Hindi News ›   Chandigarh ›   Mohali ›   Animal owners came in protest against the team that went to catch an abandoned animal

लावारिस पशु पकड़ने गई टीम के विरोध में आए पशु मालिक

Mohali Bureau मोहाली ब्‍यूरो
Updated Fri, 04 Sep 2020 01:48 AM IST
Animal owners came in protest against the team that went to catch an abandoned animal
विज्ञापन
ख़बर सुनें
मोहाली। सेक्टर-71 में वीरवार को लावारिस पशुओं को पकड़ने पहुंची नगर निगम की टीम और पशु मालिक एक बार फिर आमने-सामने आ गए। हालांकि मौके पर पुलिस कंट्रोल के मुलाजिम पहुंचे तो उन्हें देखते ही पशु मालिक वहां से खिसक लिए। इसके बाद नगर निगम की टीम पशुओं को पकड़ नगर निगम की गोशाला ले गई।
विज्ञापन

इस मौके पर पहुंचे पीसीआर के एएसआई सुखविंदर सिंह ने कहा कि उन्हें फोन आया था कि सेक्टर-71 के कम्युनिटी सेंटर के सामने पशु पकड़ने आई नगर निगम की टीम का कुछ लोगों की ओर से विरोध किया जा रहा है। लोगों नगर निगम की टीम के मुलाजिमों को पशु पकड़ने से रोक रहे हैं। इसके बाद सूचना मिलने पर पुलिस टीम नगर निगम की टीम की सुरक्षा के लिए मौके पर पहुंच गई थी।

मिली जानकारी के मुताबिक वीरवार की दोपहर नगर निगम की टीम चीफ सेेनेटरी इंस्पेक्टर शाम लाल की अगुवाई में लावारिस पशुओं को पकड़ने गई थी। जब नगर निगम की टीम मटौर पहुंची तो मटौर के रहने वाले कुछ युवक भी वहां पर पहुंच गए। उन्होंने यहां पहुंचते ही पशु पकड़ने की कार्रवाई का विरोध शुरू कर दिया। इस दौरान युवक नगर निगम की टीम से उलझ गए, जबकि गांव के कुछ लोग नगर निगम की टीम के पक्ष में आ गए। इसके बाद दोनों पक्षों में बहसबाजी शुरू हो गई। इसी दौरान किसी ने पुलिस को सूचित कर दिया। जिसके बाद पुलिस की टीमें मौके पर पहुंच गई तो पुलिस को देखकर पशु मालिक मौके से खिसक लिए।
इस मौके पर पहुंचे पूर्व पार्षद अमरीक सिंह सोमल ने कहा कि कई दिनों से सेक्टर-70, 71 और गांव मटौर के लोग शिकायतें कर रहे थे। क्योंकि पशुओं की वजह से रोजाना लोगों को मुश्किल उठानी पड़ रही थी। जिसके बाद पशुओं को बुलाने के लिए उन्होंने टीम बुलाई थी। इस मौके नगर निगम की लावारिस पशुओं को पकड़ने वाली टीम के इंचार्ज शाम लाल ने बताया कि नगर निगम को शिकायत मिल रही थी कि लावारिस पशुओं के कारण इलाके में गंदगी फैलने के साथ दुर्घटनाएं हो रही हैं। जिसके बाद पशुओं को पकड़कर गोशाला भेजा गया।
बता दें कि लावारिस पशुओं के आतंक के मामले को अमर उजाला की ओर से भी गंभीरता से उठाया जा रहा है। बुधवार के अंक में लावारिस पशुओं के मामले को अमर उजाला ने गंभीरता से उठाया था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00