विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम
Puja

मात्र 2 दिन शेष ,गंगा दशहरा पर कराएं गंगा आरती एवं दीप दान, पूरे होंगे रुके हुए काम

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पंजाबः गुरदासपुर में हिन्दू नेता पर बरसाईं ताबड़तोड़ 10 गोलियां, तीन महीने पहले हटाई गई थी सुरक्षा

पंजाब के गुरदासपुर जिले में कस्बा धारीवाल के डडवां रोड पर सोमवार देर शाम दो अज्ञात नौजवानों की ओर से शिवसेना हिंदुस्तान उत्तर भारत के यूथ विंग के प्रमुख हनी महाजन पर गोलियां चला दी। इसमें महाजन के साथी की मौत हो गई और वह गंभीर रुप से जख्मी हो गए

जानकारी के अनुसार सोमवार शाम लगभग पौने छह बजे हनी महाजन अपने साथी अशोक महाजन निवासी धारीवाल की दुकान पर बैठे थे। इसी दौरान दो अज्ञात नौजवान स्विफ्ट कार में आए और आते ही दोनों पर अंधाधुंध करीब दस फायर किए। इस फायरिंग में अशोक कुमार की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि हनी महाजन की टांगों पर चार गोलियां लगी।

वहीं फायरिंग के बाद आरोपी युवक अंधेरे का फायदा उठाकर मौके से फरार हो गए। आसपास के लोगों ने दोनों को सिवल अस्पताल गुरदासपुर में भर्ती करवाया जहां से हनी महाजन को एस्कॉर्ट अस्पताल अमृतसर रेफर कर दिया गया, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है।

घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी गुरदासपुर स्वर्णदीप सिंह अस्पताल पहुंचे और बाद में मौके का जायजा लेने के लिए धारीवाल गए। इसी दौरान कई अन्य संगठनों के लोग भी मौके पर पहुंचे जिसमें शिवसेना बाल ठाकरे के हरविंदर सोनी और रोहित महाजन शामिल थे।

वहीं आईजीपी बार्डर रेंज सुरेन्द्र पाल सिंह परमार ने बताया कि हनी महाजन अपनी दुकान बंद कर अशोक की दुकान पर चला गया था। अभी जांच चल रही है। हमलावर अज्ञात हैं लेकिन पुलिस गहनता से छानबीन कर सीसीटीवी कैमरे चैक कर रही है। पूरे जिले की नाकाबंदी कर दी गई है।

हनी महाजन को पिछले साल सुरक्षा उपलब्ध करवाई गई थी। फिर बाद में एजेंसियों की जांच के बाद सुरक्षा हटा ली गई थी। फिलहाल जांच करने के लिए वह खुद घटनास्थल पहुंच रहे हैं।
... और पढ़ें

अमृतसर में नशा तस्करों और एसटीएफ के बीच मुठभेड़, सात राउंड फायरिंग, फार्च्यूनर और हेरोइन बरामद

अमृतसर-अटारी बाईपास पर स्थित खन्ना पेपर मिल के नजदीक पाम विहार में बुधवार देर रात को हुई मुठभेड़ के बाद एसटीएफ ने तीन ड्रग्स तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं दो नशा तस्कर भागने में सफल हो गए। आरोपियों के पास से आधा किलो हेरोइन और फॉर्च्यूनर कार बरामद की गई। 

सूत्रों के अनुसार गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस बुधवार रात साढ़े आठ बजे पाम विहार कालोनी पहुंची। वहां उन्होंने कोठी नंबर 62 का दरवाजा खटखटाया। एक महिला बाहर आई और पुलिस को देखकर पीछे मुड़ गई। उसने भीतर बैठे तस्करों को पुलिस के बारे में बताया। इसके बाद तस्करों ने अंदर से पुलिस पार्टी पर फायरिंग करनी शुरू कर दी। 

इसके बाद पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग की। कुल सात राउंड फायर किए गए। इसके बाद मनी, पारस और साजन को गिरफ्तार कर लिया। वहीं मौके का फायदा उठाकर गंजा और जावेद फरार हो गए। सभी आरोपी किराये की कोठी में रहते थे। गंजा और जावेद की पुलिस को काफी समय से तलाश है। 

सीसीटीवी में कैद हुई मुठभेड़ :  
फरार नशा तस्करों द्वारा पुलिस पर की जा रही गोलीबारी पास स्थित कोठी में लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई है। पुलिस ने फुटेज को अपने कब्जे में लेकर आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। 
... और पढ़ें

194 किलो हेरोइन का मामलाः एसटीएफ ने अंकुश कपूर के घर से हेरोइन और केमिकल बरामद किया

एसटीएफ ने 194 किलोग्राम हेरोइन बरामदगी मामले के मास्टरमाइंड कपड़ा व्यापारी अंकुश कपूर से पूछताछ के बाद उसके हौली सिटी स्थित घर की तलाशी ली। इस दौरान अंकुश कपूर के बेडरूम की अलमारी में सवा तीन किलोग्राम हेरोइन और नशीले पदार्थों की मात्रा बढ़ाने के लिए प्रयोग किए जाना वाला केमिकल बड़ी मात्रा में बरामद हुआ। पॉश इलाके क्वींस रोड में कपडे़ के दो शोरूम का मालिक इस काले कारोबार में कैसे शामिल हुआ, इस बारे में एसटीएफ के अधिकारी कोई भी खुलासा नहीं कर रहे हैं।

एसटीएफ टीम ने मोहाली से अंकुश और उसके एक साथी हैप्पी को छह किलो हेरोइन के साथ अरेस्ट किया था। पूछताछ के दौरान अंकुश ने खुलासा किया था कि वह यह हेरोइन सुल्तानविंड में चल रही नशे की फैक्ट्री से लेकर आया था। एसटीएफ हेरोइन में अन्य नशीले पदार्थों की मिक्सिंग कर उसकी क्वांटिटी बढ़ाने वाले एक अफगान नागरिक अरमान से पूछताछ के दौरान दिल्ली में चल रहे नशे के काले कारोबार के बारे में जानकारी मिली है।

सहयोग देने के दावे करने वाला अनवर मसीह जांच से भागा  
सुल्तानविंड इलाके में स्थित जिस कोठी में नशे की फैक्ट्री चल रही थी उस कोठी का मालिक शिअद (बादल) का नेता अनवर मसीह दूसरे दिन भी एसटीएफ के सामने पेश नहीं हुआ। अनवर मसीह भूमिगत हो गया है। उसके महा सिंह गेट स्थित घर में एसटीएफ के कुछ जवान गए जहां भी वह नहीं मिला। जिस दिन एसटीएफ ने इस कोठी से नशे की फैक्ट्री से भारी मात्रा में हेरोइन और अन्य नशीले पदार्थ मिलने के बाद अनवर मसीह ने कहा था कि वह पुलिस को इस मामले में पूरा सहयोग करेंगे। उन्होंने इस कोठी को एक महीने पहले ही किराये पर दिया था। एसटीएफ ने किराये के दस्तावेजों के साथ पेश होने के लिए अनवर मसीह को समन भेजा था। उसके बाद से ही वह भूमिगत हो गया है।  
... और पढ़ें

पंजाब में नशा तस्करी: भारत-पाकिस्तान सीमा से आठ किलो 30 ग्राम हेरोइन और अफीम बरामद

पुलिस ने भारत-पाकिस्तान सीमा पर एक किसान के खेत में छुपाकर रखी 8 किलो 30 ग्राम हेरोइन और कुछ मात्रा में अफीम बरामद की है।  एसएसपी ध्रुव दहिया ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी कि भारत-पाकिस्तान सीमावर्ती गांव रतोके के किसान गुरलाल सिंह ने अपने कुछ साथियों की सहायता से अपने खेत में पाकिस्तानी तस्करों द्वारा भेजी गई हेरोइन दबा रखी है। 

पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए किसान गुरलाल सिंह के खेत से 8 किलो 30 ग्राम हेरोइन और 30 ग्राम अफीम बरामद की। एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने गुरलाल सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।


यह भी पढ़ें-
पाकिस्तानी की गुहार, 'मोदी साहब! मेरा कबूतर वापस कर दीजिए, मैं बहुत चाहता हूं', पढ़ें- मामला

गुरलाल सिंह पहले से भी गैस कटर से एक एटीएम मशीन काटने के मामले में पुलिस का वांछित था। उन्होंने बताया कि पुलिस गुरलाल सिंह का रिमांड प्राप्त कर इस मामले के अन्य आरोपियों को भी शीघ्र पकड़ेगी।
... और पढ़ें
हेरोइन और अफीम बरामद हेरोइन और अफीम बरामद

बड़ी वारदात: घर में घुसे तीन युवक, पिस्तौल दिखा परिवार को बंधक बनाया, 20 लाख लूटकर हुए फरार

अमृतसर में सुल्तानपुर रोड पर दिनदहाड़े तीन लुटेरों ने घर में घुसकर पिस्तौल के दम पर 20 लाख रुपये लूट लिए। आरोपी 15 मिनट में वारदात को अंजाम देकर फरार हो गए। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची थाना सुल्तानविंड पुलिस ने जांच शुरू कर दी। जानकारी के मुताबिक सुल्तानपुर रोड पर सोने का काम करने वाले व्यापारी के घर तीन युवक आए। 

सुनार के बेटे बबलू व टोनी के बारे में पूछताछ करते हुए वह घर में दाखिल हो गए। घर में घुसते ही उन्होंने पिस्तौल दिखाकर सुनार, उसकी पत्नी, बेटे और बेटी को बंधक बना लिया और चाबी लेकर तिजोरी से 20 लाख रुपये लूट लिए। वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। परिजनों ने किसी तरह पुलिस को सूचना दी।


यह भी पढ़ें-
पिता ने थमाई थी हॉकी, जुनून ने बनाया दुनिया का सितारा, पढ़ें- दिग्गज खिलाड़ी बलबीर सिंह की अनसुनी बातें

मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पीड़ित परिवार सोने का काम करता है और इनका काफी बड़ा व्यापार है। हो सकता है किसी ने बदले की भावना से वारदात को अंजाम दिया हो। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच की जा रही है।
... और पढ़ें

चरित्र पर शक में दो चचेरी बहनों को सरेराह काट डाला, ट्रैक्टर से टकराकर आरोपी भाई की भी मौत

चरित्र पर शक के कारण एक युवक ने अपने साथी के साथ मिलकर अपनी दो चचेरी बहनों को सरेराह तेजधार हथियारों से काट डाला। वारदात पट्टी-खारा लिंक रोड पर शनिवार बाद दोपहर हुई। वहीं हत्याकांड को अंजाम देने के बाद फरार होते समय युवतियों का भाई भी दुर्घटना का शिकार हो गया और उसकी भी मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने तीनों शवों को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार शनिवार दोपहर बाद रमनदीप कौर और अमनदीप कौर पट्टी से गांव कोट दाता की तरफ आ रही थी। इस दौरान उनके चचेरे भाई जोबन सिंह ने अपने अन्य रिश्तेदार के साथ दोनों पर तेजधार हथियार से हमला कर दिया। इस हमले में रमनदीप कौर की मौके पर ही मृत्यु हो गई जबकि अमनदीप कौर ने कुछ देर बाद दम तोड़ दिया। 


यह भी पढ़ें-
पंजाब: अमृतसर में कोरोना से बुजुर्ग की मौत, प्रदेश में 16 नए पॉजिटिव मिले, कुल 2045 लोग संक्रमित

थाना हरीके के प्रभारी इंस्पेक्टर जरनैल सिंह सराय ने बताया कि जोबन सिंह अपनी चचेरी बहनों के चरित्र पर शक करता था। इसी के चलते उसने अपनी चचेरी बहनों की हत्या कर दी। वहीं हत्याकांड को अंजाम देने के बाद जोबन सिंह जब अपने मोटरसाइकिल पर भाग रहा था तो उसका मोटरसाइकिल एक ट्रैक्टर से टकरा गया।

हादसे में जोबन सिंह की भी मौत हो गई। हालांकि डीएसपी कमलजीत सिंह ने कहा कि पुलिस को अभी तक मृतकों के परिजनों ने कोई बयान दर्ज नहीं करवाए हैं। उन्होंने कहा कि परिजनों के बयान के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। हालांकि पुलिस ने इस हत्याकांड में शामिल आरोपी निर्मल सिंह को गिरफ्तार कर लिया है।

ग्रामीणों ने पुलिस पर किया पथराव 
वहीं इस हत्याकांड से गुस्साए गांव वासियों ने पुलिस कर्मचारियों पर पक्षपात का आरोप लगाते हुए उनका घेराव किया। ग्रामीणों ने पुलिस कर्मचारियों पर हमला कर किया और पत्थर बरसाते हुए पुलिस वालों की कार को भी तोड़ दिया।
... और पढ़ें

अमृतसर में बड़ी वारदात, दिनदहाड़े बैंक कर्मियों को बंधक बनाया, 10.92 लाख लूट हथियारबंद फरार

हथियारबंद लुटेरे अमृतसर-फतेहगढ़ चूड़ियां रोड पर स्थित गांव सोहियां कलां में इंडस इंड बैंक की एक शाखा से 10 लाख 92 हजार 200 रुपये लूटकर फरार हो जाने का समाचार है। वारदात मंगलवार दोपहर एक बजे की गई। जानकारी मिलते ही मजीठा थाना की पुलिस बैंक पहुंची। पुलिस ने आसपास के इलाके सीलकर लुटेरों की तलाश में छापेमारी शुरू कर दी है। 

बैंक में मैनेजर समेत कुल चार कर्मचारी काम करते हैं। घटना के समय दो बैंक कर्मचारी फील्ड में बैंक खाते खोलने के लिए गए थे। बैंक के पास में ही शराब का ठेका भी है। बैंक शाखा में कोई भी सुरक्षा कर्मचारी तैनात नहीं था और न ही सीसीटीवी कैमरे लगे थे। बैंक मैनेजर करण शर्मा ने बताया कि जब वह दर्जा चार कर्मचारी लवप्रीत के साथ बैंक का कामकाज देख रहे थे, तब तीन लुटेरे हथियारों के साथ बैंक के भीतर दाखिल हुए। 

यह भी पढ़ें-
कैप्टन बोले- सभी गांवों में 2022 तक पाइप से होगी पानी की आपूर्ति, अभी 50 फीसदी घरों में ही कनेक्शन

लुटेरों ने पिस्तौल तानकर उनको रस्सी से बांध दिया। उसके बाद लुटेरे कैश काउंटर से नकदी लेकर बैंक के बाहर खड़ी सफेद कार में बैठकर फरार हो गए। लुटेरों के जाने के बाद उन्होंने शोर मचाया। शोर सुनकर शराब ठेके के कर्मचारियों ने उनकी रस्सियां खोलीं।

थाना मजीठा के इंचार्ज कपिल शर्मा का कहना है कि बैंक शाखा का पौने दो बजे उन्हें फोन आया था। इसमें उसने बताया की गन प्वाइंट पर तीन लुटेरे बैंक से कैश लूटकर ले गए हैं। उन्होंने बैंक मैनेजर के बयान पर मामला दर्जकर लिया है। जांच जारी है। यदि सुरक्षा के मापदंडों पर बैंक खरा न उतरा तो उसके विरुद्ध भी कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

