बच्चों की बिगड़ती सेहत के लिए मोटापा नहीं है जिम्मेदार

अमर उजाला नेटवर्क Updated Tue, 23 Jun 2015 05:07 PM IST
Children’s Fitness Levels in Decline and Obesity Not the Cause
बच्चों का फिटनेस लेवल पहले की अपेक्षा तेजी से कम हो रहा है। यूनिवर्सिटी ऑफ एसेक्स के एक अध्ययन में यह बात सामने आई है।

खास बात यह है कि खराब फिटनेस के लिए अब बच्चों में मोटापे को जिम्मेदार नहीं माना जा रहा है।
ताजा रिसर्च में 2009 में की गई एक स्टडी को आधार बनाया गया है। रिसर्च के मुताबिक बीते 10 सालों में बच्चों के फिटनेस लेवल में आठ प्रतिशत तक गिरावट हुई है।

शोधकर्ताओं का कहना है कि पहले के मुकाबले अब बच्चे ज्यादा पतले होते हैं। विशेषज्ञों की मानें तो अब पांच प्रतिशत से भी कम स्कूली बच्चे मोटापे का शिकार हैं और उनका बीएमआई का स्तर पहले के मुकाबले काफी कम है।

इसके बावजूद आजकल के बच्चे तेज नहीं दौड़ पाते हैं। इसके लिए कार्डियो-रेस्पिरेटरी समस्याओं को जिम्मेदार माना जा रहा है।

प्रमुख शोधकर्ता गैविन सैंडरकॉक के अनुसार बीएमआई कम होना अच्छा है, लेकिन फिटनेस का स्तर कम होना ठीक नहीं है।

शोधकर्ताओं को उम्मीद थी कि मोटापे से ग्रस्त बच्चों की अपेक्षा कम बीएमआई वाले बच्चों की फिटनेस बेहतर होगी। लेकिन, ताजा रिसर्च में उन्हें ऐसा कुछ हाथ नहीं लगा।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all Lifestyle Tips in Hindi related to health tips, facts, ideas, tasty recipes in Hindi & healthy life style etc. Stay updated with us for all breaking news from Lifestyle and more Hindi News.

Spotlight

Most Read

Healthy Food

रोजाना के खानपान में अगर ये बदलाव हो जाएं तो कभी नहीं बढ़ेगा वजन

वजन को नियंत्रित करने के लिए लोग अलग-अलग नुस्‍खें आजमाते हैं। कभी खाना छोड़ते हैं, तो कभी व्यायाम की मदद लेते हैं।

7 जनवरी 2018

Related Videos

घर पर बनाएं स्ट्रीट स्टाइल वेज चाऊमीन, उंगलियां चाटते रह जाएंगे खाने वाले

चाइनीज खाने को पसंद करने वाले लाखों लोगों के लिए हम लेकर आए हैं चाऊमीन की जबरदस्त रेसिपी।

9 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper