लॉन्च होते ही थम गई अखिलेश की एंबुलेंस

मनीष कुमार सिंह/अमर उजाला, लखनऊ Updated Mon, 20 Jan 2014 09:00 AM IST
network failure stops 108 and 102 wheels
बीएसएनएल के भूमिगत केबल (पीआरआई लाइन) में फाल्ट आने से पूरे प्रदेश में 108 और 102 समाजवादी एंबुलेंस सेवा पूरी तरह ठप हो गई।

नेटवर्क में खराबी के चलते सुबह से ही 108 और 102 एंबुलेंस सेवा की सुविधा लेने के लिए फोन करने वाले लोगों को परेशान होना पड़ा।

नेटवर्क में गड़बड़ी के बाद एंबुलेंस सेवा के कर्मचारी बीएसएनएल के दफ्तर पहुंचे जहां करीब नौ घंटे की मशक्कत के बाद लाइन को शुरू कराया जा सका।

रविवार को अचानक बीएसएनएल की भूमिगत नेटवर्क लाइन (प्राइमरी इंटरफेस लाइन पीआरआई) में दिक्कत आने से 108 और 102 एंबुलेंस सेवा पूरी तरह ठप हो गई।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक सुबह चार बजे बीएसएनएल के आलमबाग एक्सचेंज में अचानक गड़बड़ी आ गई जिसके बाद जीवीके-ईएमआरआई कंपनी के आशियाना स्थित 108 और 102 एंबुलेंस सेवा के कॉल सेंटर पर कॉल आनी बंद हो गई।

कंपनी के अधिकारियों ने इसकी सूचना एक्सचेंज को दी जिसके बाद सुबह पांच बजे गड़बड़ी दूर कर ली गई। कुछ घंटे कॉल आने के बाद सुबह साढ़े सात बजे पूरा नेटवर्क बैठ गया और प्रदेश भर से कॉल आनी बंद हो गई।

इसकी सूचना फिर से कर्मचारियों ने एक्सचेंज को दी लेकिन गड़बड़ी दूर नहीं की जा सकी। उसके बाद 108 एंबुलेंस सेवा की आईटी टीम मौके पर पहुंची और एक्सचेंज कर्मचारियों के साथ गड़बड़ी को दूर करने की कोशिश करने लगे।

लेकिन किसी बड़ी तकनीकी खराबी के चलते उसे काफी मशक्कत के बाद भी ठीक नहीं कराया जा सका। इसके बाद शाम करीब चार बजे बीएसएनएल अधिकारियों और आईटी एक्सपर्ट की टीम मौके पर पहुंची।

जिसके बाद गड़बड़ी को दूर किया जा सका। 108 सेवा से मिली जानकारी के मुताबिक रोजाना 108 एंबुलेंस सेवा के लिए एक दिन में पांच हजार से छह हजार कॉल आती हैं लेकिन लाइन ठप रहने से ये आंकड़ा सैकड़ों में पहुंच गया।

वहीं बीएसएनएल की गड़बड़ी के चलते हजारों मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ा। कॉल सेंटर पर कॉल न आने से गंभीर मरीजों को अस्पताल में भर्ती कराने के लिए उनके तीमारदारों को निजी एंबुलेंस का सहारा लेना पड़ा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

संघर्ष से लेकर यूपी के डीजीपी बनने तक ऐसा रहा है ओपी सिंह का सफर

कई दिनों के इंतजार के बाद ओपी सिंह ने आखिरकार उत्तर प्रदेश के डीजीपी पद का भार संभाल लिया। पद ग्रहण करने के बाद डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि अपराधी सामने आएंगे, गोली चलाएंगे तो पुलिस उनसे निपटेगी।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls