विज्ञापन

अचानक रायबरेली पहुंचे अखिलेश नाराज, अफसरों पर गिरी गाज

रायबरेली/लखनऊ/ब्यूरो Updated Thu, 08 Aug 2013 12:02 AM IST
akhilesh visit to rae bareli
विज्ञापन
ख़बर सुनें
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बुधवार को बिना किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के लगभग 10 बजे अचानक रायबरेली के लोहिया समग्र गांव रैन पहुंच गए।
विज्ञापन
जमीनी हकीकत समझने के इरादे से गांव पहुंचे सीएम ने राशन वितरण से लेकर लोहिया आवास की हालत का मुआयना किया।

वहां कोटे की दुकान पर गेहूं की बोरियों की तौल कराई। परिषदीय स्कूल का दौरा किया। मुख्यमंत्री ने वहां मिड-डे-मील में बने कढ़ी-चावल की गुणवत्ता परखने के लिए खुद उसे चखा। गांव की सड़कें और हैंडपंपों की हालत देख मुख्यमंत्री बेहद नाराज हुए।

गांव की हालत देख लखनऊ लौटे सीएम ने रायबरेली के बेसिक शिक्षा अधिकारी ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह भदौरिया का तबादला कर दिया जबकि जिला पूर्ति अधिकारी विद्या सागर अहिरवार और आपूर्ति निरीक्षक सुशील चंद्र वाजपेयी को निलंबित करने का आदेश दिए।
akhilesh yadav
लोहिया गांव के लोगों ने सीएम से शिकायत की कि कोटेदार राशन नहीं बांटता है। उन्होंने खाद्य एवं रसद मंत्री राजेंद्र चौधरी को कोटे की दुकान को चेक करने के लिए भेजा। गेहूं की बोरी को चेक कराया गया तो उसमें गेहूं कम मिला।

सीएम ने प्रधान आरबी यादव को कोटे की व्यवस्था सुधरवाने के आदेश दिए। स्कूल में एक ही टीचर के सहारे चल रही पढ़ाई और किताबें न मिलने की भी पोल खुल गई। उन्होंने डीएम को व्यवस्था देखने कहा।

रैन से राजामऊ गांव तक गड्ढों की ताजा पैचिंग देखकर पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को फटकार लगाई। पावर कारपोरेशन के अफसरों को भी उन्होंने बिजली आपूर्ति में लापरवाही न बरतने की नसीहत दी।

एक तरफ सीएम गांव का दौरा कर रहे थे तो दूसरी ओर उनके निर्देश पर स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन ने भी जिला अस्पताल में छापा मारकर स्वास्थ्य सेवाओं का हाल जाना। हसन ने मरीजों से पूछा कि डॉक्टर बाहर की दवा तो नहीं लिख रहे हैं। कुछ ने हां तो कुछ ने ना में जवाब दिया।  

सीएम ने लगाई चौपाल
सीएम ने पंचायत भवन में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की शिकायतें भी सुनीं। गांव के लोगों ने बिजली, पानी, पेंशन, आवास सहित अन्य तमाम समस्याओं को सीएम के सामने रखा।

मुख्यमंत्री ने सबकी समस्याओं को सुनने के बाद कहा कि बजट के अभाव में लोहिया गांवों में सीसी रोड के लिए पूरा धन नहीं मिल पा रहा है।

हालांकि उन्होंने कलुई खेड़ा से रैन गांव तक की 10 किलोमीटर सड़क निर्माण और बछरांवा को नगरपालिका बनाने का आश्वासन दिया।

सीएम ने लोहिया आवासों की लागत को भी बढ़ाने पर विचार किए जाने की बात कही। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री से गांव में अस्पताल और डिग्री कॉलेज खुलवाने की मांग की। आश्वासन देते हुए सीएम ने कहा कि जल्द ही समस्याओं को दूर किया जाएगा।

अरे मैं तो अपने ही गांव में आ गया...
रैन गांव के प्रधान व सपा से बछरावां विधानसभा क्षेत्र अध्यक्ष राम बहादुर यादव से स्थानीय विधायक रामलाल अकेला ने परिचय कराया तो मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बोले अरे! मैं तो अपने ही गांव आ गया हूं। यहां तो ज्यादा देखने की जरूरत ही नहीं है।

शायद यही कारण रहा कि तमाम कमियां मिलने के बाद भी सीएम ने किसी के खिलाफ कार्रवाई का आदेश नहीं दिया।

मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार जिले आए अखिलेश यादव ने स्थानीय मीडिया से पूरी तरह से दूरी बनाए रखी। सीएम ने मीडिया से कहा कि यह गोपनीय दौरा है।

Recommended

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन

Most Read

Varanasi

मिर्जापुर में लगातार दो बवाल के बाद अलर्ट मोड पर प्रशासन, ड्रोन कैमरे से हो रही निगरानी

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर के मुकेरी बाजार में मंगलवार शाम और बुधवार शाम हुए बवाल के बाद तनाव बरकरार है। लगातार दो बड़ी घटनाओं के मद्देनदर प्रशासन अलर्ट मोड में है।

22 नवंबर 2018

विज्ञापन

Related Videos

VIDEO: यूपी में रेल हादसा, पटरी से उतरे पैसेंजर ट्रेन के सात डिब्बे

यूपी के रामपुर जिले में रेल हादसा हुआ है। यहां दिल्ली से लखनऊ मरम्मत के लिए जा रहे यात्री गाड़ी के सात सवारी डिब्बे ट्रैक से उतर गए। ट्रेन के सात डिब्बों के पटरी से उतरने की वजह से 23 ट्रेनों का रूट डायवर्ट किया गया है।

22 नवंबर 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree