HMT ट्रैक्टर की पिंजौर इकाई 24 को होगी बंद, कंपनी ने जारी किया आदेश

ब्यूरो/अमर उजाला, पंचकूला Updated Sat, 20 Jan 2018 09:40 AM IST
pinjore unit of HMT tractor will be closed on 24
ख़बर सुनें
एचएमटी का पिंजौर स्थित ट्रैक्टर डिवीजन 24 जनवरी से बंद कर दिया जाएगा। अब तक यहां रोजाना सैकड़ों ट्रैक्टर तैयार कर देश भर में भेजे जाते थे। इस डिवीजन के 1000 कर्मियों और अधिकारियों में 850 ने वीआरएस ले ली है, जबकि 150 कर्मियों ने इससे खास फायदा न मिलने का हवाला देते हुए पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर की है। कंपनी के सीएमडी की ओर से ट्रैक्टर डिवीजन को बंद करने के आदेश दे दिए गए हैं। बंदी के इस फैसले से किसी तरह के विपरीत हालात न बने इसके लिए सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। 
इससे लोगों की चिंताएं बढ़ने लगी हैं। इससे क्षेत्र के विकास को भी झटका लगेगा। एचएमटी के ट्रैक्टर डिवीजन में हर साल हजारों की संख्या में ट्रैक्टर तैयार होते थे। सीएमडी की ओर से जारी आदेश में हवाला दिया गया है कि 1083 करोड़ रुपये का वित्तीय पैकेज देने के बाद भी इसके वजूद को कायम रखना संभव नहीं हो पाया। नतीजतन, कंपनी ने 24 जनवरी से डिवीजन को बंद करने के साथ-साथ सभी कर्मियों को टर्मिनेट करने का भी निर्णय लिया गया। जबकि कोर्ट गए कर्मचारियों के संबंध में अदालत के आदेश के मुताबिक निर्णय लिया जाएगा। 

एचएमटी बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक विजय बंसल ने कहा कि पैकेज के तौर पर डिवीजन को 91 करोड़ रुपये ही मिले हैं। 150 कर्मियों का कहना है कि उन्हें वीआरएस से कोई खास लाभ नहीं मिल रहा है, इसलिए उन्होंने अदालत में याचिका दायर की है। उनकी मांग है कि या तो उन्हें किसी दूसरी यूनिट में एडजस्ट किया जाए या विशेष पैकेज दिया जाए।

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Varanasi

बेटों ने चार महीने घर में छिपाकर रखा मां का शव, सच्चाई जानकर चौंक जाएंगे

बनारस में बुधवार को एक ऐसा मामला सामने आया है। जिसे सुनकर कोई भी चौंक जाएगा। यहां पर बेटों ने अपनी मां की मौत के चार महीने बाद भी अंतिम संस्कार नहीं किया बल्कि शव को घर में छिपाकर रख दिया।

23 मई 2018

Related Videos

VIDEO: इस एलान के बाद अब मुसलमान सिर्फ मस्जिद में पढ़ सकेंगे नमाज

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने नमाज को लेकर बयान दिया है। खट्टर ने कहा है कि हरियाणा में सार्वजनिक जगहों पर नमाज नहीं पढ़ी जाएगी। सिर्फ मस्जिदों में ही नमाज पढ़ी जाए।

6 मई 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen