बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

बेटी ने पिता की गर्दन पर कुदाल से वार कर उतारा मौत के घाट, फिर वजह बताकर पुलिस के सामने कबूला जुर्म

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में ब्लाक क्षेत्र के एक गांव में सगी बेटी ने पिता की गर्दन पर कुदाल से वार कर हत्या कर दी। बेटी ने राजस्व पुलिस के समक्ष पिता की हत्या का जुर्म स्वीकार करते हुए आरोप लगाया कि उसके पिता ने रात को शराब के नशे में उससे बलात्कार का प्रयास किया।

राजस्व पुलिस ने मृतक की बेटी को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने के साथ ही मौके से हत्या में प्रयुक्त कुदाल भी बरामद कर ली है। मंगलवार सुबह गांव के ग्राम प्रहरी ने राजस्व पुलिस को गांव में एक ग्रामीण की हत्या होने की सूचना दी।

क्षेत्र में देवराणा मेले के आयोजन के सिलसिले में पहुंची राजस्व विभाग की टीम ने गांव पहुंच कर मामले की पड़ताल की। बताया जा रहा है कि मृतक की दो शादियां थी। पहली पत्नी को उसने छोड़ दिया है।
... और पढ़ें

तूल पकड़ रहा है धौंतरी में सरकारी अस्पताल के डाक्टर और ग्रामीणों के बीच हुआ विवाद

उत्तरकाशी। डुंडा ब्लॉक के धौंतरी में मंगलवार रात को सरकारी अस्पताल में तैनात चिकित्सक और ग्रामीणों के बीच हुआ विवाद तूल पकड़ता जा रहा है। महिला की ओर से मारपीट, गाली गलौज एवं छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए दी गई तहरीर पर राजस्व पुलिस ने डाक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है, जबकि जिला अस्पताल में भर्ती चिकित्सक ने आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए अपने साथ हुई मारपीट की रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही है। चिकित्सा सेवा संघ ने इस मामले को लेकर कार्यकारिणी की बैठक बुलाई है।
बता दें कि मंगलवार रात को क्षेत्र की एक महिला और सरकारी अस्पताल में तैनात चिकित्सक डा. इंतखाब हुसैन के बीच हुए विवाद के बाद क्षेत्र में आक्रोश भड़क गया था। ग्रामीणों की भारी भीड़ जमा होने पर चिकित्सक ने स्वयं को एक मेडिकल स्टोर में बंद कर लिया। देर रात तक ग्रामीणों की भीड़ द्वारा घेराव करने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस और जिला प्रशासन के हस्तक्षेप के बाद चिकित्सक को वहां से छुड़ाकर जिला मुख्यालय पहुंचाया गया। यहां चिकित्सक को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। बुधवार को महिला ने राजस्व पुलिस को दी तहरीर में चिकित्सक पर मारपीट और गाली गलौज करने के साथ ही छेड़छाड़ का आरोप भी लगाया गया है, जिसके आधार पर राजस्व पुलिस ने आरोपित डाक्टर के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
इधर, जिला अस्पताल में भर्ती चिकित्सक ने आरोपों को बेबुनियाद बताते हुए कहा कि कुछ दिन पूर्व उनके परिचित तीर्थयात्री धौंतरी आए थे। उनके पूछने पर उन्होंने ठहरने के लिए होटल बताया था। आरोप लगाने वाली महिला का भी धौंतरी में दूसरा होटल है। इसी वजह से महिला और उसके पति ने उनके साथ बदतमीजी और मारपीट की। उन्हें बड़ी मुश्किल से एक दुकान के भीतर छिपकर अपनी जान बचानी पड़ी। वह इस मामले में राजस्व पुलिस को तहरीर दे रहे हैं। चिकित्सा सेवा संघ के जिलाध्यक्ष डा.एसपी कुड़ियाल ने कहा कि डाक्टर हुसैन बीते चार साल से धौंतरी अस्पताल में तैनात हैं और कभी कोई शिकायत नहीं आई। इस मामले को लेकर संगठन की बैठक बुलाई गई है। इसमें आगे की रणनीति पर निर्णय लिया जाएगा। राजस्व उपनिरीक्षक प्रेम सिंह मखलोगा ने बताया कि महिला की ओर से मिली तहरीर के आधार पर डाक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। डाक्टर की ओर से अभी तक तहरीर नहीं मिली है।
... और पढ़ें

सगी बेटी ने कुदाल से गर्दन पर वार कर पिता को उतारा मौत के घाट

नौगांव (उत्तरकाशी)। ब्लाक क्षेत्र के एक गांव में सगी बेटी ने पिता की गर्दन पर कुदाल से वार कर हत्या कर दी। बेटी ने राजस्व पुलिस के समक्ष पिता की हत्या का जुर्म स्वीकार करते हुए आरोप लगाया कि उसके पिता ने रात को शराब के नशे में उससे बलात्कार का प्रयास किया। राजस्व पुलिस ने मृतक की बेटी को गिरफ्तार कर उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज करने के साथ ही मौके से हत्या में प्रयुक्त कुदाल भी बरामद कर ली है।
मंगलवार सुबह गांव के ग्राम प्रहरी ने राजस्व पुलिस को गांव में एक ग्रामीण की हत्या होने की सूचना दी। क्षेत्र में देवराणा मेले के आयोजन के सिलसिले में पहुंची राजस्व विभाग की टीम ने गांव पहुंच कर मामले की पड़ताल की। बताया जा रहा है कि मृतक की दो शादियां थी। पहली पत्नी को उसने छोड़ दिया है। पहली पत्नी से उसका एक बेटा और एक बेटी है। बेटा कुछ वर्ष पूर्व आत्महत्या कर चुका है, जबकि बेटी की शादी हो चुकी है। शादी के बाद भी बेटी-दामाद अधिकांश समय गांव में पिता के साथ ही रहते थे। सोमवार रात को पिता और उसके दामाद के बीच शराब पीकर कुछ विवाद हो गया।
राजस्व निरीक्षक बृजमोहन आर्य, उपनिरीक्षक राजेश रावत एवं रविंद्र असवाल ने बताया कि पूछताछ में मृतक की बेटी ने अपने पिता की हत्या का अपराध स्वीकार किया है। उसका कहना है कि सोमवार रात को शराब के नशे में पिता ने उसके साथ बलात्कार की कोशिश की। अपने बचाव में उसने कुदाल से वार किया, जो गर्दन में लगने से पिता की मौत हो गई। घटना के समय साथ रहने वाली मृतक की दूसरी पत्नी भी घर में नहीं थी। राजस्व निरीक्षक आर्य ने बताया कि इस मामले की पड़ताल कर और जानकारी जुटाई जा रही है। इसके बाद ही हत्या के कारणों का खुलासा हो पाएगा। शव को पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

उत्तरकाशी: किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म मामले में दोषी को दो साल बाद 10 साल कैद

उत्तरकाशी में किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म के मामले में दोष सिद्ध होने पर विशेष सत्र न्यायाधीश ने अभियुक्त को दस साल कठोर कारावास की सजा सुनाई। साथ ही 25 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया। पुलिस ने अभियुक्त को गिरफ्तार कर नई टिहरी जेल भेज दिया है।

बड़कोट क्षेत्र निवासी एक ग्रामीण ने जून 2018 में क्षेत्र के एक युवक पर उसकी 16 वर्षीय बेटी को बहला फुसला कर घर से भगा ले जाने का आरोप लगाया था। पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज कर आरोपी युवक 21 वर्षीय नवीन कुमार को गिरफ्तार कर उसके साथ किशोरी को बरामद कर लिया था। किशोरी की मेडिकल जांच और न्यायालय के समक्ष दिए गए बयान में दुष्कर्म की पुष्टि होने पर पुलिस ने इस मामले में भादंसं की धारा 363, 366, 376 तथा 3/4 पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। हालांकि आरोपी जमानत पर छूट गया था। इस मामले में पुलिस ने विवेचना कर 13 अगस्त 2018 को न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया था।

अभियोजन पक्ष की ओर से जिला सहायक शासकीय अधिवक्ता पूनम सिंह ने न्यायालय के समक्ष 11 गवाह और मेडिकल रिपोर्ट आदि साक्ष्य प्रस्तुत किए। दोष सिद्ध होने पर बुधवार को विशेष सत्र न्यायाधीश कौशल किशोर शुक्ला ने अभियुक्त नवीन कुमार को दस साल कठोर कारावास की सजा सुनाई और 25 हजार रुपये अर्थदंड भी लगाया। सजा सुनाए जाने के बाद पुलिस ने अभियुक्त को गिरफ्तार कर नई टिहरी जेल भेज दिया।
... और पढ़ें
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

उत्तरकाशी: किशोरी के अपहरण एवं दुष्कर्म मामले में दोषी को दस साल कैद

उत्तरकाशी में किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म के दो साल पुराने एक मामले में विशेष सत्र न्यायाधीश ने अभियुक्त को दस साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। साथ ही तीस हजार रुपये जुर्माना भी लगाया।

सामटी सोलन हिमाचल प्रदेश निवासी वीर सिंह उर्फ संजू डुंडा ब्लाक के एक गांव में खच्चर चलाने का काम करता था। काम छोड़ने के छह माह बाद वह अपने मालिक की 15 वर्षीय बेटी को बहला फुसलाकर भगा ले गया। किशोरी के पिता ने 26 जून 2018 को बेटी के अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था।

इस मामले में थाना कोतवाली पुलिस ने आरोपी युवक के खिलाफ भादंसं की धारा 363, 366, 5/6 पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने आरोपी को तीन माह बाद सोलन हिमाचल प्रदेश से गिरफ्तार कर नई टिहरी जेल भेज दिया था।

उसके साथ किशोरी भी बरामद हुई थी, जो तीन माह की गर्भवती थी। पुलिस ने इस मामले में अभियुक्त का डीएनए परीक्षण भी कराया। अभियोजन पक्ष की ओर से सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता पूनम सिंह ने न्यायालय के समक्ष 15 गवाह और डीएनए रिपोर्ट सहित अन्य साक्ष्य प्रस्तुत किए। दोष सिद्ध होने पर विशेष सत्र न्यायाधीश कौशल किशोर शुक्ला ने अभियुक्त वीर सिंह को दस साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई। 
... और पढ़ें

कोल्डड्रिंक पिलाने के बहाने दस साल की बच्ची से छेड़खानी करने वाला हेड कांस्टेबल निलंबित

आजमगढ़ जिले में छेड़खानी के आरोप से घिरे फायर विभाग में तैनात हेड कांस्टेबल को शनिवार को पीड़िता का बयान रिकॉर्ड करने के बाद जेल भेज दिया। साथ ही एसपी ने हेड कांस्टेबल को निलंबित करने के लिए सीएफओ को निर्देश दिया है।
हेडकांस्टेबल नरेंद्र पांडेय फायर विभाग में तैनात है। वह शुक्रवार की देर शाम को शहर के एक मोहल्ले की रहने वाली दस साल की बच्ची को कोल्डड्रिंक पिलाने के बहाने एक दुकान के पीछे ले जाकर छेड़खानी करने लगा। बच्ची के शोर मचाने पर लोग पहुंच गए।


लोगों ने हेडकांस्टेबल को रंगे हाथ पकड़ लिया। सूचना मिलने पर शहर कोतवाल पहुंचे और सिपाही को गिरफ्तार कर लिया। दूसरे दिन शनिवार को पुलिस ने पीड़िता का कोर्ट में बयान दर्ज कराया। उसके बयान के आधार पर हेड कांस्टेबल को जेल भेज दिया है।
... और पढ़ें

उत्तरकाशी: अवैध पोस्त की खेती करने पर 11 ग्रामीणों पर मुकदजा दर्ज, निगरानी को अब होगा ड्रोन का इस्तेमाल

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में राजस्व पुलिस ने पुरोला प्रखंड के मटियाली छानी क्षेत्र में अवैध पोस्त की खेती नष्ट करा दी। मामले में 11 ग्रामीणों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है।

यमुनोत्री धाम से लौटते समय एसडीएम मनीष कुमार को गैंड ग्राम पंचायत के मटियाली छानी तोक में कमल नदी से लगे खेतों में अवैध पोस्त की खेती नजर आयी। उन्होंने तत्काल राजस्व विभाग की टीम को मौके पर बुलाया। टीम ने यहां करीब पौने सात नाली जमीन पर हो रही अवैध खेती को नष्ट कराया।

उन्होंने बताया कि पोस्त से अफीम तैयार की जाती है और इसकी खेती प्रतिबंधित है। मामले में अजयपाल सिंह, सुमित्रा, केदार सिंह, पिठानिया, कृपाल सिंह, संदीप, तारीफ देवी, जीत सिंह, प्रेम सिंह, भजन सिंह एवं रमेश के खिलाफ केस कराया गया है। इससे ग्रामीणों में हड़कंप है।
 
अब ड्रोन का होगा इस्तेमाल
एसडीएम मनीष कुमार ने बताया कि क्षेत्र से कई बार पोस्त की अवैध खेती की शिकायत मिलती है। ज्यादातर ऊंचे और दुर्गम स्थानों पर पोस्त की खेती की जाती है। इसका पता लगाने के लिए अब प्रशासन ड्रोन का इस्तेमाल करेगा।
... और पढ़ें

बेरहम पति ने पहले पत्नी की गला काट कर की हत्या, फिर जहर खाकर की आत्महत्या की कोशिश

उत्तरकाशी के धरासू में एक बेरहम पति ने पहले दंराती से पत्नी का गला काट दिया और फिर खुद जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या की कोशिश की। डेढ़ वर्ष पूर्व शादी हुई थी।

बताया जा रहा है कि मृतका 04 माह की गर्भवती थी। पुलिस मामले की जांच में जुटी है। जानकारी के मुताबिक ज्येष्ठवाड़ी निवासी श्रीपाल सिंह नेगी की डेढ़ साल पहले विजेश्वरी (23) से शादी हुई थी। दोनों में घरेलू कलह चल रहा था।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रविवार को दोनों पति-पत्नी लकड़ी लेने जंगल गए थे, दोनों में जंगल में विवाद हुआ और सिरफिरे पति ने पत्नी की दरांती से गला काटकर हत्या कर दी। सायं पांच बजे घर लौटा, अपनी मां और परिजनों से पत्नी का काम तमाम करने की बात की और खुद जहरीला पदार्थ गटक लिया। आरोपी पति को सीएचसी में इलाज के लिए लाए और प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल भेज दिया।  

थानाध्यक्ष विनोद थपलियाल ने बताया कि मृतका के शव को कब्जे में लिया गया है। पंचनामा भर कर पीएम की कार्रवाई की जा रही है। उन्होंने बताया की आरोपी पर आत्महत्या और मृतका के पिता की तहरीर पर धारा 302 के मामला दर्ज किया गया है।
... और पढ़ें

उत्तराखंड पंचायत चुनाव 2019:  चुनावी रंजिश में ग्रामीण की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

विकासखंड के सूरी दारगढ़ गांव में चुनावी रंजिश के चलते एक ग्रामीण की हत्या कर दी गई। राजस्व पुलिस ने इस मामले में गांव के ही दो लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया है।

मंगलवार देर शाम राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय सूरी के पास सड़क पर दारगढ़ निवासी टीका सिंह (42) पुत्र गोपाल सिंह घायल अवस्था में पड़ा मिला। वहां से गुजर रहे ग्रामीणों ने तत्काल इसकी सूचना परिजनों को दी। ग्रामीणों के सहयोग से परिजन उसे कोटधार अस्पताल ले गए, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

मृतक की गर्दन पर निशान और नाक से खून बहने की स्थिति को देखते हुए परिजनों ने उसकी हत्या की आशंका जताई। अस्पताल से शव लेकर गांव लौटे ग्रामीणों ने गांव के प्रवेश द्वार पर ही शव को रखकर धरना शुरू कर दिया। ग्रामीणों ने हत्यारों की गिरफ्तारी होने तक शव का अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया।
... और पढ़ें

नाबालिग बेटी से छेड़छाड़ और मारपीट करने का आरोपी पिता गिरफ्तार, पत्नी ने दी थी तहरीर

उत्तराखंड के उत्तरकाशी में चिन्यालीसौड़ तहसील क्षेत्र स्थित एक गांव में पिता द्वारा अपनी नाबालिग बेटी के साथ छेड़छाड़ व मारपीट करने का मामला सामने आया है। पीड़ित किशोरी की मां द्वारा दी गई तहरीर पर कार्रवाई करते हुए राजस्व पुलिस ने विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर किशोरी के पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

राजस्व उपनिरीक्षक कुसुमलता पंवार ने बताया कि बुधवार को क्षेत्र के एक गांव की महिला ने राजस्व चौकी पहुंचकर अपने पति के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई, जिसमें महिला ने आरोप लगाया कि बीते 16 सितंबर की रात करीब दस बजे उसके पति ने उनकी 15 वर्षीय बेटी के साथ छेड़छाड़ व मारपीट की।

घटना की भनक लगते ही परिजनों ने नाबालिग लड़की को किसी तरह पिता के चंगुल से छुड़ाया। राजस्व उपनिरीक्षक ने बताया कि पीड़िता की मां द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर आरोपी के खिलाफ पोक्सो एक्ट व जेजे एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी पिता को घर से ही गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे गुरुवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा।
... और पढ़ें

देहरादून के इस सैलून में था डकैताें का ‘कंट्रोल रूम’, यहां तैयार होती थी धन्नासेठों की कुंडली  

फिल्म शोले में हरीराम नाई का किरदार तो आपको याद ही होगा। वह जेल में होने वाली हर गतिविधि की मुखबिरी जेलर को करता था। हरीराम की तरह ही देहरादून का सैलून संचालक पीरू शहर के धन्नासेठों का दुश्मन नंबर एक था। वह उनकी गोपनीय जानकारी डकैतों को देता था। इसी जानकारी के आधार पर डकैत अपना शिकार चुनते थे। एक तरह से पीरू का सैलून डकैतों का कंट्रोल रूम था, जहां पर शहर के अमीरों की कुंडली तैयार करने का काम होता था। छोटी-छोटी जानकारी पता करने के साथ उनकी कमजोरी पर खास फोकस किया जाता था, ताकि वारदात के समय शिकार विरोध करने की हिम्मत तक ना जुटा सके।
 
देहरादून में अभिमन्यु एकडेमी के मालिक आरपी ईश्वरन, आरटीओ आफिस के कर्मचारी के घर डकैती, बिल्डर राकेश बत्ता और प्रमुख चिकित्सक के आवास पर डकैती के प्रयास की घटना का सूत्रधार कोई और नहीं सैलून संचालक मुजिब्बुर रहमान उर्फ  पीरू था। वह डकैतों के मुखबिर तंत्र के रूप में बड़ा किरदार निभाता था। बरसों से राजेन्द्र नगर में सैलून की बदौलत धनाढ्य परिवारों में पीरू का खासा दखल था। ईश्वरन लूटपाट प्रकरण से पहले पीरू के इस खौफनाक चेहरे से कोई वाकिफ नहीं था। 
... और पढ़ें

विजिलेंस टीम की कार्रवाई, दाखिल खारिज के लिए रिश्वत लेते हुए तहसीलदार रंगे हाथ गिरफ्तार

देहरादून की विजिलेंस टीम ने बुधवार को चिन्यालीसौड़ तहसील कार्यालय से तहसीलदार चंदन सिंह राणा को दस हजार रुपये रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। एक ग्रामीण द्वारा जमीन के दाखिल खारिज के लिए रिश्वत मांगे जाने की शिकायत पर विजिलेंस की टीम ने यह कार्रवाई की।
 
विजिलेंस की टीम तहसीलदार को गिरफ्तार कर देहरादून ले गई। तहसीलदार की गिरफ्तारी से राजस्व विभाग में हड़कंप मचा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार चिन्यालीसौड़ ब्लाक के कैंथोगी गांव निवासी नारायण सिंह पंवार ने कुछ माह पूर्व चिन्यालीसौड़ नगर पालिका क्षेत्र में जमीन खरीदी थी।

जमीन का दाखिल खारिज कराने के लिए वह लंबे समय से तहसील के चक्कर काट रहे थे। तहसीलदार ने दाखिल खारिज के एवज में 20 हजार रुपये की रिश्वत मांगी। काफी मिन्नत करने के बाद भी तहसीलदार 10 हजार रुपये रिश्वत मिलने तक काम करने को राजी नहीं हुआ।
... और पढ़ें

देहरादून: मी-टू में फंसा सहायक अभियंता निलंबित, कार्यालय की महिला कर्मचारी ने लगाया था आरोप

मी-टू के मामले में फंसे लघु सिंचाई उपखंड नौगांव के सहायक अभियंता गुरुदेव सिंह को शासन ने निलंबित कर मुख्य अभियंता कार्यालय से संबद्ध कर दिया है। सचिव डॉ.भूपिंदर कौर औलख ने उत्तरकाशी जिला प्रशासन की जांच में आरोपों की पुष्टि होने के बाद यह आदेश जारी किया है।

सहायक अभियंता गुरुदेव के खिलाफ लघु सिंचाई विभाग में ही कार्यरत एक महिला ने उत्पीड़न की शिकायत की थी। शासन ने मामले में जिलाधिकारी उत्तरकाशी को जांच के आदेश दिए। जिलाधिकारी ने इस मामले के लिए एक आंतरिक जांच समिति का गठन किया।

इस समिति ने जांच आख्या दो जुलाई 2019 को शासन को भेज दी। जांच आख्या में आरोपों की पुष्टि पाई गई। इसी के आधार पर सचिव ने सहायक अभियंता को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने का आदेश जारी कर दिया।

आदेश के मुताबिक सहायक अभियंता का आचरण उत्तराखंड राज्य कर्मचारी आचरण नियमावली 2002 के खिलाफ पाया गया। आदेश में कहा गया है कि निलंबन की अवधि में सहायक अभियंता को आधा वेतन दिया जाएगा और जीवन निर्वाह भत्ते के साथ महंगाई भत्ता नहीं दिया जाएगा। शासन ने सहायक अभियंता को लघु सिंचाई के मुख्य अभियंता और विभागाध्यक्ष कार्यालय से संबद्ध कर दिया है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन