फईम हत्याकांड में पुलिस ने गदरपुर और पंजाब के युवक का नाम खोला

Haldwani Bureauहल्द्वानी ब्यूरो Updated Tue, 27 Nov 2018 12:28 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
रुद्रपुर। टैक्सी बुकिंग के नाम पर फईम का कत्ल करने वाले पंजाब निवासी रविंद्र उर्फ हैप्पी और गदरपुर निवासी जगजीत उर्फ जग्गा के नाम का पुलिस ने खुलासा किया है। फिलहाल दोनों की धरपकड़ के लिए पुलिस और एसओजी एक बार फिर पंजाब में अपना डेरा जमाए हुए हैं। बता दें कि 17 नवंबर के अंक में अमर उजाला ने पंजाब और गदरपुर के युवक की ओर से फईम की हत्या करने का खुलासा किया था।
विज्ञापन

बुकिंग के नाम पर किच्छा निवासी टैक्सी चालक फईम को गाड़ी बुक कराकर ले जाने वाले युवकों ने ही मौत के घाट उतार दिया था। गदरपुर स्थित होटल के सीसीटीवी फुटेज में फईम के साथ दिखे दो युवकों में से एक की पहचान पुलिस ने पंजाब के गुरदासपुर निवासी रविंद्र उर्फ हैप्पी और दूसरे की गदरपुर निवासी जगजीत उर्फ जग्गा के रूप में की है।
कई अन्य साक्ष्य मिलने के बाद हत्यारोपियों की धरपकड़ में जुटी पुलिस को कुछ दिन पूर्व हत्यारोपियों की लोकेशन पंजाब में मिली थी। तब पुलिस के पंजाब पहुंचने से पहले ही हत्यारे फरार हो गए थे। इधर, निकाय चुनाव निपटने के बाद हैप्पी और जग्गा की धरपकड़ में जुटी पुलिस को इस बार भी दोनों की लोकेशन पंजाब में मिली है।
इसके चलते पुलिस ने दोनों की धरपकड़ के लिए एक बार फिर पंजाब में डेरा जमा लिया है। एसएसआई कमलेश भट्ट ने बताया कि फईम हत्याकांड के आरोपियों की पहचान होने के बाद दोनों आरोपियों के नाम जारी किए गए हैं। दोनों की धरपकड़ के लिए दबिश जारी है, जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

हैप्पी ने जिले में बिताए हैं तीन साल
पुलिस की जांच में इस बात का खुलासा हुआ है कि मूल रूप से पंजाब के गुरदासपुर का रहने वाला रविंद्र उर्फ हैप्पी दो साल गदरपुर और और एक साल दिनेशपुर में किराये पर मकान लेकर रहा है। दोनों जगह मकान मालिक की ओर से उसका सत्यापन भी नहीं कराया गया था। इसके आधार पर पुलिस दोनों मकान स्वामियों के खिलाफ भी कार्रवाई की तैयारी कर रही है।

एक बार दिखा दो हत्यारों का चेहरा : फईम के पिता
इकलौते बेटे की मौत से दुखी फईम के पिता मोहम्मद एहसान रोजाना थाने पहुंचकर हत्यारों के पकड़े जाने की जानकारी पुलिस से ले रहे हैं। सोमवार को भी कोतवाली पहुंचने पर जब पुलिस अधिकारियों ने जल्द ही हत्यारों को पकड़ने का आश्वासन दिया। इस पर रोते हुए मोहम्मद एहसान अधिकारियों से बोले, साहब! बेटा तो मर गया बस एक बार उसे मारने वालों का चेहरा दिखा दो।
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us