकायत में बताया है कि 30 अप्रैल को वह घर पर अकेली थी। उसी दौरान गांव सौंदहद निवासी कुलदीप घर में घुस आया और पीड़िता को खींचकर अंदर कमरे में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। यह बात बात किसी को बताने पर कुलदीप ने उसके अश्लील फोटो को नेट पर डालने व जान से मारने की धमकी दी। उसके बाद 11 मई को कुलदीप ने पीड़िता के मोबाइल पर व्हाट्सएप द्वारा मेसेज भेजा जिससे तंग आकर पीड़िता ने मामले की शिकायत पुलिस को दी। पुलिस ने पीड़िता की मेडिकल जांच कराई जहां दुष्कर्म की पुष्टि होने के बाद आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है।
... और पढ़ें

दो बच्चों की मां का नाबालिग पर यौन शोषण का आरोप, कोर्ट ने आरोपी को देख उल्टा महिला पर दर्ज किया केस

14 वर्षीय किशोर पर यौन शोषण का मुकदमा दर्ज कराने वाली विधवा महिला के खिलाफ प्रिंसिपल मजिस्ट्रेट जुवेनाइल जस्टिस बोर्ड (पीएमजेजेबी) रितु यादव ने पोक्सो के तहत मामला दर्ज करने के आदेश दिए हैं।

महिला थाना पुलिस ने 29 वर्षीय महिला के खिलाफ किशोर का शारीरिक शोषण करने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। अभी मामले में महिला की गिरफ्तार नहीं हुई है। पुलिस महिला की तलाश में जुटी है।

उप पुलिस अधीक्षक सुनील कादयान के अनुसार 13 सितंबर 2019 को एक 29 वर्षीय महिला ने पुलिस को दी शिकायत में कहा था कि उसकी शादी 10 साल पहले रोहतक जिला के सांपला थाना अंतर्गत रहने वाले एक युवक से हुई थी।

शादी के बाद दो बच्चों की मां बन गई और करीब चार साल पहले उसके पति की मौत हो गई। महिला दोनों बच्चों को लेकर पलवल आकर रहने लगी। साल 2018 में महिला की मुलाकात चांदहट थाना के क्षेत्र एक गांव निवासी युवक से हुई। दोनों आपस में बातें करने लगे, जिससे दोनों की दोस्ती हो गई।
... और पढ़ें
सांकेतिक चित्र सांकेतिक चित्र

मौत बुला रही थी मुरथल, जन्मदिन मनाने गए थे तीन भाई, घर लौटीं लाश

ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर सड़क दुर्घटना में तीन युवकों की मौत के मामले में परिजनों ने ट्रक चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। वहीं घायल युवक की हालत चिंताजनक बनी हुई है। परिजनों ने बताया कि ये युवक हरियाणा के पलवल से मुरथल में जन्मदिन की दावत में जा रहे थे। परिजन तीनों के शव अपने साथ ले गए।

हरियाणा के फरीदाबाद के बसंतपुर निवासी प्रदीप उर्फ आशु (26) पुत्र सतपाल, उसका चचेरा भाई विनीत उर्फ कक्कू (25) पुत्र कंवर पाल अपने फुफेरे भाई सचिन (24) पुत्र इंद्रपाल, प्रिंस पुत्र राजेंद्र निवासी बड़ौली पलवल कार में सवार होकर बुधवार रात कार में सवार होकर हरियाणा के मुरथल (सोनीपत) में जन्मदिन की दावत में जा रहे थे।

प्रदीप के चाचा रामकेश ने बताया कि बुधवार को परिवार में एक युवक का बर्थ-डे था। देर शाम चारों युवक कार में सवार होकर पलवल से मुरथल (सोनीपत) में दावत के लिए चले। ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे पर मवी कलां मिनी टोल के पास पहुंचे तो तेज गति से आ रहे ट्रक ने कार में टक्कर मार दी । इससे कार के परखच्चे उड़ गए।
... और पढ़ें

पलवल: कांवड़ियों से भरी टाटा 407 पलटी, तीन की मौत, 13 गंभीर रूप से घायल

हरिद्वार से कांवड़ लेने जा रहे कांवड़ियों से भरी एक टाटा 407 टायर फटने से कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे (केएमपी) पर सदर थाना क्षेत्र के गांव महेशपुर में अनियंत्रित होकर पलट गई। हादसे में करीब तीन कांवड़ियों की मौत हो गई, जबकि 13 कांवड़िया गंभीर रूप से घायल हो गए। सभी घायलों को उपचार के लिए पलवल के नागरिक अस्पताल लाया गया। मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया गया, जबकि घायलों की गंभीर हालत को देखते हुए उन्हें फरीदाबाद के लिए रेफर कर दिया गया। पुलिस ने घायल कांवड़िया की शिकायत पर मामले में 174 की कार्रवाई कर शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। 

सदर थाना प्रभारी सुमन कुमार के अनुसार सोहना के गांव ढानी निवासी घायल गंगाराम ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि शुक्रवार की रात को वह गांव से अपने करीब 20-25 साथियों के साथ टाटा 407 में सवार होकर हरिद्वार से 7वीं विशाल डाक कांवड़ लेने के लिए जा रहे थे। जैसे ही वह रात के करीब 9-10 बजे केएमपी मार्ग पर गांव महेशपुर पहुंचे तो अचानक गाड़ी का टायर फट गया और वाहन पलट गया।

हादसे में वाहन सवार गांव निवासी 21 वर्षीय नीरज, 24 वर्षीय अमरजीत, 28 वर्षीय गजराज सिंह, 21 वर्षीय दिनेश, 35 वर्षीय तरुण, 35 वर्षीय मोहित, 21 वर्षीय सचिन, 26 वर्षीय मोहित सैनी, 25 वर्षीय नीरज, 19 वर्षीय जतिन, 23 वर्षीय जसवंत, 21 वर्षीय नीरज, 22 वर्षीय गंगाराम घायल हो गए। जबकि 20 वर्षीय नीरज, 19 वर्षीय राहुल व 21 वर्षीय विक्रम की मौत हो गई। दुर्घटना की सूचना मिलते ही सदर पुलिस मौके पर पहुंच गई तथा सभी घायलों को उपचार के लिए जिला नागरिक अस्पताल में लाया गया। जहां से उन्हें फरीदाबाद के लिए भेज दिया गया। 

पलवल के सिविल अस्पताल में घायलों को उपचार देने वाले डॉक्टर आशुतोष कुमार ने बताया कि अधिकतर घायल कांवड़ियों को सिर में चोटें ज्यादा आई हैं। इस कारण घायलों की गंभीर हालत को देखते हुए सभी को प्राथमिक उपचार देने के बाद फरीदाबाद के लिए रेफर कर दिया गया। घायलों के परिजनों की मानें तो करीब 9-10 बजे ये हादसा हुआ था और सूचना मिलने के करीब आधे घंटे बाद वह मौके पर पहुंचे और एंबुलेंस की मदद से उन्हें उपचार के लिए पलवल के सिविल अस्पताल भिजवाया। परिजनों का कहना है कि अगर समय पर घायलों को एंबुलेंस की मदद से अस्पताल में लाया जाता और सही समय पर उन्हें उपचार मिल जाता तो शायद तीनों लोग बच सकते थे।
 
... और पढ़ें

पलवलः युवक को घर से ले जाकर, दोस्तों ने पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट

घायल का इलाज करते डॉक्टर
फरीदाबाद से सटे पलवल में रविवार रात एक ऐसी वारदात हुई जिससे पूरा इलाका दहशत में है। एक 21 वर्षीय युवक को उसके दोस्तों ने सुनसान जगह पर ले जाकर पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी।

बताया जा रहा है कि मामला चांदहट थाना इलाके का है। जानकारी के अनुसार 21 वर्षीय रिंकू नाई का काम करता था और गांव में ही उसकी दुकान है। दुकान का काम खत्म कर वह लौटा था कि रविवार रात करीब 10 बजे उसके 4 दोस्त लोकेश, योगेश, रमन व एक अन्य पहुंचे।

इन चार में से लोकेश व योगेश ने रिंकू से कहा कि उन्हें सुबह इंटरव्यू के लिए जाना है तो वह उनके बाल काट दे। इस पर रिंकू उनके साथ दुकान की चाबी लेकर चला गया और वापस नहीं लौटा। 

