लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Haryana ›   Karnal ›   muni tarun sagar controversial statement on giving birth to childrens

बच्चे पैदा करने को लेकर मुनि तरुण सागर का विवादित बयान

ब्यूरो/अमर उजाला, करनाल(हरियाणा) Updated Thu, 26 May 2016 12:31 PM IST
बच्चे पैदा करने पर विवादित बयान देने वाले मुनि तरुण सागर
बच्चे पैदा करने पर विवादित बयान देने वाले मुनि तरुण सागर - फोटो : फाइल फोटो
विज्ञापन
ख़बर सुनें
हरियाणा सरकार के राजकीय अतिथि व कड़वे प्रवचनों के लिए प्रसिद्ध क्रांतिकारी राष्ट्रसंत मुनिश्री तरुण सागर ने बच्चे पैदा करने को लेकर विवादित बयान दिया है। उनका कहना है कि देश पहले और मजहब बाद में हो तो देश तरक्की करेगा। हिंदुस्तान में दो बच्चों से ज्यादा पैदा करने पर कानूनी तौर पर रोक लगा देनी चाहिए। फिर वह चाहे हिंदू हो या कोई अन्य। जो इसकी खिलाफत करें उसे वोट देने के हक से वंचित कर देना चाहिए। उसे किसी भी तरह की सरकारी सुविधाएं नहीं दी जानी चाहिए।


मुनिश्री मिठ्ठन मोहल्ला सर्राफा बाजार स्थित जैन मंदिर परिसर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। मुनिश्री तरुण सागर ने कहा कि यद्यपि आतंकवादियों का कोई धर्म नहीं होता पर कुछ धर्म के लोग आतंकवादी हो रहे हैं। जो धर्म आतंकवादियों को जन्म दे, उससे तो तौबा कर लेना ही श्रेयस्कर है। उन्होंने कहा कि शिष्य की जेब साफ करने वाले गुरु तो कदम-कदम पर मिल जाएंगे पर चित्त को साफ करने वाले सद्गुरु बड़ी मुश्किल से मिलते हैं। जिसे अपना बोध हो गया वह संसार में बसेगा तो सही पर फंसेगा नहीं। अस्तित्व का बोध सद्गुरु से मिलता है।


उन्होंने कहा कि जहां दूसरों को समझाना मुश्किल हो जाएं वहां खुद को समझा लेना ही बेहतर है। हम सब के लिए सबसे पहले जरूरी देश है। देश को सर्वोच्च मानकर ही काम करें तो देश यकीनन तरक्की करेगा।  इस अवसर पर वीरेश जैन, किशोर नागपाल, शेखरचंद जैन, आशीष जैन, सुशील जैन, वंदन जैन, आशु जैन व सचिन जैन मौजूद रहे।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00