हो रही 'गुरु-शिष्य' के रिश्ते की हत्या, क्यों बदल रही बच्चों की मानसिकता?

ब्यूरो/अमर उजाला, चंडीगढ़ Updated Tue, 23 Jan 2018 01:02 PM IST
परवरिश की पाठशाला
परवरिश की पाठशाला - फोटो : File Photo
ख़बर सुनें
चंडीगढ़ के एक स्कूल में नशा करके आए छात्र को डांटने पर स्कूल टीचर को लहूलुहान कर दिया गया। दूसरी घटना में परीक्षा में फेल होने के बाद डांटने पर छात्र ने प्रिंसिपल पर चार गोलियां दाग दीं। ये दोनों घटनाएं ये बताने को काफी हैं कि स्कूल के बच्चों में आक्रोश किस कदर बढ़ गया। संयम और टीचरों के प्रति सम्मान खत्म होने के कगार पर पहुंच गया है।
बीते जमाने में शरारत करने के बाद मिली सजा पर न तो अभिभावकों को कोई शिकायत रहती थी और न ही स्टूडेंट को। इसके बावजूद बच्चों में टीचर के प्रति सम्मान में कोई कमी नहीं आती थी। मगर पिछले कुछ अर्से से बच्चों के स्वभाव में जबरदस्त बदलाव आया है। एक्सपर्ट मानते हैं कि इन सबके पीछे पेरेंट्स और समाज की बड़ी भूमिका है। परवरिश में कोई कमी रह गई है, जिसकी वजह से बच्चों के भविष्य की डगर कमजोर पड़ गई।

इस सामाजिक मुद्दे पर अमर उजाला ‘परवरिश की पाठशाला’ नाम से एक सीरीज शुरू कर रहा है, जिसमें मनोचिकित्सक, मनोविज्ञानी, अध्यापक और सक्सेस पेरेंट्स अपने अनुभव के आधार पर पेरेंटिंग टिप्स देंगे। साथ में उस कमियों और खामियों पर बात होगी, जो आपके बच्चों की परवरिश में मददगार साबित होंगी। प्रस्तुत है आज की पहली किस्त।

घर में बनाएं ऐसा माहौल
सीनियर मनोचिकित्सक डा. सिमी वड़ैच ने बताया कि बच्चों की परवरिश में घर का माहौल सबसे अहम होता है। घर में लाड़-प्यार, परवाह के साथ-साथ अनुशासन का होना जरूरी है। अनुशासन का मतलब इससे बिल्कुल नहीं है कि पढ़ाई के लिए बच्चों को पीटने लगे। पढ़ाई, गपशप, खेलकूद और टीवी सबका एक समय तय होना चाहिए। बच्चों के साथ ऐसा घुले-मिले, जिससे कि वह आपसे कुछ छिपा न पाएं। उसमें विश्वास जगाएं कि वह सबकुछ सबसे पहले आपको बताए। घर में बातचीत का सलीका होना चाहिए। आपस में सम्मानजनक भाषा में बात करें। बेटे को बहन के साथ-साथ घर पर आने वाली नौकरानी से बात करने का लहजा सिखाएं। बच्चों के सामने कभी भी किसी दूसरे की चुगली न करें। एक बात ध्यान रखिए जैसा आप दूसरों से व्यवहार करेंगे, वैसा व्यवहार बच्चे दूसरों के साथ करेंगे।
आगे पढ़ें

ऐसा बिल्कुल न करें

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Lucknow

कैराना व नूरपुर उपचुनाव में भाजपा की मुश्किलें बढ़ाने आया एक और 'खिलाड़ी', सपा-रालोद का देगा साथ

कैराना और नूरपुर में हो रहे उपचुनाव में सपा-रालोद को भाजपा के खिलाफ एक और साथी मिल गया है। ऐसे में भाजपा की राह और मुश्किल हो सकती है।

23 मई 2018

Related Videos

VIDEO: इस एलान के बाद अब मुसलमान सिर्फ मस्जिद में पढ़ सकेंगे नमाज

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने नमाज को लेकर बयान दिया है। खट्टर ने कहा है कि हरियाणा में सार्वजनिक जगहों पर नमाज नहीं पढ़ी जाएगी। सिर्फ मस्जिदों में ही नमाज पढ़ी जाए।

6 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen