विज्ञापन

ममेरी बहन से निकाह करने के लिए एक तरफा आशिक ने खेला खूनी खेल और उजाड़ दिया परिवार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हरिद्वार Updated Sun, 08 Jul 2018 10:03 PM IST
पुलिस
पुलिस - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
ज्वालापुर के सोनू उर्फ परवेज की हत्या रिश्ते में लगने वाले दो सालों ने ही की। हत्यारोपी में से एक सोनू की पत्नी से एक तरफा प्रेम करता था। उसी ने जीजा की हत्या की साजिश रच अपनी ममेरी बहन से निकाह करने का ताना बाना बुना था। 
विज्ञापन
कोतवाली ज्वालापुर कैंपस में पत्रकारों से वार्ता करते हुए एएसपी रचिता जुयाल ने बताया कि तीन जुलाई को इस्लाम नगर निवासी जाकिर ने अपने चौहान मोहल्ला के रहने भांजे सोनू उर्फ परवेज की गुमशुदगी दर्ज कराई थी। सोनू पेशे वेल्डिंग का काम करता था। पुलिस की खोजबीन में उसका स्कूटर जटवाडा पुल के पास मिला था। सात जुलाई को मृतक के भाई शाहरुम ने हत्या का संदेह व्यक्त करते पुलिस को एक प्रार्थना पत्र दिया था। पुलिस की तफ्तीश के दौरान सीसीटीवी फुटेज में  मोहल्ला पठानपुरा निवासी सादिक को सोनू के स्कूटर के पीछे बैठे देखा।  एएसपी ने बताया कि देवबंद के रहने वाले सादिक को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई।

सख्ती बरतने पर उसने बताया कि गांव रावली महदूद निवासी मौसेरे भाई साजिद कई साल से मृतक सोनू की पत्नी खुशनुमा से एक तरफा प्रेम करता था। वह खुशनुमा से निकाह करना चाहता था, लेकिन सोनू के रहते यह मुमकिन नहीं था। ऐसे में सोनू की हत्या का प्लान बनाया गया। एएसपी के  मुताबिक दो जुलाई की रात को साजिद हत्या के इरादे से सोनू को लेकर पुल जटवाडा पहुंचा और वहां पहले से ही मौजूद साजिद के ट्रक में सवार होकर तीनों ने शराब पी। नशा होने पर दोनों ने मिलकर गमछे से सोनू का गला दबाया और लोहे की रॉड से उस पर कई वार किए। सोनू की मौत का इत्मिनान होने पर उसके हाथ-पैर कपड़े से बांधकर शिवगुरु धाम आश्रम दौलतपुर के सामने गंगनहर में फेंक दिया। एएसपी ने बताया कि हाथ पैर बांधने में इस्तेमाल हुए कपड़े और सोनू का पर्स बरामद कर लिया गया है।  सोनू का शव शनिवार को आसफनगर झाल से बरामद हुआ था। इस दौरान कोतवाली प्रभारी अमरजीत सिंह, एसएसआई संजीव थपलियाल मौजूद रहे।  

परिजनों ने ही दिया पुलिस को सुराग 
सीसीटीवी फुटेज में सादिक का चेहरा कैद न होता तो हत्याकांड का खुलासा होना मुश्किल था। पुलिस से भी ज्यादा सक्रिय सोनू के परिजन थे। वे ही सिटी पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचकर सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखकर यह जानकारी जुटाकर लाए थे। परिजन शुरू से ही सोनू के साथ अनहोनी होने की आशंका जता रहे थे। 

बेवा खुशनुमा की उजड़ गई दुनिया 
बेवा हुई खुशनुमा को दूर दूर तक इल्म नहीं था कि रिश्ते का फुफेरा भाई ही उसकी गृहस्थी उजाड़कर रख देगा। उसका खुशनुमा के घर आना जाना था लेकिन उसके खतरनाक इरादे कोई भांप नहीं पाया। बेहद सीधे साधे से दिखने वाले साजिद ने रिश्ते के जीजा के कत्ल की कहानी गढ़ दी और फिर उसे अंजाम भी दे डाला। खुशनुमा के दो बच्चे हैं, जिनकी उम्र छह से आठ वर्ष के बीच है। 

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Dehradun

उत्तराखंड: हिमाचल ट्रैकिंग पर गए IIT रुड़की के लापता 45 छात्र सकुशल, लेने के लिए मंडी पहुंची टीम 

आईआईटी से हिमाचल में ट्रैकिंग के लिए गए 45 सदस्यीय दल के सुरक्षित होने की सूचना पर संस्थान प्रशासन ने राहत की सांस ली है।

25 सितंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: देखिए कैसे करंट दौड़ते ही आग की लपटों में घिरी बस, झुलसे कई यात्री

उत्तराखंड में रुड़की के पिरान कलियर कलियर में एक सवारियों से भरी बस में आग लगने से कई सवारियां झुलस गई। हादसे का कारण हाईटेंशन लाईन का तार बताया गया है।

25 सितंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree