ओएलएक्स से खरीदें या बेचें मगर ध्यान से, एक्सपर्ट के अनुसार इन बातों को रखेंगे ध्यान तो बच सकते हैं धन हानि से

विज्ञापन
Nirmala Suyal न्यूज डेस्क, अमर उजाला, देहरादून Published by: Nirmala Suyal Nirmala Suyal
Updated Mon, 22 Feb 2021 10:11 AM IST
ओएलएक्स की जरिए ठगी
ओएलएक्स की जरिए ठगी - फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
अगर आप पुराना सामान खरीदने और बेचने के लिए ओएलएक्स का इस्तेेमाल कर रहे हैं तो बेहद चौकन्ना रहने की रहने की जरूरत है। इन दिनों ठगों ने ओएलएक्स पर भी अपना जाल बिछाया हुआ है, जिसके माध्यम से साइबर ठग लोगों की गाढ़ी कमाई ठग लेते हैं। राजधानी दून में बीते एक साल से इस तरह के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। 
विज्ञापन


साइबर क्राइम : हर चौथे घंटे एक व्यक्ति हो रहा शिकार, देहरादून में तीन साल में कई गुना बढ़े मामले


एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि ओएलएक्स पर ठगी भी लिंक या क्यूआर कोड के माध्यम से की जाती है। ऐसे में यदि लोग थोड़ा भी इस पर ध्यान दें तो ठगी से बचा जा सकता है।
 
इसके लिए साइबर थाने या साइबर सेल को तत्काल जानकारी दिए जाने पर ठगी में हुए नुकसान से भी थोड़ा बचा जा सकता है। साइबर थाने की ओर से लगातार जागरूकता के लिए फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया पर सामग्री अपलोड की जा रही है। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

सेना का अधिकारी बन करते हैं ठगी 

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X