बडगाम हादसे में कोई नहीं बचा, सभी शव बरामद

अमृतपाल सिंह बाली/अमर उजाला, श्रीनगर Updated Sun, 05 Apr 2015 12:43 AM IST
16 dead in budgam incident, all bodies recovered
ख़बर सुनें
मध्य कश्मीर के बडगाम जिले में पांच दिन पहले हुए भूस्खलन में मारे गए 16 लोगों में से 15 शव ही बरामद हो पाए थे। आखिरी शव को मलबे के नीचे से निकालने का कार्य लगातार पुलिस और स्थानीय लोगों द्वारा जारी था, जिसके चलते आखिरकार सफलता हाथ लगी और शनिवार को 6 वर्ष के फैसल अहमद का शव बरामद किया गया। इसके साथ अबतक सभी 16 शव बरामद हो गए।
गौरतलब है कि 30 मार्च की सुबह लादेन गांव में जमीन खिसकने से इलाके के लाल दीन हजाम उर्फ लाला हजाम के पांच मकान भूस्खलन की चपेट में आ गए थे, जिसके कारण परिवार के 16 लोग मलबे तले दब गए। मौके पर पहुंची पुलिस, सेना, सीआरपीएफ और जिला प्रशासन के कर्मचारियों ने स्थानीय लोगों की सहायता से 15 शव तो निकाल लिए थे लेकिन आखिरी शव हाथ नहीं आया था, जिसको तलाशने का कार्य तबसे जारी था।

घटना में मरने वालों के नाम

* मोहम्मद शाहबान हजाम (22 वर्ष)
* नसीमा बानो (14 वर्ष)
* शमीजा बानो (9 वर्ष)
* रुकसाना बानो (21वर्ष)
* मोहम्मद असलम (22 दिन)
* गुलाम नबी हजाम (45 वर्ष)
* जेना बेगम (40 वर्ष)
* रेयाज अहमद हजाम (22 वर्ष)
* नसीमा अख्तर (18 वर्ष)
* शाहिदा बानो (16 वर्ष)
* शगुफ्ता बानो (15 वर्ष)
* फरीदा बानो (14 वर्ष)
* बिलाल अहमद हजाम (13 वर्ष)
* मोहम्मद इकबाल हजाम (12 वर्ष)
* बिस्मा बानो (9 वर्ष)
* फैसल अहमद (6 वर्ष)

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Agra

अगले 48 घंटे रहें सावधान, फिर तबाही मचा सकता है तूफान

मौसम विभाग ने फिरोजाबाद जिले में आगामी 48 घंटों के अंदर आंधी-तूफान आने का अनुमान जताया है। इसके मद्देनजर जिला प्रशासन ने लोगों से सतर्क रहने की हिदायत दी है।

24 मई 2018

Related Videos

60 सेकेंड में जाने एशिया की सबसे बड़ी सुरंग जोजिला टनल के बारे में

जम्मू-कश्मीर में एशिया की सबसे बड़ी टनल यानि कि जोजिला टनल दुनिया की चंद सबसे बड़ी परियोजनाओं में शामिल है। इस परियोजना का मकसद कश्मीर घाटी और लद्दाख के बीच हर मौसम में संपर्क बनाए रखना है। देखिए आखिर क्यों खास है ये टनल।

19 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen