राष्ट्रपति चुनाव के दिन केजरीवाल के सुर बदले, बोले- विधायक सुनें अंतर आत्मा की आवाज

ब्यूरो/अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Tue, 18 Jul 2017 01:24 PM IST
kejriwal stand on president election seemed to change before voting
विधानसभा में सोमवार को राष्ट्रपति चुनाव के लिए जनप्रतिनिधियों ने वोट डाले। विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल समेत उनके मंत्रिमंडल के सभी सहयोगी व आम आदमी पार्टी (आप) और नेता प्रतिपक्ष विजेेंद्र गुप्ता ने मताधिकार का प्रयोग किया।
खास बात यह कि वोट देने के बाद केजरीवाल के सुर बदल गए। पार्टी के यूपीए उम्मीदवार के समर्थन करने के फैसले के उलट उन्होंने कहा कि विधायकों को अंतरआत्मा की आवाज पर वोट देना चाहिए।

वोट डालने के बाद अरविंद केजरीवाल ने कहा कि चुनाव में जिसके पास संख्या होती है, वही जीतता है। आप ने मीरा कुमार को समर्थन करने का फैसला किया है। आप विधायकों को अपनी अंतरआत्मा की आवाज सुननी चाहिए।

वहीं, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि देश के सर्वोच्च पद के लिए वोट करना गर्व की बात है। चुनाव में देश को जीतना चाहिए। क्रॉस वोटिंग से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि यह देखना होगा कि कौन किसके पक्ष में लोकतांत्रिक मूल्यों को जगह देगा?
        
मुख्यमंत्री की टिप्पणी पर नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि केजरीवाल ने अपने विधायकों को इशारा कर दिया है कि वह अपनी आत्मा की आवाज सुनें। आप में कोई उत्साह नहीं है। दूसरे राज्यों से भी जो रिपोर्ट आ रही है, उसमें एनडीए उम्मीदवार के पक्ष में क्रास वोटिंग हो रही है।

गुप्ता ने दिल्ली में भी 10-12 विधायकों के क्रास वोटिंग की आशंका जताई। बता दें कि आप के राजनीतिक मामलों की समिति ने फैसला किया था कि वह यूपीए उम्मीदवार को समर्थन करेंगे। इसके लिये पार्टी ने विधायकों को निर्देश भी दिया था। बावजूद इसके वोटिंग के वक्त मुख्यमंत्री ने विधायकों से अंतरआत्मा की आवाज सुनने की अपील की ।

आप की नीतियों के विरोध में नहीं दिया वोट : सेहरावत    
70 सदस्यीय दिल्ली विधानसभा के 69 विधायकों में से 67 ने राष्ट्रपति चुनाव में वोट डाला। निगम चुनाव से पहले बवाना के आप विधायक के भाजपा में शामिल होने से यह सीट खाली है।

इस पर चुनाव होना है। वहीं, आप विधायक सौरभ भरद्वाज विदेश में हैं। जबकि निजी वजहों से बिजवासन विधायक देवेंद्र सेहरावत ने वोट नहीं डाला। आप के 63 और भाजपा के 4 विधायकों ने अपने मत का प्रयोग किया।

देर शाम देवेंद्र सेहरावत ने मीडिया में अपना बयान जारी किया। उनका कहना था कि आप की नीतियों के विरोध में उन्होंने वोट नहीं दिया। उनका आरोप है कि 54 करोड़ रुपये के उनके इलाके के एक प्रोजेक्ट को दिल्ली जल बोर्ड ने लटका रखा है।

जबकि पिछले हफ्ते प्रोटोकाल होने के बावजूद उनके इलाके में उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के एक कार्यक्रम में उन्हें नहीं बुलाया गया। इसी तरह विकास कार्यों से जुड़ी दूसरे प्रोजेक्ट में रोड़ा अटकाने का सेहरावत ने आरोप लगाया है।
आगे पढ़ें

10-12 विधायकों ने की होगी क्रॉस वोटिंग!  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Bulandshahar

दसवीं पास आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनेंगी मुख्य सेविका

दसवीं पास आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनेंगी मुख्य सेविका

22 फरवरी 2018

Related Videos

दिल्ली में बीजेपी और आप ने एक दूसरे के खिलाफ खोला मोर्चा

दिल्ली में आम आदमी पार्टी और आप नेताओं के बीच मारपीट की घटना के बाद आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता और बीजेपी के कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया।

22 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen