चुनावी सरगर्मियों के बीच लालू का तंज- डूबते को 'राम' का सहारा, तिनका पुराना हो गया

टीम डिजिटल, अमर उजाला Updated Fri, 08 Dec 2017 12:36 PM IST
Lalu yadav satire on political parties asking for votes on lord Ram name
लालू यादव
भगवान राम के नाम पर होने वाली राजनीति गुजरात चुनावों के मौके पर एक बार फिर सुर्खियों में हैं। आरएसएस और भाजपा के नेता अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के बारे में बढ़-चढ़कर बयान दे रहे हैं। राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने राम के नाम पर राजनीति करने वालों पर व्यंग्य किया है। राजद प्रमुख लालू यादव ने कटाक्ष करते हुए कहा है कि आज के दौर में डूबते हुए इंसान को “राम” का सहारा है और तिनका शायद पुराना पड़ गया है। 
यह भी पढ़ें: BJP नेता के बेतुके बोल- हिंदुओं के हित में नहीं आया फैसला फिर भी राम मंदिर वहीं बनाएंगे 

हिंदी की पुरानी कहावत है कि 'डूबते को तिनके का सहारा'। लेकिन बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने गुजरात चुनाव की सरगर्मियों के बीच सोशल मीडिया ट्विटर पर लिखा कि, 'डूबते को “राम” का सहारा, तिनका पुराना हो गया।' लालू की इस टिप्पणी को चुनाव हारने वाली पार्टी के परिपेक्ष्य में दिया गया बयान समझा जा रहा है। 
 


लालू यादव ने ईश्वर को अपने अंदर खोजने के सनातन सत्य की याद दिलाई है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि, 'मेरा राम मेरे हदय में सदैव मेरे अंग-संग रहता है। मैं उन्हें मंदिर-मस्जिद-गुरुद्वारे और चर्च में नहीं खोजता।' 
 


लालू यादव ने स्पष्ट तौर पर भगवान राम के नाम पर वोट मांगने वालों पर निशाना साधते हुए लिखा है कि, 'मैं मेरे परम प्यारे “राम” से वोट नहीं माँगता बल्कि उस पालनहार से अमन में सुख-शांति,समृद्धि और खुशहाली की प्रार्थना करता हूँ।' 
 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Varanasi

हत्यारोपियों को रिमांड पर लेगी आरपीएफ 0

हत्यारोपियों को रिमांड पर लेगी आरपीएफ 0

25 फरवरी 2018

Related Videos

UNFPA के अधिकारी पर लगा छेड़खानी का आरोप, मामला दर्ज

बिहार की रहने वाली प्रशांती तिवारी ने संयुक्त राष्ट्र जनसंख्या कोष (UNFPA)  के अधिकारी पर छेड़खानी का आरोप लगाया है। प्रशांती ने यूएनएफपीए के भारत प्रमुख सहित दो अन्य पर आरोप लगाए हैं कि उन लोगों ने उसे गालियां दी और उसके साथ जबरदस्ती की।

24 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen