विज्ञापन

एलएसआर की छात्राओं पर गुब्बारे में सीमेन फेंकने के मामले में नया खुलासा

ब्यूरो/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 17 Apr 2018 09:04 PM IST
New disclosures in the case of throwing a semen  filled  balloons on LSR students
ख़बर सुनें
लेडी श्रीराम कॉलेज (एलएसआर) की छात्राओं के ऊपर फरवरी महीने के आखिर में सीमेन से भरे गुब्बारे फेंकने केमामले में नया मोड़ आ गया है। किसी भी गुब्बारे में सीमेन नहीं था। एफएसएल की रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है। पुलिस अधिकारी मान रहे हैं कि छात्राओं के ऊपर पानी या अन्य तरल पदार्थ से भरे गुब्बारे फेंके गए थे। 
विज्ञापन
विज्ञापन
गौरतलब है कि 28 फरवरी को एलएसआर कॉलेज की दो छात्राओं पर सीमेन से भरे गुब्बारे फेंकने के मामले सामने आए थे। छात्राएं एम-ब्लाक मार्केट , ग्रेटर कैलाश से ऑटो से लौट रही थीं। जब वह जमरूदपुपर के नजदीप पार्क केपास पहुंची तो किसी ने उन पर गुब्बारे फेंके थे।

छात्राओं ने सोशल मीडिया पर दावा किया था कि सी ने उनकेऊपर सीमेन से भरे गुब्बारे फेंके हैं। मामला पुलिस केसंज्ञान में आया तो ग्रेटर कैलाश-एक थाना पुलिस ने मामला दर्जकर छात्राओं केकपड़े और मौके से सैंपल लिए थे।

उस समय इस मामले ने काफी तूल पकड़ा था और काफी हंगामा हुआ था। इससे पहले अमर कॉलोनी में एक पूर्वोत्तर की युवती पर भी सीमेन से भरा गुब्बारा फेंकने का मामला सामने आया था। पुलिस ने सभी सैंपल को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा था।
 
पुलिस को अब फोरेंसिक रिपोर्ट मिल गई है। रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि छात्राओं के कपड़ों पर मिले दाग या निशान सीमने केनहीं हैं। इस पुलिस से ग्रेटर कैलाश थाने के पुलिसकर्मियों ने राहत ली है। पुलिसकर्मियों को मानना है कि होली का टाइम था ऐसे में किसी ने गुब्बारा फेंका था। किसी ने जानबूझकर कोई शरारत नहीं की थी।  

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all crime news in Hindi. Stay updated with us for all breaking hindi news.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

मनमोहन सिंह ने खोला अपना राज़, सभी हंस पड़े

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिल्ली के एक कार्यक्रम में अपने वित्त मंत्री बनने की कहानी साझा की। खास बात ये रही कि उनके बताने का अंदाज ऐसा था कि सभी हंस पड़े।

19 दिसंबर 2018

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree