लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttarakhand ›   Dehradun ›   Uttarakhand News: Nagaland woman arrested along with Nigerian for cheating 27 lakhs Rupees

Uttarakhand: 27 लाख की ठगी में नाइजीरियन के साथ नागालैंड की महिला गिरफ्तार, खुद को बताया था आरबीआई का अधिकारी

संवाद न्यूज एजेंसी, नई टिहरी Published by: अलका त्यागी Updated Thu, 22 Sep 2022 08:06 PM IST
सार

एसएसपी नवनीत सिंह ने बताया कि लाखों रुपये की ठगी को लेकर घनसाली थाना पुलिस में 10 नवंबर 2021 को एनजीओ संचालक लक्ष्मी प्रसाद सेमवाल ने एक रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

धोखाधड़ी में नाइजीरियन और महिला गिरफ्तार
धोखाधड़ी में नाइजीरियन और महिला गिरफ्तार - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

उत्तराखंड में टिहरी पुलिस ने एक नाइजीरियन पर्यटक को लाखों रुपये की ठगी करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। पर्यटक ने अपनी गिरोह की सदस्य नागालैंड निवासी एक महिला के साथ घनसाली निवासी एक व्यक्ति से 27 लाख रुपये की ठगी की है। उसने खुद को आरबीआई का अधिकारी बताकर ग्रामीण क्षेत्र के विकास के लिए करीब 1 करोड़ 12 लाख पचास हजार की आर्थिक सहायता का लालच देकर पीड़ित को अपने झांसे में लिया था। 



Hello Police: 'एक बच्चे की हत्या हो गई है', तीन घंटे तक परेशान रही पुलिस, फिर सामने आया ये सच


एसएसपी नवनीत सिंह ने बताया कि लाखों रुपये की ठगी को लेकर घनसाली थाना पुलिस में 10 नवंबर 2021 को एनजीओ संचालक लक्ष्मी प्रसाद सेमवाल ने एक रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बताया गया था कि अज्ञात व्यक्तियों की ओर से अलग-अलग नंबरों से फोन कर स्वयं को आरबीआई का अधिकारी बताकर उनकी यूनाइटेड नेशन ऑफ डेवलपमेंट संस्था को ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के लिए (1.5 लाख डॉलर) करीब 1 करोड़ 12 लाख पचास हजार रुपये की मदद देना चाहते हैं। कहा था कि इस धनराशि का टैक्स जमा करने के लिए 27 लाख 28 हजार 500 रुपये जमा कराने होंगे। उनके झांसे में आकर एनजीओ संचालक ने 26 से 30 अक्तूबर 2021 तक उनके खाते में धनराशि हस्तांतरित कर दी।

इसके बाद उन्होंने फिर धनराशि की मांग की तो लक्ष्मी प्रसाद को खुद के साथ धोखाधड़ी का अहसास हुआ।  शिकायत पर पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ ठगी, धोखाधड़ी, साइबर क्राइम समेत कई धाराओं में मुकदमा कर जांच शुरू की। पुलिस टीम ने घटना में प्रयुक्त मोबाइल नंबर और बैंक खाते की पड़ताल कर दिल्ली, नोएडा में एटीएम निकासी की सीसीटीवी फुटेज में उनकी पहचान की। इसके बाद बृहस्पतिवार 22 सितंबर को आरोपी नाइजीरियन इरिभोगे जेरोम विक्टर (42) निवासी बेनिन सिटी नाईजीरिया और आरोपी महिला ल्यांग पिखुमला चांग (35) निवासी मकान नंबर बी/92 ओमिक्रॉन गौतमबुद्ध नगर यूपी स्थायी पता चुमुकेटिमा दीमापुर नागालैंड को ओमिक्रॉन सिटी ग्रेटर नोएडा यूपी से गिरफ्तार किया।

पुलिस टीम में निरीक्षक नदीम अतहर, उप निरीक्षक ओमकांत भूषण, सुखपाल सिंह, कमल कुमार और एसआई लखपत सिंह बुटोला के साथ ही अजयवीर सिंह, राहुल सरग्वाण, सतेंद्र सिंह, अरविंद रावत, महेश और सुखमीत कौर आदि शामिल थे।

वीजा अवधि खत्म, रह रहा लिव इन रिलेशनशिप में

दोनों आरोपी बैंकों से मिलती वेबसाइट बनाकर लोगों को आर्थिक मदद देने का लालच देकर धोखाधड़ी करते थे। उनके पास विभिन्न बैंकों के 35 एटीएम, 12 मोबाइल फोन, एक कार, 74 हजार 500 रुपये की नकदी बरामद की गई है। पुलिस ने उनके यूको बैंक खाते में 5 लाख 22 हजार 181 रुपये फ्रिज कराए हैं। नाइजीरियन के टूरिस्ट वीजा की अवधि भी समाप्त हो गई है। वह नागालैंड की महिला के साथ नोएडा में लिव इन रिलेशनशिप में रह रहा था।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00