सैन्य क्षेत्र में पकड़े गए शातिर क्रिमिनल्स खोल सकते हैं कईं राज, पूछताछ में जुटी पंजाब-दून पुलिस

न्यूज डेस्क/अमर उजाला, देहरादून Updated Sun, 14 Jan 2018 10:40 PM IST
criminals may disclose secrets to punjab and dehradun police
कैंट क्षेत्र में ऑपरेशन के बाद पकड़े गए दो लाख के इनामी हरसिमरन दीप सिंह उर्फ सिम्मा समेत चारों आरोपियों का रविवार को दो दिन का पुलिस रिमांड स्वीकृत हो गया। रिमांड पर पुलिस सिम्मा से यह जानने कोशिश करेगी कि देहरादून अथवा प्रदेश के किसी और हिस्से से उसके तार तो नहीं जुड़े हैं और दून आने के पीछे मकसद क्या था।

रात में जेल की औपचारिकता पूरी करने के बाद पुलिस आरोपियों को थाने लेकर आ गई। पंजाब पुलिस भी पूरी प्रक्रिया के दौरान कैंट पुलिस के साथ मौजूद रही। शनिवार को कैंट कोतवाली के राजेंद्र नगर में पंजाब पुलिस की अगुवाई में हुए बड़े ऑपरेशन में फरीदकोट के इनामी शातिर बदमाश हरसिमरन दीप सिंह उर्फ सिम्मा, उसके भाई फुलविंदर, साथी रमेश कुमार और रोहित बाडू की गिरफ्तारी हुई थी।

पंजाब और देहरादून पुलिस ने रातभर उनसे पूछताछ की। रविवार को तीसरे पहर चारों आरोपियों को स्पेशल जज के सामने पेश किया गया। कैंट कोतवाली पुलिस ने प्रार्थना पत्र देकर पुलिस रिमांड की मांग की। जज ने आरोपियों का दो दिन का पुलिस रिमांड स्वीकृत कर लिया।

इसके बाद न्यायिक अभिरक्षा में पहले चारों आरोपियों को जेल भेजा गया। फिर यहां रिमांड की औपचारिकताएं पूरी कर उन्हें कैंट पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया। देर रात तक हरसिमरन दीप सिंह उर्फ सिम्मा और उसके साथियों से पूछताछ होती रही।

देहरादून पुलिस यह जानने को उत्सुक है कि सिम्मा का देहरादून आने का मकसद सिर्फ छुपना था या फिर वह किसी वारदात को अंजाम देने आया था। पुलिस उसके देहरादून कनेक्शन को खंगालना चाहती है। पुलिस अधीक्षक (नगर) प्रदीप राय का कहना है कि आरोपियाें से कई बिंदुओं पर पूछताछ होनी है। 16 जनवरी को उन्हें वापस जेल में दाखिल किया जाएगा।
आगे पढ़ें

मकान मालिक का 10 हजार का चालान

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

तेज धमाके के बाद खुला दिल्ली की 150 फुट लंबी सुरंग का राज, ये थी बनाए जाने की वजह

राजधानी दिल्ली के द्वारका में 150 फुट लंबी सुरंग मिलने से सनसनी मच गई है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

आत्महत्या को फैशन मानते हैं इस राज्य के सीएम साहब

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्रांस्पोर्टर आत्महत्या मामले को लेकर एक विवादास्पद बयान दिया।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls