Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट पर कार्रवाई, डिप्टी सीएम और प्रदेशाध्यक्ष का पद छीना गया

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर Published by: Sneha Baluni Updated Tue, 14 Jul 2020 04:15 PM IST
कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हिस्सा लेते विधायक
कांग्रेस विधायक दल की बैठक में हिस्सा लेते विधायक - फोटो : ANI
विज्ञापन
ख़बर सुनें
राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच जारी तनाव के बीच पायलट को उपमुख्यमंत्री पद और प्रदेशाध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। उनकी जगह गोविंद सिंह डोटसारा को नया प्रदेशाध्यक्ष घोषित किया गया है। इसके अलावा पायलट समर्थक मंत्रियों को भी हटाया गया है। सचिन पायलट के अलावा विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है। इससे पहले पार्टी उपमुख्यमंत्री को मनाने की कोशिश कर रही थी। मंगलवार को हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक (सीएलपी) में 102 विधायक शामिल हुए। बैठक में सभी ने सर्वसम्मति से पायलट को पार्टी से निकालने पर अपनी सहमति जताई थी।
विज्ञापन




राज्यपाल से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंगलवार को राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलने के लिए जयपुर स्थित राजभवन पहुंचे।
 


पायलट को मंत्रिमंडल से किया बाहर, मंत्रियों पर भी कार्रवाई
राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट के बीच कांग्रेस पार्टी ने बड़ी कार्रवाई करते हुए सचिन पायलट से उपमुख्यमंत्री और प्रदेशाध्यक्ष का पद छीन लिया गया है। उनके स्थान पर गोविंद सिंह डोटसारा को प्रदेशाध्यक्ष की जिम्मेदारी सौंपी गई है। पायलट के समर्थक दो मंत्रियो विश्वेंद्र सिंह और रमेश मीणा को भी मंत्रिमंडल से बाहर कर दिया गया है।

भ्रमित होकर भाजपा के जाल में फंसे पायलट: सुरजेवाला
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'भारतीय जनता पार्टी ने एक षड्यंत्र के तहत राजस्थान की आठ करोड़ जनता के सम्मान को चुनौती दी है। भाजपा ने कांग्रेस सरकार को अस्थिर कर गिराने की साजिश की। भाजपा धनबल और सत्ताबल से कांग्रेस पार्टी और निर्दलीय विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है। सचिन पायलट भ्रमित होकर भाजपा के जाल में फंस गए और कांग्रेस सरकार को गिराने में लग गए। पिछले 72 घंटे से कांग्रेस आलाकमान ने सचिन पायलट और अन्य नेताओं से संपर्क करने की कोशिश की। कांग्रेस की तरफ से लगातार पायलट को मनाने की कोशिशें की गईं लेकिन उन्होंने हर बात को नकारा।'

पायलट को पार्टी से निकालने पर सहमत हुए विधायक: सूत्र
जयपुर के फेयरमोंट होटल में चल रही कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में उपस्थित 102 विधायकों ने सर्वसम्मति से मांग की कि सचिन पायलट को पार्टी से निकाल दिया जाना चाहिए। यह जानकारी सूत्रों के हवाले से दी गई है।
 

कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू
कांग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक जयपुर के फेयरमोंट होटल में शुरू हो गई है।

