लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन

9/11 Attack: अब भी गिरफ्त से दूर हैं कई आतंकवादी, देखें दुनिया के मोस्ट वांटेड आतंकवादियों की सूची

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Tanuja Yadav Updated Fri, 11 Sep 2020 01:42 PM IST
वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला:
1 of 8
आज 11 सितंबर है और यह दिन अमेरिका ही नहीं बल्कि दुनिया के इतिहास में आतंक का सबसे भयावह दिन माना जाता है। इस दिन न्यूयॉर्क की शान कहे जाने वाले वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमला हुआ था और सैंकड़ों लोग इस हादसे में मारे गए थे। उस समय अल कायदा आतंकवादी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी।

अमेरिका दुनिया का सबसे ताकतवर देश माना जाता है लेकिन 11 सितंबर 2001 ऐसा दिन था, जिसे अमेरिका की जड़े हिला दी थीं। इसलिए भयावह इसलिए कहा जाता है क्योंकि इस तरीके का हमला उससे पहले कभी नहीं हुआ था। हम हमले को अंजाम देने के लिए आतंकवादियों ने चार यात्री विमानों को कब्जे में लिया और दो विमान ट्रेड सेंटर से टकरा दिए।

तीसरा विमान पेंटागन पर और चौथे विमान को जंगल में गिरा दिया। आतंकवादियों का डर अभी भी दुनिया में बना हुआ है, ओसामा बिन लादेन के मरने के बाद भी आतंकवादी गतिविधियों में कोई कमी नहीं आई है। आइए आज 9/11 की बरसी पर जानते हैं कि दुनिया के मोस्ट वान्टेड आतंकवादी कौन हैं...
आयमान अल-जवाहिरी
2 of 8
आयमान अल-जवाहिरी
अमेरिका के रिवॉर्ड्स फॉर जस्टिस (RFJ) प्रोग्राम के तहत आतंकी आयमान अल-जवाहिरी मोस्ट वान्टेड की सूची में सबसे ऊपर है। आरएफजे ने जवाहिरी के सिर पर 25 मिलियन डॉलर, यानि कि करीब 177.35 करोड़ रुपये का ईनाम रखा है। आरएफजे के अनुसार, जवाहिरी अभी अलकायदा आतंकी संगठन का प्रमुख है।

7 अगस्त 1998 को केन्या और तंजानिया में अमेरिकी दूतावास बस विस्फोट में उसकी बड़ी भूमिका थी। इस हमले में 224 आम नागरिक मारे गए थे और पांच हजार से ज्यादा लोग घायल हुए थे। इसके अलावा 12 अक्तूबर 2000 को यमन में अमेरिकी नाविकों पर हमला और 11 सितंबर 2001 को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हुए हमले में भी जवाहिरी की भूमिका रही।
विज्ञापन
हाफिज सईद
3 of 8
हाफिज सईद
हाफिज सईद खासकर भारत में कई आतंकी हमलों को अंजाम देने वाला मास्टरमाइंड है। आरएफजे ने हाफिज सईद पर 10 मिलियन डॉलर यानि कि करीब 71 करोड़ रुपये का ईनाम रखा है। इसके बावजूद हाफिज सईद खुलेआम घूम रहा है और जनसभाओं को संबोधित कर रहा है।

आरएफजे के अनुसार हाफिज मोहम्मद सईद पहले अरेबिक और इंजीनियरिंग का प्रोफेसर था। वह इस्लामिक संगठन जमात-उद-दवा और इसकी शाखा लश्कर-ए-तैयबा का संस्थापक सदस्य भी है। हाफिज सईद 2008 में मुंबई अटैक सहित कई हमलों का संदिग्ध मास्टरमाइंड है।
सिराजुद्दीन हक्कानी
4 of 8
सिराजुद्दीन हक्कानी
सिराजुद्दीन हक्कानी आतंकवादी समूह हक्कानी नेटवर्क का प्रमुख है। ये आतंकवादी समूह अफगानिस्तान को फिर से तालिबानी शासन के अधीन लाना चाहता है। आरएफजे की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार हक्कानी ने खुद ये माना है कि उसने 2008 में अफगानिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति हामिद करजई पर हमले की योजना बनाई थी। सिराजुद्दीन हक्कानी के सिर पर भी करीब 71 करोड़ रुपये का ईनाम रखा गया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
अब्दुल्लाह अहमद अब्दुल्लाह
5 of 8
अब्दुल्लाह अहमद अब्दुल्लाह
यह अलकायदा का बड़ा नेता है और इसके नेतृत्व परिषद मजलिस अल-शूरा का सदस्य भी है। 2003 में अब्दुल्लाह अहमद अब्दुल्लाह को ईरान में गिरफ्तार कर लिया गया था लेकिन 2015 में ईरानी राजनयिक के बदले अन्य आतंकियों के साथ अब्दुल्लाह अहमद अब्दुल्लाह को भी छोड़ दिया गया।

अमेरिकी एजेंसी के अनुसार, अब्दुल्लाह अलकायदा का अनुभवी वित्तीय अधिकारी और ऑपरेशनल प्लानर है। उसके सिर पर भी 71 करोड़ रुपये का ईनाम है।
विज्ञापन
अगली फोटो गैलरी देखें
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00