मैं बैठी होके तैयार, पिया जी ले जाईए. . . ले जाईए. .

Rohtak Bureau Updated Sat, 14 Oct 2017 12:10 AM IST
अमर उजाला ब्यूरो
कुरुक्षेत्र।
मैं बैठी होके तैयार, पिया जी ले जाईए. . . ले जाईए. . गीत पर गवर्नमेंट कॉलेज जींद के युवा कलाकारों ने समूह नृत्य पेश किया तो दर्शक झूम उठे। जनता कालेज कौल और आर्य पीजी कॉलेज पानीपत के कलाकारों ने मेरा हरा भरा हरियाणा गीत पेश किया। इस प्रतियोगिता में प्रदेशभर से 20 से अधिक टीमों ने भाग लिया। आडिटोरियम हॉल में चौथे दिन क्षमता से अधिक दर्शक पहुंचे। इस प्रतियोगिता में सीआर किसान कॉलेज जींद, पंडित चिरंजी लाल शर्मा राजकीय महाविद्यालय करनाल, भगवान परशुराम कॉलेज कुरुक्षेत्र, जीएनजी महिला महाविद्यालय यमुनानगर, यूनिवर्सिटी कालेज कुरुक्षेत्र की टीम ने अपनी प्रस्तुतियां दी। इस प्रतियोगिता में जनार्दन शर्मा, डॉ. केसी वालिया, अशोक वर्मा निर्णायक मंडल में शामिल थे।
चौपाल प्रतियोगिता में राजीव गांधी महाविद्यालय उचाना कलां ने बाजी मारी
रत्नावली के तीसरे दिन चौपाल प्रतियोगिता में राजीव गांधी महिला महाविद्यालय उचाना कलां और कविता पाठ प्रतियोगिता में गवर्नमेंट कॉलेज जींद के मोहन ने बाजी मारी। युवा सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग के निदेशक डॉ. सीडीएस कौशल ने बताया कि हरियाणवी फोक इंस्ट्र्रमेंटल सोलो में यूटीडी और आर्य पीजी कॉलेज पानीपत की टीम संयुक्त रूप से प्रथम रही। गवर्नमेंट कॉलेज सफीदों दूसरे स्थान पर, डीएवी कालेज फॉर गर्ल्स यमुनानगर तीसरे, भगवान परशुराम कॉलेज कुुरुक्षेत्र चौथे और राजीव गांधी महिला महाविद्यालय उचाना कलां की टीम पांचवें स्थान पर रही। हरियाणवी चौपाल में राजीव गांधी महिला महाविद्यालय उचाना प्रथम, गर्वनमेंट कॉलेज भिवानी दूसरे और गवर्नमेंट कालेज जींद की टीम तीसरे स्थान पर रही।
हरियाणवी कविता पाठ में गवर्नमेंट कॉलेज जींद के मोहन प्रथम, आरकेएसडी कॉलेज कैथल के हिम्मत दूसरे और एसडी कॉलेज पानीपत के पवन कुमार तीसरे स्थान पर रहे। ऑन द स्पॉट पेंटिंग प्रतियोगिता में यूटीडी कुरुक्षेत्र की रंजीत प्रथम, आर्य कॉलेज कन्या महाविद्यालय शाहाबाद की प्रतिभा दूसरे, एमएलएन कॉलेज यमुनानगर के दीपक तीसरे स्थान पर रहे। पेंटिंग प्रदर्शनी में आर्य कन्या महाविद्यालय शाहाबाद की प्रतिभा प्रथम, यूटीडी के जतिन दूसरे, पंडित चिरंजीलाल गर्वनमेंट कॉलेज करनाल की रिमिका तीसरे स्थान पर रही। हरियाणवी क्विज प्रतियोगिता में डीबीजी गवर्नमेंट कॉलेज पानीपत की टीम प्रथम, यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ एजुकेशन की टीम दूसरे और यूनिवर्सिटी कालेज कुरुक्षेत्र की टीम तीसरे स्थान पर रही। सांग में आर्य पीजी कॉलेज पानीपत, एसडी पीजी कॉलेज पानीपत की टीम प्रथम, डीएन कॉलेज हिसार और गवर्नमेंट कॉलेज जींद की टीम संयुक्त रूप से दूसरे स्थान पर रही। हरियाणवी समूहगान प्रतियोगिता में आईजी महिला महाविद्यालय कैथल प्रथम, एसडी कॉलेज पानीपत दूसरे, डीएवी कालेज फॉर गर्ल्स यमुनानगर की टीम तीसरे स्थान पर रही। रसिया ग्रुप डांस में आर्य पीजी कॉलेज पानीपत की टीम प्रथम, गवर्नमेंट कालेज जींद की टीम दूसरे, डीएवी कालेज यमुनानगर की टीम तीसरे स्थान पर रही।

अच्छे सांगी के रूप में दिखे युवा कलाकार
कुरुक्षेत्र।
रत्नावली महोत्सव में ओडिटोरियम के बाहर खुले मंच पर हरियाणा लोक नाट्य सांग का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत पं. लख्मीचंद को याद करने के साथ हुई। सांग के नाट्य मंचन के दौरान कलाकारों ने विभिन्न रागिनियों के द्वारा अनेक किस्से सुनाए। सांग प्रतियोगिता में प्रथम प्रस्तुति भगवान परशुराम कॉलेज कुरुक्षेत्र की टीम ने पिंघला भरतरी किस्से का मंचन करते हुए दी। सीएलएस राजकीय महाविद्यालय करनाल ने राजा वीर विक्रमादित्य के किस्सा सुनाया। राजकीय महाविद्यालय जींद ने किस्सा पिंघला भरतरी की प्रस्तुति दी। डीएवी कन्या महाविद्यालय यमुनानगर ने ‘आज का किस्सा’ सांग किया। यूटीडी कुरुक्षेत्र ने हीर-रांझे के किस्सा पेश किया। सांग प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल में प्रो. रोशन श्योरण, रामपाल बलहारा, सतीश शामिल थे।
पंजाब, कश्मीर और राजस्थान का नृत्य दिखेगा आज
कुरुक्षेत्र।
राष्ट्रीय रत्नावली महोत्सव के अंतिम दिन पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और कश्मीर के नृत्य के साथ नेपाल का नृत्य भी दर्शकों को देखने को मिलेगा। युवा सांस्कृतिक कार्यक्रम विभाग के निदेशक डॉ. सीडीएस कौशल ने बताया कि राष्ट्रीय रत्नावली महोत्सव के पांचवें दिन पंजाबी गिद्दा, राजस्थानी, नेपाली, कश्मीर, हरियाणा के लोकनृत्य और महाराष्ट्र का लावणी नृत्य विशेष आकर्षण का केंद्र रहेगा। उन्होंने बताया कि अंतिम दिन हरियाणा और पंजाब के लोकवाद्य यंत्रों की प्रस्तुति भी होगी। सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे तक ये कार्यक्रम होंगे।

खुले मंच पर बुजुर्गों ने सुनाए चुटकुले
कुरुक्षेत्र। रत्नावली महोत्सव का चौथे युवा एवं सांस्कृतिक विभाग ने खुले मंच पर ‘दिन का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन’ विधा का आयोजन किया। प्रदेशभर भर से आईं ढोल-नगाड़ों की चार टीमों ने प्रस्तुतियां दीं। ढोल-नगाड़ों, बीन-डंडों की धुन ने रत्नावली महोत्सव में चार चांद लगा दिए। इसके बाद मंच संचालक ने दर्शकों को मंच पर प्रस्तुति का न्योता दिया। सबसे पहले एक बुजुर्ग ने चुटकुलों के माध्यम से दर्शकों को खूब गुदगुदाया। इसके बाद युवाओं की टोलियों ने मंच पर खूब ठुमके लगाए।

एकल अभिनय में सामाजिक कुरीतियों पर किया कटाक्ष
कुरुक्षेत्र। खुले मंच पर एकल अभिनय प्रतियोगिता के दौरान पांच टीमों ने अपने अभिनय से सामाजिक कुरीतियों पर कटाक्ष किया। इस प्रतियोगिता में प्रथम प्रस्तुति डीएवी गर्ल्स कॉलेज यमुनानगर ने रामायण के एक प्रसंग की दी। इसके बाद आरकेएसडी कॉलेज कैथल ने सास-बहू के झगड़े और पारिवाकि रिश्तों पर व्यंग्य अभिनय के माध्यम से किया। यूटीडी कुरुक्षेत्र की प्रस्तुति भी घरेलू रिश्तों और समस्याओं पर आधारित थी। आईजीएन कॉलेज लाडवा और एसडीपीजी कॉलेज पानीपत की प्रस्तुतियों को भी दर्शकों ने पसंद किया। एकल अभिनय प्रतियोगिता के निर्णायक मंडल की भूमिका महावीर गुड्डु, डॉ. पवन तोमर और डॉ. तेजेंद्र गिल ने निभाई। मंच का संचालन डॉ. बंसीलाल ने किया।
आरके सदन में हुआ युगल रागिनी का मंचन
कुरुक्षेत्र।
रत्नावली समारोह के चौथे दिन आरके सदन हॉल में युगल रागिनी प्रतियोगिता हुई। गवर्नमेंट कालेज नरवाना ने हरियाणवी संस्कृति और परंपरा पर आधारित रागिनी पेश की। आर्य पीजी कॉलेज पानीपत, डीएवी गर्ल्स कॉलेज यमुनानगार, बीपीआर कॉलेज कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय, आईजी कॉलेज कैथल, गवर्नमेंट कॉलेज जींद, गवर्नमेंट कालेज झांसी, यूटीडी केयूके, बीएआर जनता कॉलेज कैथल, आईजी नेशनल कॉलेज लाडवा, यूटीडी केयूके आदि टीमें मौजूद रहे। निर्णायक मंडल में डॉ. मोहन, डॉ. संजय गुप्ता, सुभाष शामिल थे।
हरियाणवी वेशभूषा में दिखा ठेठ अंदाज
कुरुक्षेत्र।
रत्नावली के तहत हरियाणावी वेशभूषा लोक परिधान की प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन किया। ओडिटोरियम हॉल में लोक परिधान प्रतियोगिता में के तहत महिला लोक परिधान प्रतियोगिता में कुल 21 प्रतिभागियों ने प्रस्तुति दी। सबसे पहले भगवान परशुराम कॉलेज कुरुक्षेत्र की छात्रा ने पनिहारी की वेशभूषा पेश की। आईजीपीजी महिला महाविद्यालय कैथल की छात्रा लोहारन बनी तो यूटीडी कुरुक्षेत्र की छात्रा हरियाणवी नार बनी। सीआर किसान कॉलेज जींद की छात्रा खेत में हरियाणवी नार बनी। राजीव गांधी महाविद्यालय उचानाकलां जींद की छात्रा ने कुआं पूजन के लिए जाती महिला की वेश धारण किया। एसएनआरएल जयराम गर्ल्स कॉलेज लोहार माजरा की छात्रा ने बंजारन का रूप धरा।
पुरुष वर्ग की प्रतियोगिता में राजकीय महाविद्यालय जींद का छात्र हरियाणवी जमींदार बना। केएम राजकीय महाविद्यालय नरवाना जींद का छात्र लोहार बना। राजीव गांधी महाविद्यालय उचानाकलां जींद का छात्र एक हरियाणवी बुजुर्ग की वेशभूषा में आया। यूनिवर्सिटी कॉलेज कुरुक्षेत्र का छात्र किसान बना तो यूटीडी कुरुक्षेत्र का छात्र विवाह से पूर्व मटना की रस्म में दिखा। इस प्रतियोगिता के महिला वर्ग में निर्णायक मंडल में जनार्दन शर्मा, अशोक वर्मा और डॉ. केसी वालिया शामिल थे। पुरुष वर्ग के निर्णायक मंडल में राजकिशन नैन, जनार्दन शर्मा और अशोक वर्मा शामिल रहे।

केयू ने घोषित किए परीक्षा परिणाम
कुरुक्षेत्र।
कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय ने कई परीक्षाओं के परिणाम घोषित कर दिए हैं। परीक्षा नियंत्रक डॉ. ओपी आहूजा ने बताया कि मई 2017 में आयोजित एमए मास कम्यूनिकेशन अंतिम वर्ष, एमटेक सीएसई द्वितीय सेमेस्टर, बीडीएस चतुर्थ सेमेस्टर, एमसीए द्वितीय सेमेस्टर, एलएलबी प्रोफेशनल द्वितीय वर्ष, पीजीडीइएमएम का परिणाम घोषित कर दिया है।

Spotlight

Most Read

National

सियासी दल सहमत तो निर्वाचन आयोग ‘एक देश एक चुनाव’ के लिए तैयार

मध्य प्रदेश काडर के आईएएस अधिकारी और झांसी जिले के मूल निवासी ओपी रावत ने मंगलवार को मुख्य चुनाव आयुक्त का कार्यभार संभाल लिया।

24 जनवरी 2018

Rohtak

बिजली बिल

24 जनवरी 2018

Rohtak

नेताजी

24 जनवरी 2018

Related Videos

और भी उलझा जींद गैंगरेप-मर्डर केस, अब इस एंगल से जांच कर रही है हरियाणा पुलिस

हरियाणा के जींद में हुआ गैंगरेप और मर्डर अब और भी उलझ गया है। दरअसल पुलिस जिस शख्स को केस में आरोपी मान कर जांच कर रही थी, उसकी डेड बॉडी कुरुक्षेत्र में बरामद हुई है। अब पुलिस कई अन्य एंगल से मामले की जांच कर रही है।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper