सिनेमा में सीक्वल और स्पिन ऑफ: जो एक बार हिट है वो आगे भी फिट है

Avinash Pal अविनाश सिंह पाल, अमर उजाला Published by: Avinash Pal
Updated Sun, 28 Jul 2019 09:51 AM IST
विज्ञापन
बॉलीवुड पर भारी हॉलीवुड
बॉलीवुड पर भारी हॉलीवुड - फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
'जब-तक तेरे पांव चलेंगे, तब-तक इसकी सांस चलेगी...' फिल्म शोले का ये डायलॉग सिनेमा में 'सीक्वल' के कॉन्सेप्ट को समझने के लिए काफी है। मतलब स्पष्ट है कि जब-जब इंडस्ट्री में कुछ भी हिट होगा तो मेकर्स उसकी सफलता को दोबारा भुनाने के लिए उसके सीक्वल पर जरूर विचार करेंगे। भले ही वह फिल्में हों, टीवी सीरियल हों, रियलिटी शोज हों या फिर वेब सीरीज हों। पुराने उदाहरण देख लीजिए, सीक्वल हर उस फिल्मों के नजर आएंगे, जिन्हें फैंस ने उम्मीद से बढ़कर रिस्पॉन्स दिया। भले ही वह फिल्म धूम हो या कृष। धूम फिल्म युवाओं में इतनी हिट हो जाएगी, मेकर्स ने खुद सोचा नहीं था। लिहाजा, सीक्वल आया, धूम-2 तो वो भी हिट, तीसरा पार्ट आया, वो भी हिट। यानी जब तक सीक्वल हिट होते रहेंगे, मेकर्स इसके सीक्वल बनाते ही रहेंगे। कुछ ऐसी ही कहानी कृष, गोलमाल, रेस सीरीज की है। कुछ ऐसा ही रियालिटी शोज का हाल है, यही कारण है बिग बॉस का 13वां सीजन इस बार आएगा, वहीं, नच बलिए का नौंवा सीजन आएगा। टीवी शोज के साथ ही साथ वेब सीरीज भी इस ही सिलसिले में आगे चल रहे हैं। सेक्रेड गेम्स हो, मिर्जापुर हो या फिर हो द फाइनल कॉल, ऐसी तमाम वेब सीरीज हैं। जिनके या तो दूसरे सीजन आ चुके हैं या फिर आने की तैयारी जारी है। लेकिन सवाल उठता है कि कहां से हुई सीक्वल की शुरुआत, कैसे आया सीक्वल का ट्रेंड, सीक्वल में किन फिल्मों का नाम है शामिल और किन फिल्मों के सीक्वल बनने की तैयारी है जारी। ऐसे की कई सवालों के जवाब आपको इस पैकेज में मिलेंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विदेशी थीम पर देसी सिनेमा

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X