बंधक बना दुष्कर्म का आरोप, गुरु ज्ञान नाथ आश्रम बाल्मीकि तीर्थ के मुख्य महंत समेत दो गिरफ्तार

कर्मचारी को बनाया बंधक।
गुरु ज्ञान नाथ आश्रम बाल्मीकि तीर्थ के मुख्य महंत गिरधारी नाथ और उसके एक साथी वरिंदर नाथ पर दुष्कर्म करने के आरोप लगे हैं। दोनों को दो महिलाओं को बंधक बनाकर उनसे दुष्कर्म करने के मामले में केस दर्ज करके गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार को आश्रम से महिलाओं को बरामद भी कर लिया।

महंत गिरधारी नाथ के दो साथी नछत्तर सिंह और सूरज नाथ मौके से फरार होने में सफल हो गए। डीएसपी (अटारी) गुरप्रताप सिंह ने बताया कि एससी आयोग चंडीगढ़ के सदस्य तरसेम सिंह स्यालका ने थाना लोपोके में एक लिखित शिकायत दी थी।

इसमें कहा गया था कि सीमावर्ती थाना लोपोके में ऐतिहासिक राम तीर्थ परिसर में स्थित गुरु ज्ञान नाथ आश्रम बाल्मीकि तीर्थ के मुख्य महंत गिरधारी नाथ और उसके चेलों ने मंदिर में दो महिलाओं को बंधक बनाकर रखा हुआ है। दोनों महिलाओं के साथ दुष्कर्म किया जा रहा है।

पुलिस ने आश्रम में छापे मार कर दोनों महिलाओं को बरामद कर लिया है। जो दो आरोपी फरार हुए हैं, उनकी गिरफ्तार के लिए छापे मारे जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार इन महिलाओं ने एक पत्र लिखकर इस मामले की जानकारी एससी कमीशन के सदस्य तरसेम सिंह को दी थी।
... और पढ़ें

बड़ी वारदात: युवक के दोनों हाथों पर दातर से किया हमला, एक कटकर गिरा, दूसरा कलाई से लटका

एतिहासिक कस्बा चविंडा देवी में रविवार देर रात गेहूं की अनलोडिंग कर लौट रहे दो भाइयों पर छह बदमाशों ने हमला कर दिया। आरोपियों ने एक युवक बंटी के हाथों पर दातर से वार किया। इसमें उसका एक हाथ कलाई से पूरा कट गया। वहीं दूसरा हाथ कलाई से कटकर लटक गया। वारदात के बाद आरोपी मौके पर एक मोटरसाइकिल छोड़कर फरार हो गए। 

पुलिस ने घटनास्थल से मोटरसाइकिल को बरामद किया है, जो एक पुलिसकर्मी की बताई जा रही है। घायल बंटी को अमृतसर के एक निजी अस्पताल में दाखिल करवा दिया गया है। जहां डॉक्टरों ने उसके हाथों का ऑपरेशन कर दिया है। बंटी की हालत स्थिर है। बंटी के छोटे भाई ने बताया कि घटना के समय वह बंटी के साथ था। 


इसे भी पढ़ें-
न बैंड-न बाजा, यहां बुलेट पर दुल्हन लाए दू्ल्हे राजा, पुलिसवालों ने दिया शगुन

वह गेहूं की अनलोडिंग करने के बाद पेट्रोल पंप से ट्रैक्टर में डीजल भरवाने के बाद लौट रहे थे। रास्ते में बदमाशों ने उन दोनों को घेर लिया। तीन बदमाशों ने बंटी पर और तीन ने उस पर हमला किया। वह भाग खड़ा हुआ। बंटी पर तेजधार दातर से हमला किया गया जिससे वह जमीन पर गिर गया। बाद में आरोपियों ने उसके हाथों को दातर से काट दिया। मौके से भागते हुए सभी बदमाश धमकियां दे रहे थे। लोगों की मदद से बंटी को निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया। उसके अनुसार हमला करने वाले तीन बदमाश इसी कस्बे के हैं। उन्होंने पुलिस को इसकी जानकारी दे दी है। इनके नाम राहुल, भारत और साहिल हैं। 
... और पढ़ें

देश में पाकिस्तानी आतंकियों को ड्रग्स, हथियार पहुंचाने वाला कुख्यात तस्कर रणजीत सिरसा से गिरफ्तार

भारत में घुसे पाकिस्तान के आतंकियों के लिए ड्रग्स पहुंचाने वाला कुख्यात तस्कर रणजीत सिंह और उसके भाई गगनदीप उर्फ भोला को पंजाब पुलिस ने हरियाणा पुलिस तथा एनआईए के साथ संयुक्त अभियान में शनिवार अलसुबह सिरसा के बेगू गांव के एक मकान से धर दबोचा। उनके मददगार और रिश्तेदार गांव वैदवाला निवासी गुरमीत को भी सिरसा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब पुलिस के सफल ऑपरेशन पर पंजाब पुलिस की पीठ थपथपाई और डीजीपी दिनकर गुप्ता को बधाई दी। पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि उन्होंने हरियाणा के डीजीपी मनोज यादव से शुक्रवार देर रात इस जानकारी को साझा किया। इसके बाद पुलिस टीम को गांव बेगू के लिए रवाना कर दिया गया। पुलिसकर्मियों ने इस ऑपरेशन को दो टीमें बनाकर अंजाम दिया। 

उन्होंने बताया कि पंजाब पुलिस को अमृतसर में पांच मई को गिरफ्तार विक्रम उर्फ विक्की और उसके भाई मनिंदर सिंह उर्फ मनी से पूछताछ में रणजीत उर्फ चीता और उसके भाई गगनदीप उर्फ भोला के संबंध में जानकारी मिली थी। फिर इस संबंध में एनआईए की मदद से आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाई गई। उनकी लोकेशन सिरसा में पता लगाने के बाद संयुक्त ऑपरेशन में दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।

... और पढ़ें

पंजाब: लुधियाना में लिव इन में रहे व्यक्ति ने महिला को मार डाला, खेमकरण में प्रेमी जोड़े की हत्या

गांव धांधरा के खेतों में पांच दिन पहले मिले महिला के शव की पहचान शकीला बीबी के रूप में हुई है। उसकी मौत प्राकृतिक नहीं बल्कि लिव इन रिलेशन में रहने वाली व्यक्ति ने हत्या करने के बाद शव को खेतों में फेंक दिया था।

इस बात का खुला उस समय हुआ जब खेत मालिक को पता चला कि महिला गगन सीमेंट स्टोर के ऊपर बने कमरे में किराए पर मोहम्मद रिवानी के साथ लिव-इन रिलेशन में रह रही थी। उस व्यक्ति के साथ अक्सर उसका विवाद रहता था और उसी ने इसकी हत्या की है। पुलिस ने झारखंड के इतवा निवासी मोहम्मद रिवानी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है। 

थाना डेहलों के इंचार्ज इंस्पेक्टर सुखदेव सिंह ने बताया कि गांव धांधरा निवासी सुखराज सिंह पांच दिन पहले अपने खेतों में काम से गया था। वहां महिला का शव देख उसने इसकी जानकारी पुलिस को दी। जब वह गांव से गुजर रहा था तो किसी व्यक्ति न उसे बताया कि उक्त महिला आरोपी मोहम्मद रिवानी के साथ लिव-इन रिलेशन में रह रही थी। उसी के साथ उसका विवाद था।

दोनों में अक्सर मारपीट होती थी। उसी ने ही हत्या की हो सकती है। इंस्पेक्टर सुखदेव ने बताया कि हत्या गला दबा कर की गई है या फिर जहरीला पदार्थ देकर, यह पोस्टमार्टम के दौरान ही पता चल सकेगा। महिला के परिजनों को इसकी जानकारी दे दी गई है। उनके आने के बाद ही पोस्टमार्टम कराया जाएगा। आरोपी की तलाश में छापे मारे जा रहे हैं। जल्द ही आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 
... और पढ़ें

पंजाब: मजीठा में कांग्रेस सरपंच के पति की हत्या, फिरोजपुर में बेटे ने बाप को मार डाला

मजीठा विधानसभा हलके के गांव तरगढ़ की कांग्रेस सरपंच मंजीत कौर के पति निरंकार सिंह उर्फ भाऊ का सोमवार देर रात तेजधार हथियारों से कत्ल कर दिया गया। निरंकार सिंह सोमवार देर रात दवाई लेने के लिए अपने घर से निकले थे।

घटनास्थल पर पहुंचे एसएचओ मजीठा गुरिंदर सिंह ने बताया कि थाने में फोन आया था कि खून से लथपथ लाश तरगढ़ की तरफ जाने वाली सड़क पर पड़ी हुई है। वह पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के भेज दिया है। 

पुलिस ने निरंकार सिंह के भाई सुरजीत सिंह की शिकायत पर अज्ञात हत्यारों के विरुद्ध मामला दर्जकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के इलाके को घेर कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। मृतक मजीठा में फोटोग्राफी की दुकान करता था।  

वहीं, घटनास्थल पर पहुंचे जिला कांग्रेस (देहात) अध्यक्ष भगवंत सिंह सच्चर ने बताया कि निरंकार सिंह टकसाली कांग्रेसी परिवार से थे। कुछ अज्ञात लोगों ने सोमवार रात उसका उनका कत्ल कर दिया। उन्होंने दावा किया कि निरंकार सिंह की किसी के साथ भी राजनीतिक दुश्मनी नहीं थी। कातिलों ने निरंकार का बेरहमी से कत्ल किया है। उनके मुंह पर तेजधार हथियारों से इतने वार किए गए हैं कि उनको पहचानना मुश्किल हो रहा था।
... और पढ़ें

विजिलेंस ने रिश्वत लेते दो एएसआई दबोचे, आरोपी को छोड़ने के लिए मांगे थे 15 हजार

विजिलेंस ब्यूरो ने एंटी नारकोटिक्स सेल में तैनात दो एएसआई को एक व्यक्ति से 15 हजार की रिश्वत मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान तिलक सिंह व परगट सिंह के रूप में हुई है। विजिलेंस ब्यूरो ने इन दोनों थानेदारों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गुरदित सिंह को नशीले पदार्थों की खेप के साथ आरोपी दोनों एएसआई ने कुछ समय पहले गिरफ्तार किया था। 

पुलिस ने उससे 200 नशीली गोलियां बरामद की थी। गुरिंदर सिंह पर एंटी नारकोटिक्स सेल ने मामला दर्ज किया था। गुरिंदर की गिरफ्तारी के बाद उसका दोस्त राजेश बब्बर और भाई गुरप्रीत सिंह एंटी नारकोटिक्स सेल में केस के सिलसिले में जाते थे।

यहीं पर उनकी मुलाकात एएसआई तिलक सिंह व परगट सिंह से हुई। दोनों एएसआई ने बब्बर को धमकी दी की वह अदालत से गुरिंदर का रिमांड लेकर उस पर नशे की और बड़ी खेप डाल देंगे। इसके बाद राजेश व गुरप्रीत ने दोनों एएसआई के साथ बातचीत कर 15 हजार रुपये की रिश्वत तय की। इसी दौरान राजेश ने विजिलेंस ब्यूरो के साथ संपर्क स्थापित कर पूरे मामले की जानकारी दी। बुधवार की सुबह जब बब्बर इन दोनों को तय रिश्वत की राशि देने के लिए गया तो विजिलेंस अधिकारियों ने उन्हें अरेस्ट कर लिया।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन