भालीचौर स्कूल में प्रार्थना सभा पर पथराव, महिलाओं ने थाने का किया घेराव

Gorakhpur Bureau गोरखपुर ब्यूरो
Updated Mon, 20 Sep 2021 12:26 AM IST
peltering at prarthana sabha
विज्ञापन
ख़बर सुनें
भालीचौर स्कूल में प्रार्थना सभा पर पथराव, महिलाओं ने थाने का किया घेराव
विज्ञापन

रुद्रपुर(देवरिया)। भालीचौर गांव के सुदामा चौराहा स्थित स्कूल में रविवार को प्रार्थना सभा के दौरान जमकर हंगामा हुआ। भाजयुमो कार्यकर्ताओं के साथ गांव के युवकों ने प्रार्थना सभा पर पथराव शुरू कर दिया। प्रार्थना सभा में करीब दो सौ महिलाएं और पुरुष मौजूद रहे। गुस्साई भीड़ ने स्कूल में घुसकर तोड़फोड़ की। आरोप है कि उपद्रवी तत्वों ने स्कूल की खिड़की दरवाजों को तोड़ दिया। स्कूल की संचालिका ने 112 नबंर पर फोन कर पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और भीड़ को तितर-बितर किया।
घटना के बाद स्कूल संचालिका के साथ बड़ी संख्या में महिलाओं ने थाने का घेराव किया। उन्होंने उपद्रवी तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। भाजयुमो के जिलाध्यक्ष प्रवीण प्रताप मल्ल के नेतृत्व में भाजयुमो कार्यकर्ता भी थाने पहुंच गए। उन्होंने स्कूल संचालिका पर धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया।

जानकारी के अनुसार सुदामा चौराहा स्थित सेंट जोसफ मेमोरियल स्कूल की संचालिका चौरीचौरा निवासी रीना देवी 18 वर्षों से आठवीं तक स्कूल चला रही हैं। वह ईसाई धर्म से जुड़ी हैं। गांव की एक और महिला रीना निषाद और उनके पति अनिल कुमार निषाद भी दस वर्षों से ईसाई धर्म अपनाकर अपने घर पर ईसाई धर्म का प्रचार-प्रसार करते हैं। रीना और अनिल अपने घर पर हर रविवार को प्रार्थना सभा का आयोजन करते थे। बरसात में पानी लगने से दो माह से प्रार्थना सभा का आयोजन सेंट जोसफ मेमोरियल स्कूल में हो रहा है। रविवार को सुबह करीब दस बजे जैसे ही प्रार्थना सभा शुरू हुई, भाजयुमो के जिला उपाध्यक्ष और जिला पंचायत सदस्य अमित रजक के साथ बर्दगोनिया और भालीचौर गांव के लोग प्रार्थना स्थल पर पहुंचकर विरोध कराना शुरू कर दिए। तभी भीड़ ने स्कूल में पथराव शुरू कर दिया। बवाल बढ़ते ही प्रार्थना सभा में भगदड़ मच गई। स्कूल की संचालिका ने पुलिस को सूचना दी। मौके पहुंची पुलिस ने बीच-बचाव कर मामला शांत कराया। स्कूल की संचालिका रीना देवी के साथ तमाम महिलाएं थाने पहुंच गईं। उन्होंने उपद्रवी तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। भाजयुमो के जिलाध्यक्ष प्रवीण प्रताप मल्ल के साथ थाने पहुंचे जिला पंचायत सदस्य सुनील निषाद, अमित रजक, सूर्यभान सिंह आदि नेताओं ने संचालिका और उनके सहयोगियों पर हिंदुओं को बहला फुसलाकर धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया। उन्होंने धर्म परिवर्तन कराने में लिप्त लोगों के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग की।
इस बाबत कोतवाली प्रभारी बृजेश कुमार मिश्र ने कहा कि दोनों पक्षों की दलील सुनकर मामले की जांच हो रही है। फिलहाल प्रार्थना सभा पर रोक लगा दी गई है। पुलिस इस मामले में गंभीरता से कार्रवाई करेगी।
जबरन नहीं कराया जाता धर्म परिवर्तन
स्कूल की संचालिका रीना देवी और प्रार्थना सभा की आयोजक रीना निषाद ने कहा कि धर्म परिवर्तन कराने का आरोप बेबुनियाद है। प्रार्थना सभा कई साल से हो रही है। इसमें आस्था रखने वाले लोग ही सामिल होते हैं। उपद्रवी तत्व लोगों की आस्था से खिलवाड़ कर रहे हैं। किसी को भी जबरन धर्म परिवर्तन नहीं कराया जाता है।
जिले में धर्म परिवर्तन कराने वालों का रैकेट चल रहा है। ये लोग भोले भाले-लोगों को बहला-फुसला कर ईसाई बना रहे हैं। इनकों धर्मपरिवर्तन कराने के लिए विदेशों से फडिंग हो रही है। डीएम और एसपी से मिलकर इस मामले की शिकायत की जाएगी। जिले में भाजयुमो कार्यकर्ता धर्म परिवर्तन नहीं होने देंगे। -प्रवीण प्रताप मल्ल, जिलाध्यक्ष भाजयुमो

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00