तेजस्वी, युवा, बुद्धिमान को बर्दाश्त नहीं कर सकते राहुल गांधी: उमा भारती

राजस्थान संकट पर भाजपा की वरिष्ठ नेता उमा भारती ने कहा, 'राजस्थान संकट केवल राहुल गांधी और उनके खानदान की वजह से है क्योंकि वो इतना अपमान करते हैं लोगों का, उन्हें नीचा दिखाते है। खुद काम करना नहीं चाहते, खुद मेहनत करना नहीं चाहते हैं और उनके साथ हीं हीं करने वाले लोग ही सरकार में रहे ये चाहते हैं। तेजस्वी, युवा, बुद्धिमान को वो बर्दाश्त ही नहीं करते। आपने उनकी इतनी बेइज्जती की उनके सामने कोई रास्ता ही नहीं बचा ये टकराव करने का। वो राजेश पायलट के बेटे हैं। राजेश मेरे भाई जैसे थे। हमारे उनके साथ बड़े आत्मीय संबंध थे। इसलिए मुझे पता है कि वो कितने स्वाभिमानी परिवार से हैं। कैसे वो जी पाया होगा इतने सालों से, मैं जानती हूं कितना अपमान होता है कांग्रेस में। ये राहुल गांधी जब तक कांग्रेस खानदान में रहेंगे ये पार्टी पाताल में चली जाएगी।'

सचिन पायलट को दे रहे हैं दूसरा मौका: अविनाश पांडे
राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा, 'हम सचिन पायलट को दूसरा मौका दे रहे हैं, उनसे आज की विधायक दल की बैठक में भाग लेने के लिए कहा है। मुझे उम्मीद है कि आज सभी विधायक आएंगे और नेतृत्व को एकजुटता देंगे जिसके लिए राजस्थान के लोगों ने मतदान किया था। हम सभी राज्य के विकास के लिए काम करना चाहते हैं।'

हम बहुमत परीक्षण की मांग नहीं कर रहे हैं: सतीश पूनिया
राजस्थान भाजपा अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, 'कांग्रेस दावा करती रही है कि उनके नेता एकजुट हैं, लेकिन यह स्पष्ट है कि आंतरिक विवाद हैं, जिसके कारण, सचिन पायलट को अपमान का सामना करने के बाद पार्टी छोड़नी पड़ी। वर्तमान में हम बहुमत परीक्षण की मांग नहीं कर रहे हैं।'

सचिन पायलट के बैठक में शामिल होने पर संशय बरकरार
सचिन पायलट के आज की विधायक दल की बैठक में शामिल होना मुश्किल लग रहा है। उपमुख्यमंत्री के एक करीबी सूत्र का कहना है कि इस मामले के निपटारे के लिए हाईकमान की ओर से सही कदम नहीं उठाया गया है। हमें आश्वासन नहीं मिला है कि हमारी बातें सुनी जाएंगी या नहीं। सूत्रों की मानें तो पायलट ने संकेतों से साफ कर दिया है कि वो राज्य के नेतृत्व में बदलाव चाहते हैं और इससे कम पर वे नहीं मानेंगे।

पायलट के सीएलपी में शामिल होने की संभावना कम: सूत्र
कांग्रेस नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी वाड्रा और अहमद पटेल, पी चिदंबरम और केसी वेणुगोपाल ने कई बार सचिन पायलट से बात की है, लेकिन आज उनके विधायक दल की बैठक में शामिल होने की संभावना कम है। यह जानकारी सूत्रों ने दी।

कांग्रेस ने सचिन पायलट से की अपील

विधायक दल की बैठक से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अविनाश पांडे ने सचिन पायलट से बैठक में आने की अपील की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'मैं सचिन पायलट और उनके सभी साथी विधायकों से अपील करता हूं की वे आज की विधायक दल की बैठक में शामिल हों। कांग्रेस की विचारधारा और मूल्यों में अपना विश्वास जताते हुए कृपया अपनी उपस्थिति निश्चित करें व श्रीमती सोनिया गांधी जी व श्री राहुल गांधी जी के हाथ मजबूत करें।'

फेयरमोंट होटल में कसरत करते दिखे मंत्री और विधायक
राजस्थान के कैबिनेट मंत्री बीडी कल्ला और कांग्रेस विधायक रामनारायण मीणा, हाकम अली और गोपाल मीणा जयपुर के फेयरमोंट होटल में कसरत करते हुए नजर आए। होटल में ठहरने वाले राज्य मंत्रियों और कांग्रेस विधायकों ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आवास पर हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में भाग लिया था।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00