रोजर फेडरर का नंबर वन पर तिहरा शतक

शंघाई/खेल डेस्क Updated Sat, 13 Oct 2012 12:54 PM IST
Roger Federer number one triple century
ख़बर सुनें
दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने अपने शानदार कैरियर में 300 सप्ताह तक नंबर एक की बादशाहत अपने नाम रखने की शानदार उपलब्धि हासिल कर ली है।
31 वर्षीय फेडरर ने बृहस्पतिवार को शंघाई मास्टर्स में हमवतन स्टानिस्लास वावरिंका को हराकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश करने के साथ ही नंबर एक पोजीशन पर रहने का तिहरा शतक पूरा कर लिया। सर्वाधिक 17 ग्रैंड स्लैम खिताबों के विजेता फेडरर पहली बार फरवरी 2004 में नंबर एक बने थे। वह अगस्त 2008 तक रिकॉर्ड लगातार 237 सप्ताह तक नंबर वन बने रहे।

इसके बाद उनके कैरियर में कुछ उतार चढ़ाव आते रहे। पहले स्पेन के राफेल नदाल और फिर सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने उनकी बादशाहत पर ग्रहण लगाए। लेकिन इस साल विंबलडन में कमाल की वापसी करते हुए न केवल सातवीं बार विंबलडन खिताब जीतकर अमेरिका के पीट सम्प्रास की बराबरी की बल्कि वह फिर से नंबर एक की कुर्सी पर लौट आए। एक सप्ताह बाद ही उन्होंने सम्प्रास के 286 सप्ताह तक नंबर वन बने रहने के रिकॉर्ड को ध्वस्त कर दिया।

अपनी इस उपलब्धि से खुश फेडरर ने कहा, ‘मेरे लिए यह अद्भुत संख्या है। मैं जब छोटा था तो मैंने कभी नहीं सोचा था कि मैं इस नंबर तक पहुंच सकूंगा। मेरा तो यही सपना था कि मैं टूर में खेलूं, विंबलडन खेलूं और कभी जाकर नंबर वन बन जाऊं। लेकिन अब तो मैं 300 सप्ताह तक नंबर वन रह चुका हूं। निश्चित ही यह सब कुछ अद्भुत है लेकिन मेरी बड़ी उपलब्धियों में से एक है। मुझे इस संख्या को देखकर बेहद संतोष होता है क्योंकि यह मेरी मेहनत का परिणाम है।’

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Sports news in Hindi related to live update of Sports News, live scores and more cricket news etc. Stay updated with us for all breaking news from Sports and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Tennis

अंकिता रैना फ्रेंच ओपन क्वालिफायर के पहले ही दौर में बाहर

भारतीय टेनिस खिलाड़ी अंकिता रैना मंगलवार को फ्रेंच ओपन क्वालिफायर के पहले ही दौर में हारकर बाहर हो गईं।

23 मई 2018

Related Videos

VIDEO: मां की लाश के साथ बेटों ने किया ये ‘घिनौना’ काम

वाराणसी में बेटों ने मिलकर ऐसी साजिश रची जिसे जानकर आप हैरान रह जाएगें। इस राजिश में बेटों ने मां की लाश को मोहरा बनाया और चार महीने तक सरकार से मृतक महिला को मिलने वाली पेंशन लेते रहे, देखिए ये रिपोर्ट।

24 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen