RSS चीफ पर मायावती का हमला-स्वयंसेवकों पर भरोसा है तो कमांडो क्यों ले रखें हैं?

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, लखनऊ Updated Tue, 13 Feb 2018 06:04 PM IST
mayawati demanded an apology from rss chief mohan bhagwat on his statement on the indian army
बसपा सुप्रीमो मायावती - फोटो : amar ujala
बसपा सुप्रीमो मायावती ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा सेना की तुलना स्यवंसेवकों से करने पर आपत्ति जाहिर की है। मंगलवार को एक बयान जारी कर उन्होंने कहा कि मोहन भागवत को अपने मिलिटेंट स्वयंसेवकों पर इतना ज्यादा भरोसा है तो उन्हें सुरक्षा के लिए सरकारी खर्चे पर विशेष कमांडो क्यों ले रखे हैं? 
गौरतलब है कि आरएसएस प्रमुख ने मुजफ्फरनगर में स्वयंसेवकों की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि हम सैन्य संगठन नहीं हैं, मगर सेना जैसा अनुशासन हमारे अंदर है। अगर देश को जरूरत पड़े और देश का संविधान, कानून कहे तो सेना तैयार करने में छह-सात महीने लग जाएंगे। संघ के स्वयंसेवकों को लेंगे तो तीन दिन में तैयार हो जाएंगे। ये हमारी क्षमता है।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि ऐसे समय में जब सेना को विभिन्न प्रकार की चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, मोहन भागवत का बयान सेना के मनोबल को गिराने वाला है। इसकी इजाजत उन्हें नहीं दी जा सकती। मायावती ने आरएसएस प्रमुख से अपने बयानबाजी के लिए देश से मांफी मांगने को कहा है।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि आरएसएस अब सामाजिक संगठन न रहकर राजनैतिक संगठन में तब्दील होता जा रहा है, जो बीजेपी की चुनावी राजनीति करने में व्यस्त नजर आता है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bihar

तेज प्रताप ने छोड़ा सरकारी बंगला, नीतीश पर लगाया 'भूत' छोड़ने का आरोप

भूत की वजह से तेज प्रताप यादव ने खाली किया अपना सरकारी बंगला।

22 फरवरी 2018

Related Videos

सीएम योगी आदित्यनाथ ऐसे करेंगे बुंदेलखंड का विकास

राजधानी लखनऊ में दो दिनों तक चले इन्वेस्टर्स समिट में सीएम योगी आदित्यनाथ ने बुंदेलखंड के विकास का खाका खींचा और बताया कि वे कैसे यूपी के विकास के लिए काम कर रहे हैं।

23 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen