छत से गिर कर घायल हुए पूर्व फौजी ने अस्पताल में तोड़ा दम

अमर उजाला, लुधियाना Updated Tue, 28 Jan 2014 09:11 PM IST
dead
पतंग को लेकर बच्चों की लड़ाई में बीच बचाव कराने गए आरोपियों की ओर से छत से फेंके गए गांव ललतों कलां निवासी पूर्व फौजी धर्म देव (70) ने मंगलवार की सुबह निजी अस्पताल में दम तोड़ दिया। सूचना मिलने के बाद थाना सदर की पुलिस मौके पर पहुंची।

पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा कर परिजन को सौंप दिया है। इस मामले में पुलिस ने उसके पड़ोसी नितिश, बलराम, अमनदीप और दो अन्य पर  दर्ज हत्या के प्रयास मामले को हत्या के मामले में तबदील कर लिया है। पुलिस ने आरोपी नितीश को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अन्य अभी फरार चल रहे है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।
चौकी ललतों कलां के इंचार्ज एएसआई बलबीर सिंह ने कहा कि पूर्व फौजी धर्म देव का पोता अरविंद दो जनवरी को अपने घर की छत पर पतंग उड़ा रहा था।

इसी दौरान उसकी पतंग को लेकर आरोपी नितीश और अन्य आरोपियों से मारपीट हो गई। मारपीट के दौरान धर्मदेव छत पर बीच बचाव करने के लिए चले गए। इसी दौरान आरोपियों ने धर्मदेव को छत से धक्का देकर नीचे गली में गिरा दिया। जिससे धर्मदेव बुरी तरह से घायल हो गए और उन्हें इलाज के लिए निजी अस्पताल दाखिल कराया गया। इस मामले में पुलिस ने धर्मदेव की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया था। बीच में ठीक होने के बाद धर्मदेव की हालत फिर से खराब हो गई और उन्होंने मंगलवार की सुबह अस्पताल में दम तोड़ दिया। एएसआई बलवीर सिंह ने कहा कि अरविंद के बयान भी पुलिस ने दर्ज किए है। पुलिस नितीश के फरार साथियों का पता लगाने में जुटी हुई है और जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सरकारी बेरुखी ने बनाया इस गोल्ड मेडेलिस्ट को मजदूर

स्पेशल ओलिंपिक्स वर्ल्ड समर गेम्स-2015 में 2 स्वर्ण पदक विजेता 17 साल के चैंपियन साइक्लिस्ट राजबीर सिंह आजकल बदहाली में जी रहे हैं। राजबीर की ये बदहाली सरकार के खेलों को बढ़ावा देने के दावों की कलई खोल रही है।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls