अगर आपके पास हैं दस के सिक्के तो नई मुसीबत में फंस सकते हैं आप

ब्यूरो/अमर उजाला, फरीदाबाद Updated Sat, 07 Oct 2017 09:31 AM IST
new ten rupee coins creating trouble after demonetization
10 रुपये के सिक्के
नोटबंदी के दौरान जिन सिक्कों ने बाजार को चलाया। अब इन सिक्कों को लेकर बाजार असमंजस की स्थिति में आ गया है। पिछले छह माह से शहर के बाजार में दस रुपये के सिक्कों का लेनदेन प्रभावित है।

बैंकों के पल्ला झाड़े जाने से अब इन सिक्कों से व्यापारी वर्ग किनारा करने लगा है। मंदिरों में भारी मात्रा में सिक्के एकत्रित हो गए हैं। बैंक प्रबंधन दस रुपये के सिक्के मार्केट सर्कुलेशन के लिए होने का हवाला देकर व्यापारियों को बैंक से वापस लौटा रहा है।

ऐसे में इन सिक्कों का क्या किया जाए। इसको लेकर हर कोई चिंतित है। बाजार संशय की स्थिति में है। दरअसल, नवरात्र के दौरान शहर के मंदिरों में एक रुपये से लेकर दस रुपये की रेजगारी भारी मात्रा में प्राप्त हुई है।

शहर के एक मंदिर के पास तीस हजार रुपये के सिक्के पड़े हैं, लेकिन बैंक प्रबंधन लेने को तैयार नहीं है। अब इन सिक्कों को निकालने के लिए व्यापारी वर्ग से संपर्क किया जा रहा है लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी है।

शहर के एक अन्य मंदिर के पास करीब 40 हजार रुपये के सिक्के एकत्रित हो गए हैं। माना जा रहा है कि इसकी गिनती करना आसान नहीं होने के चलते बैंक से वापस लौटाया जा रहा है।
आगे पढ़ें

नोटबंदी के बाद बढ़ी सिक्कों की संख्या 

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

छात्रों से केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने किया ये ‘अनुरोध’

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुग्राम के SGT विश्वविद्यालय के पांचवें दीक्षांत समारोह में शिरकत की। यहां उन्होंने छात्रों को संबिधित भी किया।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper