मायावती एक्शन में, राज्यसभा सांसद को दी चेतावनी, बेटों को पार्टी से निकाला

अमर उजाला ब्यूरो/ मेरठ Updated Fri, 08 Dec 2017 07:17 PM IST
Mayawati in action, MP sons removed from party, warning to Father
मायावती और सांसद का बेटा
किठौर में दुकान को लेकर हुए खूनी संघर्ष की गाज राज्यसभा सदस्य मुनकाद अली के बेटों पर गिरी है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने मुनकाद अली के बेटों सलमान व फरमान को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया है। साथ ही यह भी कहा है कि सांसद को यदि पुत्रों के खिलाफ की कार्रवाई बुरी लगती है तो वे पार्टी में रहने या छोड़कर जाने के लिए आजाद हैं। 
बुधवार को किठौर कस्बे में एक दुकान पर कब्जे के विवाद को लेकर नव निर्वाचित चेयरपर्सन और पूर्व चेयरपर्सन पक्ष के लोगों के बीच खूनी संघर्ष हुआ। यहां मुनकाद के बेटे सलमान की पत्नी निदा परवीन चेयरपर्सन चुनी गई हैं। पूर्व चेयरमैन मतलूब गौड तथा हाल चेयरमैन के पक्ष के लोग आमने सामने आ गए। जमकर संघर्ष हुआ और गोलियां चलीं। दरअसल एक दुकान को लेकर दोनों पक्ष अपना अपना दावा ठोंक रहे थे। हालांकि पुलिस ने मौके पर पहुंचकर किसी तरह से स्थिति को संभाला और दोनों पक्षों की ओर से एक दूसरे के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया।

दोनों पुत्रों को किया बाहर
मायावती ने लखनऊ में दिए बयान और बाद मे विज्ञप्ति जारी कर कहा कि मुनकाद अली के बेटे की पत्नी हाल ही में मेरठ जिले की किठौर नगर पंचायत से पार्टी के टिकट पर अध्यक्ष चुनी गई हैं। पता चला है कि सांसद के बेटे सलमान वहां अपने कुछ समर्थकों के साथ एक दुकान के मामले में जबरन कब्जा करने व एक दलित की दुकान में तोड़ फोड़ करने में शामिल हैं। उन्होंने कहा कि इसे अत्यंत गंभीरता से लिया गया है और कानून को हाथ में लेने की वजह से मुनकाद अली के बेटों को बसपा से निकाल दिया गया है।

पढ़ें : भाजपा के गढ़ में योगी का प्रचार फेल, ये रही हार की वजह
आगे पढ़ें

सोशल मीडिया पर छाया मुद्दा

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Kanpur

पत्नी के न आने पर बेटी की साथ की ऐसी हैवानियत कि पड़ोसी भी थर्रा उठे

उस बेटी को क्या मालूम था एक दिन जन्म देने वाला पिता उसकी जान का दुश्मन बनेगा। एक छोटी से बात पर उसके ऊपर केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया। घटना थाना एलाऊ क्षेत्र के गांव रतनपुर बरा की है।

25 फरवरी 2018

Related Videos

यहां शुरु हुआ आरएसएस का ‘चुनावी’ समागम, बना ये बड़ा रिकॉर्ड

मेरठ एक अनूठे रिकॉर्ड का साक्षी बना। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ द्वारा आयोजित राष्ट्रोदय कार्यक्रम में तीन लाख से ज्यादा स्वयं सेवक गणवेश में कदमताल करते दिखे।

25 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen