Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Chandauli ›   Nurse did not discharge mother and child after delivery for not giving bribe in chandauli

चंदौली: प्रसव के बाद मांगी रिश्वत, न देने पर नर्स ने जच्चा-बच्चा को रोका

अमर उजाला नेटवर्क, चंदौली Published by: गीतार्जुन गौतम Updated Sat, 10 Jul 2021 11:30 PM IST

सार

मामला नौगढ़ सीएचसी का है। पीड़ित ने इसकी शिकायत सीएचसी अधीक्षक से की। उनके हस्तक्षेप के बाद जच्चा-बच्चा डिस्चार्ज किया गया।
demo pic
demo pic
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

प्रदेश में भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टॉलरेंस की नीति को अधिकारी व कर्मचारी किस तरह धता बता रहे हैं, यह शनिवार को चंदौली जिले के नौगढ़ सीएचसी में देखने को मिला। प्रसव कराने के एवज में सीएचसी की नर्स ने सुविधा शुल्क की मांग की। इस पर महिला के ससुर को मंगलसूत्र गिरवी रखकर रिश्वत देनी पड़ी। मामला यहीं नहीं थमा। प्रसूता को कन्या पैदा होने के बाद नर्स ने फिर पैसों की मांग की। नहीं देने पर नर्स ने जच्चा-बच्चा को रोककर अस्पताल से डिस्चार्ज करने से मना कर दिया। बाद में मामला सीएचसी अधीक्षक के यहां पहुंचने के बाद जच्चा-बच्चा को डिस्चार्ज कर दिया गया। इस मामले में सीएमओ वीपी द्विवेदी ने जांच का आदेश दिया है।

विज्ञापन


शुक्रवार की रात नौगढ़ ब्लॉक के नवर्दापुर गांव निवासी नंदू अपनी बहू रीमा के प्रसव के लिए सीएचसी पहुंचे। वहां मौजूद नर्स  ने बच्चा पैदा कराने के एवज में सुविधा शुल्क की मांग की। पैसे न होने पर नंदू ने अपनी बहू के मंगलसूत्र को गिरवी रखकर कर्ज लेकर रिश्वत दी। इसके बाद प्रसूता को कन्या पैदा होने पर शनिवार की दोपहर नर्स ने और रिश्वत की मांग की।


इसे देने में नंदू के असमर्थता जाहिर करने पर नर्स ने उसकी बहू व नवजात को डिस्चार्ज करने से मना कर दिया। फिर नंदू ने भागदौड़ के बाद रोते-बिलखते अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अवधेश पटेल को मोबाइल पर  सारी बात बताई। अधीक्षक के निर्देश पर अस्पताल से प्रसूता को डिस्चार्ज तो कर दिया गया, लेकिन रुपये नहीं लौटाए गए। मामले में नंदू ने अस्पताल के अधीक्षक को स्टॉफ नर्स के खिलाफ लिखित शिकायत दी है।

स्टाफ नर्स के खिलाफ बच्चा पैदा करने के एवज में रिश्वत लेने और बच्चे के जन्म के बाद पैसा नहीं देने पर डिस्चार्ज नहीं करने की शिकायत मिली है। मामले की जांच कर उच्चाधिकारियों को रिपोर्ट भेजी जाएगी। -डॉ. अवधेश पटेल, अधीक्षक, सीएचसी, नौगढ़।

प्रसव पीड़ा से जूझ रही महिला को नर्स ने जड़ा थप्पड़ 
नौगढ़ सीएचसी में लेबर रूम में दर्द से कराह रही प्रसूता से ड्यूटी पर मौजूद नर्स ने अभद्र भाषा में बात करते हुए उसे कई थप्पड़ मार दिए। इतना ही नहीं, नवजात शिशु के जन्म लेते ही नर्स ने जबरदस्ती रुपये भी लिए। अस्पताल के वार्ड में भर्ती भैसौडा गांव की तेतरा ने कहा कि लेबर पेन होने पर शनिवार की सुबह परिवार वाले उसे अस्पताल ले आए। वहां लेबर रूम में मौजूद नर्स अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगी।

इतना ही नहीं, नर्स ने उसके गाल पर इतने थप्पड़ जड़े कि वह रोने लगी। तेतरा के पति संजय कुमार ने बताया कि पत्नी के साथ हुए इस अभद्र व्यवहार से वे काफी आहत हैं। बच्चा पैदा होने पर लेबर रूम की नर्स ने कहा कि बच्चा लेना है तो बधाई देनी होगी। उसने 500 रुपये की मांग की। बड़ी मुश्किल से 200 रुपये देकर पीछा छुड़ाया। कहा कि यहां मरीज अच्छे इलाज के आते हैं ना कि मार खाने के लिए। उन्होंने डीएम से इस बात की शिकायत करने की बात कही है।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00