बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

कुख्यात भूरा का क्राइम रिकॉर्ड काफी चौंकाने वाला

टीम डिजिटल/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Sun, 05 Apr 2015 07:52 AM IST
विज्ञापन
gangster amit bhoora profile

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
पटियाला में गिरफ्तार कुख्यात गैंगस्टर अमित भूरा, असली नाम अमित मलिक दिल्ली, उत्तराखंड और यूपी पुलिस का टारगेट नंबर-1 रहा है। देहरादून पुलिस की कस्टडी से 15 दिसंबर 2014 से फरार गैंगस्टर अमित मलिक उर्फ भूरा ने तीन राज्यों की पुलिस को नाकों चने चबवा दिए।
विज्ञापन


यूपी सरकार और उत्तराखंड सरकार ने उसपर पांच-पांच लाख रुपए यानि कुल 10 लाख का इनाम घोषित कर रखा था। वह ब्रैंडेड कपड़े पहनने और गर्लफ्रेंड रखने का शौकीन है। उसकी कई गर्लफ्रेंड थीं और वह अकेला ही कारें लूट लिया करता था। भूरा कई हत्याकांडों, बैंक रॉबरी, टोल रॉबरी, ट्रक लूट और पुलिस की कस्टडी से दो बार फरारी का मुलजिम है।


इसलिए पड़ा 'भूरा' नाम
अमित मलिक (30) मूल रूप से वेस्टर्न यूपी के मुजफ्फरनगर के फुगाना थाना इलाके के सरनावली गांव निवासी यशपाल मलिक का पुत्र है। गोरा रंग होने की वजह से अपराध जगत और पुलिस में उसका नाम 'भूरा' पड़ गया।

राजपाल नाई के गिरोह से शुरुआत
मधु विहार थाने में 2010 में हुई गिरफ्तारी के बाद तैयार उसके डोजियर के मुताबिक, उसके आपराधिक जीवन की शुरुआत राजपाल नाई के गिरोह से हुई थी। उसने मुजफ्फरनगर में उसके खिलाफ गवाह केमिस्ट का मर्डर किया।

2002 में पुलिस एनकाउंटर में राजपाल की मौत के बाद वह मुजफ्फरनगर के कुख्यात भाइयों नीटू कैल और बिट्टू कैल के गिरोह में शामिल हुआ। पुष्पेंद्र, अनिल भारसी और राजीव भूरा समेत इस गिरोह ने कुख्यात धर्मेंद्र किरठल के गांव किरठल में उसके पिता समेत पांच लोगों को मार डाला था। 2005-06 में यूपी में तत्कालीन एसएसपी नवनीत सिकेरा की टीम ने इन सभी का सफाया कर दिया था, लेकिन भूरा बच गया।
विज्ञापन
आगे पढ़ें

गिरोह बनाकर दिल्ली-एनसीआर में सेटल

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us