काफी तलाश के बाद भी रिंकू परिवार वालों को नहीं मिला। सुबह उन्हें खबर मिली कि उसकी हत्या कर दी गई है। हालांकि इसकी वजह अभी तक सामने नहीं आई है। पुलिस मामला दर्ज कर जांच कर रही है।
... और पढ़ें

चीनी मिल के समीप ट्रक में मिला चालक का शव, पुलिस ने शुरू की जांच

चीनी मिल के पास ट्रक में मिला चालक का शव
पलवल। सदर थानांतर्गत राष्ट्रीय राजमार्ग पर सहकारी चीनी मिल के समीप ट्रक से एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ है। मृतक की पहचान उत्तर प्रदेश के जिला कानपुर के मूसा नगर बांगर निवासी ट्रक चालक 44 वर्षीय संतोष शुक्ला के तौर पर हुई है। मृतक की पहचान ट्रक से मिले आधार कार्ड द्वारा की गई है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला नागरिक अस्पताल के शवगृह में रखवा दिया है। पुलिस का कहना है परिजनों के आने के बाद शिकायत के आधार पर मामले में कार्रवाई की जाएगी।
सदर थाना प्रभारी इंस्पेक्टर सुमन कुमार ने बताया कि उनको सूचना मिली थी कि चीनी मिल के पास पिछले दिनों से एक ट्रक खड़ा हुआ है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर ट्रक तलाशी ली तो उसमें एक व्यक्ति का शव बरामद हुआ, जिसके पैर बंधे हुए थे। तलाशी के दौरान मृतक की जेब से आधार कार्ड मिला, जिससे उसकी पहचान ट्रक चालक संतोष शुक्ला के तौर पर हुआ। उन्होंने बताया कि ट्रक से बरामद बिल्टी के हिसाब से चालक संतोष शुक्रवार को जयपुर से पुराने टायर भरकर कुंडली सोनीपत के लिए चला था। प्रतीत होता है कि किसी ने लूटपाट कर चालक संतोष को बांधकर ट्रक में डाल दिया तथा बाद में उसकी हत्या कर ट्रक को यहां छोड़कर फरार हो गए। फिलहाल पुलिस ने मृतक चालक के परिजनों को सूचना दे दी है। परिजनों के पहुंचने के बाद बयानों के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

हथियार दिखाकर अनाज व्यापारी से छह लाख लूटे

हथियार दिखाकर अनाज व्यापारी से छह लाख लूटे

हथीन। उत्तर प्रदेश के आगरा निवासी एक अनाज व्यापारी से ट्रक चालक ने बदमाशों के साथ मिलकर 6 लाख की लूट करवा ली। घटना बहीन थाना क्षेत्र की है। इस संदर्भ में पीड़ित अनाज व्यापारी ने बहीन थाना में अपने ड्राईवर सहित अन्य बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने व्यापारी सुरेन्द्र कुमार पुत्र राधेश्याम निवासी जरार थाना बाह जिला आगरा के बयान पर चालक सैफुल निवासी अडवर थाना नूंह तथा अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।
जांच अधिकारी राहुल खान ने बताया कि अनाज व्यापारी सुरेन्द्र कुमार 15 मई को आगरा जिले के बाह कस्बा से 30 टन गेहूं एक गाड़ी में लोड कर हेलीमंडी में बेचने के लिए अपने ड्राईवर सैफुल निवासी अडवर के साथ आया। उन्होंने बताया कि वह 16 मई को गेहूं बेचकर वापिस उसी ट्रक में बैठकर नूंह जिला अंर्तगत अडवर गांव तक आ गया। बताया जाता है कि सैफुल ने उससे कहा था कि वह अडवर गांव से ऑटो बुक कराकर होडल तक पहुंचवा देगा और होडल से आप आगरा चले जाना। ड्राईवर सैफुल ने अडवर गांव से एक ऑटो होडल के लिए बुक कराकर अनाज व्यापारी सुरेन्द्र को उसमें बैठा दिया। जब ऑटो सांय 6-7 बजे के करीब कोट गांव के निकट पहुंचा तो ऑटो में सवार बदमाशों ने उसके साथ मारपीट की उन्होंने हथियार दिखाकर नकदी से भरा थैला लूट लिया। पीड़ित ने बताया कि थैले में 5 लाख 78 हजार 880 रुपये की नकदी थी। बदमाश व्यापारी को मारपीट कर वहां फेंक कर भाग गए। व्यापारी ने जैसे तैसे बहीन थाना पहुंचकर आपबीती सुनाई। पुलिस ने तुरंत ही नाकाबंदी करा दी। हालांकि पुलिस किसी भी बदमाश को नहीं पकड़ पाई है।

घर में घुसकर चोरी
हथीन। रूपडाका निवासी मकसूद ने बहीन थाना में शिकायत दर्ज कराई है। मकसूद ने गांव के इरफान और नय्यूम पर घर में घुसकर चोरी करने का आरोप लगाया है। मकसूद का आरोप है कि इरफान और नय्यूम 16 मई की रात्रि को उसके घर से एक सोने की हंसली और 10 हजार रुपये की नकदी चुरा ले गए। सोने की हंसली की कीमत लगभग 40 हजार रुपये बताई जा रही है।
... और पढ़ें

लूट के पैसों के बंटवारे को लेकर बदमाशों में आपस में चली गोलियां

लूट के पैसों के बंटवारे से असंतुष्ट बदमाशों में चली गोली

हथीन। एटीएम लूट के पैसों के बंटवारे से असंतुष्ट बदमाशों में गोली चल गई। इसमें दो बदमाश घायल हो गए। बताया जा रहा है कि दोनों में से एक बदमाश को राजस्थान पुलिस ने दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल से हिरासत में ले लिया है जबकि दूसरे का उपचार गुरुग्राम के अस्पताल में पुलिस की निगरानी में चल रहा है। यह बदमाश लूट की राशि को बहीन थाना क्षेत्र के गांव कोट के निकट बांट रहे थे। इस बीच इनमें झगड़ा हो गया।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि यह बदमाश राजस्थान के जिला भरतपुर अंतर्गत गोपालगढ कस्बे से बुधवार की रात एक एटीएम को गैस कटर से काटकर रफूचक्कर हो गए। इस एटीएम में सोमवार को करीब 42 लाख रुपये डाले गए थे। एटीएम लूट के समय चौकीदार किसी काम से घर चला गया और सुबह जब वापिस लौटकर आया तो एटीएम मशीन खुली पड़ी देख उसके होश उड़ गए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बदमाशों ने बूथ में लगे सीसीटीवी कैमरे भी जला दिए थे इस कारण फुटेज भी रिकॉर्ड नहीं हो पाई है। हालांकि इस एटीएम कि कितनी राशि थी इसकी अधिकारिक रूप से पुष्टि नहीं हो पाई। बताया जा रहा है कि यह बदमाश बहीन थाना क्षेत्र के गांव कोट और रनियाला खुर्द उर्फ झांडा के बीच लूट की राशि का बंटवारा कर रहे थे। इसी बंटवारे के दौरान किसी बात पर इनमें विवाद हो गया। बदमाशों ने एक दूसरे पर गोलियां चला दी। गोलियां चलने से दो बदमाश घायल हो गए। इन बदमाशों से एक बहीन थाना क्षेत्र का और दूसरा बदमाश सबरस गांव का रहने वाला है।
पुलिस के मुताबिक सबरस गांव निवासी बदमाश को घायल अवस्था में सफदरजंग अस्पताल दिल्ली में दाखिल कराया गया था। जिसकी भनक राजस्थान पुलिस को लगी। राजस्थान पुलिस ने सफदरजंग अस्पताल से उक्त बदमाश को अपनी हिरासत में ले लिया है। जबकि दूसरे बदमाश का उपचार गुरुग्राम के अस्पताल में चल रहा है।
------
बहीन पुलिस ने की गोलीबारी की पुष्टि
इस संदर्भ में बहीन थाना के सब इंस्पेक्टर कुलदीप ने पुष्टि करते हुए बताया कि हमें सूचना मिली थी कि बदमाशों के बीच आपस में गोली चली हैं और राजस्थान पुलिस इस मामले की जांच के लिए मौके पर आई थी। राजस्थान पुलिस ही इस मामले की जांच में जुटी है।
-
... और पढ़ें

तीन अलग-अलग मामलों में लाठी-डंडो से हमला कर दी धमकी, पुलिस ने किए मामला दर्ज

तीन अलग-अलग मामलों में लाठी-डंडों से हमला कर दी धमकी
पलवल। विभिन्न थाना क्षेत्रों में अलग-अलग स्थानों पर हुए झगड़े में लाठी-डंडो से हमला कर घायल करने व जान से मारने की धमकी देने के तीन मामले सामने आए हैं। पुलिस थानों में इन मुकदमों में आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
पहले मामले में चांदहट थाना पुलिस ने जानकारी दी कि गांव गोपीखेड़ा निवासी महेंद्र का पुत्र सुरेंद्र 16 मई को बाइक से गांव में ही आधार कार्ड की फोटो कॉपी कराने नरेश की दुकान पर गया था। सुरेंद्र जब कॉपी कराकर लौट रहा था तो उसे गांव निवासी चेतराम, रोहताश, समुंद्र, दिनेश व उनके तीन अन्य साथियों ने रोक लिया और लाठी-डंडा, तलवार, रॉड से हमला कर दिया। इतना ही नहीं उक्त लोगों ने पीड़ित और उसके परिवार को हथियार दिखाते हुए जान से मारने की धमकी दी और मौके से फरार हो गए। इसी तरह दूसरे मामला भी चांदहट थाना क्षेत्र गांव कुलैना का है। जांच अधिकारी ने बताया कि गांव कुलैना निवासी लेखराम का परिवार में जमीनी विवाद चल रहा है।15 मई को पीड़ित पत्नी मोहनवती व मां बंशी देवी घर से खेतों पर जा रही थी। जमीनी विवाद के चलते चतुर्भुज, चिंताराम, कमलेश ने मिलकर पीड़ित की मां व पत्नी पर लाठी-डंडो से हमला कर दिया और जान से मारने की धमकी देकर मौके से फरार हो गए। जबकि तीसरा मामला चांदहट थाना क्षेत्र के गांव अलावलपुर का है। जांच अधिकारी ने बताया कि गांव निवासी रिंकू 16 मई को गाड़ी से अपनी मौसी शीला देवी के घर गया था तथा गाड़ी को गली में साइड में खड़ा कर दिया। उसी दौरान सामने रहने वाला प्रेमचंद आया और कहने लगा कि गाड़ी यहां खड़ी नहीं होगी। पीड़ित ने कहा कि गाड़ी साइड में खड़ी है यहां पर किसी को परेशानी नहीं आएगी। उसके थोड़ी देर बाद प्रेमसिंह का भांजा सुमित आया और दोनों ने मिलकर पीड़ित पर लाठी-डंडा से हमला कर दिया और धमकी देकर मौके से फरार हो गए।
... और पढ़ें

भाई को गोली मार कर फरार चल रहे आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

भाई को गोली मार कर फरार चल रहे आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार
पलवल। भाई को गोली मारने के मामले में नौ महीने से फरार चल रहे आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से देसी कट्टा भी बरामद किया है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है। भवनकुंड चौकी इंचार्ज एएसआई संजय कुमार ने बताया कि गांव आलापुर निवासी मनोज व उसके भाई मोनू ने अगस्त में एक छोटा हाथी वाहन साझे पर लिया था। अगस्त महीने में ही मोनू को एक बुकिंग मिल गई। मोनू बुकिंग पर जाने लगा तो मनोज ने कहा कि बुकिंग पर नहीं जाएगा। इसी बात पर मनोज और मोनू में विवाद हो गया। इस दौरान मनोज ने मोनू को गोली मार दी और मौके से फरार हो गया। पुलिस ने मोनू की शिकायत पर आरोपी मनोज के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया और उसकी तलाश शुरू कर दी। 17 मई को उन्हें मुखबिर खास से सूचना मिली की आरोपी मनोज दिल्ली जाने के लिए गांव के मोड़ पर खड़ा हुआ है। सूचना मिलते ही हवलदार अशोक व सियाराम को साथ लेकर मौके पर दबिश दी गई और मनोज को काबू कर लिया।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन