फेसबुक की कार्रवाई: तालिबान पर लगाया बैन, संगठन से जुड़े अकाउंट होंगे डिलीट

टेक डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: प्रदीप पाण्डेय Updated Tue, 17 Aug 2021 02:26 PM IST

सार

फेसबुक ने कहा है कि अमेरिकी कानून के तहत तालिबान एक आतंकवादी संगठन है। ऐसे में उसे फेसबुक की सेवाओं से वंचित करने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा तालिबान के सभी अकाउंट डिलीट किए जाएंगे।
तालिबान(सांकेतिक)
तालिबान(सांकेतिक) - फोटो : पीटीआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने तालिबान के खिलाफ बड़ा एक्शन लिया है। फेसबुक ने कहा है कि अमेरिकी कानून के तहत तालिबान एक आतंकवादी संगठन है। ऐसे में उसे फेसबुक की सेवाओं से वंचित करने का फैसला लिया गया है। इसके अलावा तालिबान के सभी अकाउंट डिलीट किए जाएंगे। साथ ही तालिबान के समर्थन में पोस्ट करने वाले सभी अकाउंट पर बैन लगाया जाएगा। फेसबुक के एक प्रवक्ता ने कहा है कि कंपनी के पास दरी और पाश्तो भाषा के जानकारों की पूरी टीम है जो कि स्थानीय कंटेंट पर नजर रख रही हैं और हमें सूचित कर रही है।
विज्ञापन

  फेसबुक ने कहा है कि पिछले कई सालों से तालिबान के कई नेता और प्रवक्ता फेसबुक पर मौजूद हैं जिनके फॉलोअर्स की संख्या लाखों में है। फेसबुक का कहना है कि उसने तालिबान को अपने प्लेटफॉर्म पर बैन करना का फैसला राष्ट्रीय सरकार को ध्यान में रखते हुए नहीं लिया है, बल्कि वह अंतरराष्ट्रीय समुदाय के अधिकारों का पालन करती है। फेसबुक ने कहा है कि वह अपने सभी प्लेटफॉर्म यानी फेसबुक, फेसबुक मैसेंजर, इंस्टाग्राम और व्हाट्सएप पर तालिबान को बैन कर दिया है।



महिलाओं को शिकार नहीं बनाने का वादा
अफगानिस्तान में तालिबान के संपूर्ण कब्जे के बाद से दहशत का माहौल बना हुआ है। डर के कारण जहां कई लोग बिना सामान लिए देश छोड़कर भाग रहे हैं वहीं कई लोग घर में दुबके पड़े हैं और इस कारण से देश में काम-काज ठप्प पड़े हैं। ऐसे में अब तालिबानियों के लिए भी मुश्किलें खड़ी हो रही हैं। इसलिए अब तालिबानी अधिकारी यहां के सरकारी कर्मचारी से काम पर लौटने की अपील कर रहे हैं।

इतना ही नहीं उन्होंने महिलाओं को भी सरकार का हिस्सा बनने को कहा है। अफगान स्टेट टीवी को दिए एक साक्षात्कार में तालिबान अधिकारी ने यह भी कहा कि हम महिलाओं को शिकार नहीं बनाना चाहते बल्कि सरकार में रहने की अपील करते हैं। उन्होंने कहा कि देश के युवा भी आगे आएं, हम उन्हें काम करने की पूरी आजादी देंगे। उन्होंने महिलाओं को सुरक्षा का भी भरोसा दिया।

इंडियन एयरफोर्स के विमान से 120 भारतीय लौटे देश
अफगानिस्तान में तालिबान के कब्जे के बाद लोग देश छोड़ने की पुरजोर कोशिशों में लगे हैं। हवाई अड्डे पर किसी बस अड्डे और रेलवे स्टेशन से भी अधिक भीड़ है। इसी बीच भारतीय दूतावास के अधिकारी समेत अन्य नागरिकों को लेकर काबुल से रवाना हुआ वायुसेना का विमान गुजरात के जामनगर पहुंच गया है। इस विमान से करीब 120 लोगों को सुरक्षित वतन लाया गया है। वहीं इससे पहले देर रात अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने पहली बार अफगानिस्तान संकट पर खुलकर बयान दिया। उन्होंने साफ किया कि अमेरिकी फौज का यहां से जाने का फैसला बिल्कुल सही था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News App अपने मोबाइल पे|
Get all Tech News in Hindi related to live news update of latest gadgets News apps, tablets etc. Stay updated with us for all breaking news from Tech and more Hindi News.

विज्ञापन
विज्ञापन

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00