बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP
विज्ञापन

पिथौरागढ़

विज्ञापन
कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें
Myjyotish

कालाष्टमी प्राचीन कालभैरव मंदिर दिल्ली में पूजा और प्रसाद अर्पण से बनेगी बिगड़ी बात, अभी बुक करें

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

अभिकर्ता ने सोसायटी के प्रबंधक और चेयरमैन के खिलाफ तहरीर सौंपी

पिथौरागढ़। चिटफंड कंपनी अनंतनिधि सोसायटी में जमा रुपये वापस नहीं करने के मामले में लोगों का आक्रोश भड़कता जा रहा है। शुक्रवार को अभिकर्ताओं और खाता धारकों ने पुलिस उपाधीक्षक को तहरीर सौंपकर इस मामले में मैनेजर सहित अन्य अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

अभिकर्ता गीता बिष्ट का कहना है कि सोसायटी में कार्य करने वाले अभिकर्ताओं ने पिछले तीन वर्षों से ग्राहकों के खाते खोलकर रुपया जमा कराया है। सोसायटी के मैनेजर और चेयरमैन समय समय पर अभिकर्ताओं को खाते खुलवाने के लिए प्रेरित करते रहे। अब कंपनी में लेनदेन पूरी तरह से बंद हो गया है। ग्राहकों का करोड़ों रुपया कंपनी के पास जमा है।

उन्होंने कंपनी के अधिकारियों पर पैसे हड़पने की नीयत से फरार होने का आरोप लगाते हुए इस मामले में कार्रवाई करने की मांग की है। ज्ञापन सौंपने वालों में सामाजिक कार्यकर्ता विनीत पाठक सहित अन्य खाताधारक शामिल थे। सीओ आरएस रौतेला ने इस मामले में कार्रवाई करने का भरोसा दिया।
... और पढ़ें

जिला अस्पताल में अराजक तत्वों का तांडव, कर्मचारी से की मारपीट

पिथौरागढ़। जिला अस्पताल में अराजक तत्वों का तांडव रुकने का नाम नहीं ले रहा है। बृहस्पतिवार रात जिला अस्पताल के कक्ष सेवक के साथ दो लोगों ने मारपीट कर दी। अस्पताल कर्मी के अनुसार दोनों व्यक्ति शराब के नशे में थे।

जिला अस्पताल के कक्ष सेवक बलविंदर ने कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक को दी तहरीर में कहा है कि चार जुलाई की रात वह अस्पताल में ड्यूटी पर था। रात में पानी पीने के लिए नल के पास आया तो दो लोगों ने उसके साथ गाली-गलौच करने के साथ ही मारपीट की। कपड़े फाड़ दिए गए। कहा है कि दोनों लोग शराब के नशे में थे। उन्होंने मामले में कार्रवाई की मांग पुलिस से की है। अस्पताल से भी रात में ही पुलिस को मारपीट की सूचना दे दी गई थी। इसके बावजूद पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है। कोतवाली प्रभारी ओम प्रकाश शर्मा का कहना है कि मामले की पड़ताल की जा रही है। अस्पताल में मारपीट की घटना को लेकर कर्मचारियों में रोष है।

अपने एलान पर कायम नहीं रही पिथौरागढ़ पुलिस
पिथौरागढ़। जिला अस्पताल में शराबियों के आतंक का मामला अमर उजाला ने पिछले दिनों लगातार उठाया था। बीते दो जुलाई को कई संगठनों के लोगों ने पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर अस्पताल में पुलिस की ड्यूटी लगाने की मांग की थी। एसपी ने कोतवाली प्रभारी को अस्पताल में चीता पुलिस की गश्त लगाने के निर्देश दिए थे। कोतवाली प्रभारी ने इसके लिए बाकायदा गश्त का रजिस्टर बनाने की बात कही थी, लेकिन गश्त नहीं की गई। अस्पताल कर्मियों ने बताया
कि अस्पताल में पुलिस गश्त पर नहीं आ रही है। शुक्रवार दोपहर अवश्य चीता मोबाइल कर्मी अस्पताल आए थे, अपना फोन नंबर देकर कोई घटना होने पर सूचना देने की बात कह गए। पुलिस अधीक्षक आरसी राजगुरु का इस संबंध में कहना है कि वह कोतवाल को इस संबंध में पुन: निर्देशित कर रहे हैं। उधर, कोतवाली प्रभारी ओम प्रकाश शर्मा का कहना है कि बृहस्पतिवार को व्यस्तता के कारण चीता मोबाइल गश्त नहीं कर पाई थी।
... और पढ़ें

2.6 ग्राम स्मैक के साथ युवक गिरफ्तार


पिथौरागढ़। पिथौरागढ़ पुलिस ने 2.6 ग्राम स्मैक के साथ एक युवक को गिरफ्तार किया है। युवक के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार रात कोतवाल ओम प्रकाश शर्मा के नेतृत्व में एंटी ड्रग्स टास्कफोर्स, एसओजी और कोतवाली पुलिस गश्त पर थी। चंद तिराहे के पास चेकिंग के दौरान विनोद सिंह के पास से 2.6 ग्राम स्मैक बरामद हुई। स्मैक मिलने पर उसे हिरासत में लेकर कोतवाली लाया गया, जहां पर उसके खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया। कोतवाली ने बताया कि स्मैक के साथ पकड़ा गया युवक मूल रूप से पांखू क्षेत्र निवासी है और वर्तमान में वह नोएडा में रहता था। टीम में प्रकाश मेहरा, हेम तिवारी, हीरा सिंह डांगी, विकास कुमार, अनिल मर्तोलिया, राजकुमार, संदीप पंत, बलवंत वल्दिया शामिल रहे।
... और पढ़ें

पिथौरागढ़ : नाम छिपाकर भाई से की दोस्ती, फिर मौका पाकर बहन से की छेड़छाड़, अब मिली सजा

विशेष जिला एवं सत्र न्यायाधीश डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार शर्मा ने घर में घुसकर नाबालिग से छेड़छाड़ के आरोपी पर दोष सिद्ध कर चार साल के कठोर कारावास और 10 हजार रुपये अर्थदंड की सुनाई है। पीड़िता को सात लाख रुपये प्रतिकर के रूप में देने के आदेश भी दिए गए हैं।

मामले के अनुसार, नाबालिग छात्रा का भाई एक कारपेंटर के साथ हेल्पर था। कारपेंटर उसके साथ अक्सर घर में आता-जाता था। 31 अगस्त 2019 की शाम जब छात्रा घर में अकेली थी तो अभियुक्त ने घर में घुसकर उसके साथ छेड़छाड़ कर दी। नाबालिग की चीख सुनकर उसके पिता और चाचा ने पीड़िता को आरोपी के चंगुल से छुड़ाया।

पूछताछ में पता चला कि आकाश बनकर नाबालिग के भाई के साथ घर में आने वाले आरोपी का असली नाम नौशाद है। इस मामले में पीड़िता के पिता की ओर से पिथौरागढ़ कोतवाली में आकाश उर्फ नौशाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पॉक्सो सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज किया। यह मामला जिला सत्र एवं न्यायालय में चला।

इस मामले की सुनवाई कर विशेष जिला सत्र एवं न्यायाधीश डॉ. शर्मा ने आरोपी नौशाद निवासी मोगाड़ी हरपुर, पश्चिमी चंपारण बिहार पर दोष सिद्ध कर आईपीसी की धारा 354 के तहत चार वर्ष के कठोर कारावास और पांच हजार रुपये अर्थदंड और लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण (पॉक्सो) अधिनियम की धारा आठ के तहत चार वर्ष के कठोर कारावास और पांच हजार रुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। दोषसिद्ध आकाश उर्फ नौशाद की दोनों सजाएं साथ-साथ चलेंगी।

आरोपी पर लगाई गई अर्थदंड की राशि को पीड़िता को बतौर प्रतिकर दिया जाएगा। विशेष सत्र न्यायाधीश ने पॉक्सो अधिनियम के तहत सात लाख रुपये देने के आदेश भी जारी किए हैं। इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से शासकीय अधिवक्ता फौजदारी प्रमोद पंत और विशेष लोक अभियोजक पॉक्सो प्रेम सिंह भंडारी ने पैरवी की।
... और पढ़ें
प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

उत्तराखंड: डांटने पर युवक ने की ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या, यू-ट्यूब पर सीखा बंदूक लोड करना

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में थल तहसील के पुरानाथल क्षेत्र के माछीखेत गांव में एक युवक ने ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या कर दी। हत्यारोपी युवक ने जिस बंदूक से वारदात को अंजाम दिया उसे प्रधान के बड़े भाई के घर से चुराकर लाया था। हत्या की खबर पता चलते ही पूरे क्षेत्र में सनसनी छाई है। हत्याकांड को अंजाम देने के बाद आरोपी एक मंदिर के शौचालय में छिपा था, जिसे बेड़ीनाग पुलिस और राजस्व पुलिस की टीम ने गिरफ्तार कर लिया है। 

माछीखेत के बानड़ी तोक निवासी ग्राम प्रधान पुष्कर सिंह (53) पुत्र स्व. जगत सिंह शनिवार रात करीब 9:30 बजे लघु शंका के लिए घर से बाहर आए थे। इसी दौरान गांव के 22 वर्षीय नीरज सिंह उर्फ नीरू ने उन्हें गोली मार दी। गोली की आवाज सुनकर लोग बाहर आए तो पुष्कर खून से लथपथ आंगन में पड़े थे, जबकि आरोपी फरार हो चुका था।

सूचना मिलने पर रविवार सुबह थल के राजस्व निरीक्षक गोविंद नाथ गोस्वामी, पूरन सिंह गोस्वामी, राजस्व उपनिरीक्षक पुष्कर राम, पवन चौहान और संजीव द्विवेदी ने घटनास्थल का निरीक्षण कर पंचनामा, पोस्टमार्टम की प्रक्रिया पूरी की। इधर लोगों की निशानदेही पर आरोपी युवक को एक मंदिर के शौचालय से गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने उसके पास से दोनाली बंदूक और कारतूस भी बरामद किए हैं। प्रारंभिक पूछताछ में पता चला कि आरोपी नीरज ग्राम प्रधान पुष्कर से रंजिश रखता था।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: शिकार के लिए जा रहे युवक की बंदूक से चली गोली प्रवासी के सीने में लगी, मौत

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में मूनाकोट विकासखंड के मझेड़ा गांव में सोमवार शाम गलती से गोली चलने के कारण तीन दिन पहले क्वारंटीन से घर आए युवक की मौत हो गई। राजस्व पुलिस ने हथियार को कब्जे में लेकर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। युवक की मौत से घर में कोहराम मचा हुआ है। 

सोमवार शाम मझेड़ा गांव निवासी 30 वर्षीय कैलाश चंद पुत्र महेश चंद की गोली लगने से मौत हो गई। राजस्व पुलिस ने बताया कि शाम को कैलाश चंद अपनी मां विमला देवी के साथ घर के बरामदे में बैठकर चाय पी रहे थे। इसी दौरान गांव का ही 25 वर्षीय युवक विनोद चंद बंदूक को लोड कर शिकार करने के लिए जंगल जा रहा था। उससे अचानक गोली चल गई जो कैलाश चंद के सीने में जाकर लगी। गोली चलने की आवाज सुनकर ग्रामीण मौके पर पहुंचे।


ग्रामीण घायल अवस्था में कैलाश चंद को सड़क तक लेकर आए। यहां से 108 एंबुलेंस की मदद से उनको जिला अस्पताल पहुंचाया गया, जहां वरिष्ठ सर्जन डॉ. एलएस बोरा ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। राजस्व पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया है। राजस्व उपनिरीक्षक मनोज कुमार मेहता ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। उनके साथ गांव गई टीम में भरत मेहता, ऋषेंद्र सामंत, राजेंद्र बथियाल भी थे। 
... और पढ़ें

Lockdown 4.0: पिथौरागढ़ में युवकों ने ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी से की मारपीट, वर्दी फाड़ी

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में सिल्थाम चौकी पर तैनात पुलिसकर्मी के साथ रविवार रात छह युवकों ने मारपीट करने के साथ ही उसकी वर्दी फाड़ दी। पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन कर सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने और ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मी से मारपीट कर जान से मारने की धमकी देने के आरोप में छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर दिया है। सभी आरोपी फरार हैं।

पुलिस गिरफ्तारी के लिए जगह-जगह दबिश दे रही है। पुलिस के अनुसार सिल्थाम तिराहे में रविवार रात दीपक, राहुल, अजय, पंकज, कुक्कू और मन्नू लॉकडाउन के दौरान घूम रहे थे। ड्यूटी में तैनात पुलिस कर्मी ने उनसे अनावश्यक घूमने का कारण पूछा तो युवक पुलिस कर्मी के साथ गाली-गलौज और बदसलूकी पर उतर आए। जान से मारने की धमकी भी दी।
... और पढ़ें

बेटे के जन्मदिन पर घर से उठेगी पिता की अर्थी, जरा से गुस्से ने बर्बाद कर दिया हंसता-खेलता परिवार

पुलिसकर्मी ने आपसी रंजिश में अपने ही साथी की खाई में धकेलकर की हत्या, छठे दिन मिला शव

पुलिस लाइन में तैनात पुलिस जवान को उसके साथी जवान ने ही खाई में धक्का देकर मार डाला। उसका शव छठे दिन खाई से बरामद हुआ। पुलिस ने आरोपी पुलिस कर्मी गिरीश जोशी के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। गिरीश जोशी दन्यां अल्मोड़ा के धूरा का रहने वाला है।

काशीपुर के भीमनगर कुंडेश्वरी निवासी मोहित जोशी पिथौरागढ़ पुलिस लाइन में तैनात था। वह पत्नी भारती जोशी और सात साल के बेटे के साथ रहता था। दो जनवरी को वह लापता हो गया था। पत्नी ने कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी जिसके बाद पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। छानबीन की तो पता लगा कि मोहित अपने एक सहकर्मी के साथ शराब भट्टी पर देखा गया था।

सीसीटीवी फुटेज चेक करने पर मोहित अपने सहकर्मी गिरीश जोशी के साथ गाड़ी में बैठा दिखाई दे रहा था। पुलिस ने सहकर्मी कांस्टेबल को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने मोहित की हत्या करने का जुर्म कबूल लिया। उक्त कांस्टेबल की निशानदेही पर सोमवार की सुबह दस बजे मोहित का शव चंडाक, पिथौरागढ़ के वन क्षेत्र से बरामद हुआ। 

सख्ती से पूछताछ करने पर गिरीश जोशी ने बताया कि 11 दिसंबर को उसके कमरे की किसी ने बाहर से कुंडी लगा दी थी। उसे इसका शक मोहित जोशी पर था। इसको लेकर दोनों में विवाद भी हुआ था। इसके बाद दो जनवरी को वह अपनी अल्टो कार से मोहित जोशी को अपने साथ लेकर गया और बांस रोड में कफलडुंगरी के पास जब मोहित पहाड़ी की ओर लघुशंका करने लगा तो गिरीश ने उसे खाई में धक्का दे दिया।
... और पढ़ें

उत्तराखंड: पिथौरागढ़ में ट्रिपल मर्डर का खुलासा, गिरफ्तारी के बाद नेपाली युवक ने कबूला जुर्म

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में 26 अक्तूबर की रात हुए ट्रिपल मर्डर केस का खुलासा पुलिस ने बुधवार को कर दिया। इस मामले में नेपाल के बैतड़ी जिले के एक युवक को गिरफ्तार किया गया है। आरोपी धन बहादुर बोरा ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है। आरोपी तीनों मृतकों का परिचित था। पुलिस अधीक्षक रामचंद्र राजगुरु ने प्रेसवार्ता कर इसकी जानकारी दी। 

उन्होंने बताया कि शराब पीने के बाद हरीश बोरा और बीरा बोरा के साथ उसका विवाद हुआ था। विवाद के बाद उसने हरीश बोरा, बीरा बोरा और काशी बोरा तीनों की दरांती और सिल बट्टा से हत्या की थी। इसके बाद उसने दरांती से ही तीनों के गुप्तांग भी काट दिए थे।

आरोपी ने बताया कि विवाद हरीश बोरा की पत्नी को लेकर हुआ था। हत्या करने के बाद उसने पहले अपने खून से सने कपड़े जलाए और इसके बाद मुनस्यारी भाग गया था। अब गुरुवार को आरोपी को कोर्ट में पेश किया जाएगा। 
... और पढ़ें

स्कूल से घर लौट रही 13 साल की छात्रा से दुष्कर्म, नानी की शिकायत पर हरकत में आई पुलिस

उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में स्कूल से घर लौट रही 13 साल की छात्रा से एक युवक के दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। पीड़िता की नानी की शिकायत पर अस्कोट पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 506 और पॉक्सो में मामला दर्ज किया गया है।

उसे न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है।  सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली 13 साल की छात्रा 26 दिसंबर को स्कूल से घर लौट रही थी। सुनसान रास्ते से गुजरने के दौरान दिनेश सिंह (38) साल नामक युवक उसे पकड़कर जंगल में ले गया और वहां उसके साथ दुष्कर्म किया।

इससे डरी छात्रा ने पहले किसी से भी घटना का जिक्र नहीं किया। तबियत बिगड़ने पर उसने अपनी नानी को बाद में घटना के बारे में बताया।  29 दिसंबर को पीड़िता की नानी ने अस्कोट पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।
... और पढ़ें

ट्रिपल मर्डर मिस्ट्री: नेपाल पुलिस के अधिकारी पहुंचे, की जांच पड़ताल, जल्द होगा खुलासा 

  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00