बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

हादसे रोकने को बैरिकेडिंग लगाने पहुंची रेलवे की टीम को लौटाया

Haldwani Bureau हल्द्वानी ब्यूरो
Updated Thu, 04 Mar 2021 12:38 AM IST
विज्ञापन
ओमेक्स कालोनी के पास बुधवार को ऐसे रेलवे पटरी पार करते नजर आए होमगार्ड।
ओमेक्स कालोनी के पास बुधवार को ऐसे रेलवे पटरी पार करते नजर आए होमगार्ड। - फोटो : RUDRAPUR

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
शहर की ओमेक्स कॉलोनी के पास पटरी पर बाइक के ट्रेन से टकराने की घटना के बाद रास्ता बंद करवाने पहुंची रेलवे की टीम को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। ग्रामीणों की रेलवे अधिकारियों और आरपीएफ की टीम के साथ कहासुनी हुई। तहसीलदार के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हुए।
विज्ञापन

बुधवार सुबह रेलवे के सेक्शन इंजीनियर अखिलेश कुमार और आरपीएफ की टीम मौके पर पहुंचे। इसकी भनक लगते ही फौजी मटकौटा, छतरपुर, धर्मपुर आदि गांवों के लोग विरोध के लिए पहुंच गए। अधिकारियों ने उन्होंने समझाते हुए कहा कि आठ जनवरी को पटरी पार कर रहे व्यक्ति की बाइक पटरी में फंस गई थी। ट्रेन के आने पर वह बाइक छोड़कर भाग गया। उसकी बाइक ट्रेन से टकरा गई थी, किसी तरह ट्रेन को रोककर हादसा टाला गया। ऐसे हादसे न हों इसलिए रास्ता बंद किया जा रहा है लेकिन लोग मानने को तैयार नहीं थे।

उन्होंने अंडर पास बनने तक पटरी पर आवाजाही जारी रखने की मांग की। जब रेलवे अधिकारियों ने कहा कि हादसों का मुआवजा कौन देगा? इस पर लोग भड़क गए और टीम के साथ कहासुनी हो गई। इसकी सूचना मिलने पर डीएम रंजना राजगुरु ने तहसीलदार अमृता शर्मा को मौके पर पहुंचने के निर्देेश दिए। जहां पर अंडर पास के निर्माण तक पटरी पर आवाजाही जारी रखने का निर्णय लिया गया। काफी गहमागहमी के बाद रेलवे की टीम को बैरंग लौटना पड़ा।
भाजपा नेता भारतभूषण चुघ ने बताया कि इसकी सूचना उन्होंने पूर्वोत्तर रेलवे के डीआरएम आशुतोष पंत देते हुए शीघ्र अंडर पास बनाने की मांग की। उन्होंने बताया कि उत्तराखंड वन विकास निगम के अध्यक्ष सुरेश परिहार ने भी फोन पर डीएम से वार्ता की। वहां पर ज्ञान सिंह चौहान, जगदीश सिंह, देवेंद्र सिंह बामल, केशव शर्मा, संजय ठुकराल थे।
हादसों की जिम्मेदार होगी जनता : राजेंद्र
रुद्रपुर। पूर्वोत्तर रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी राजेंद्र सिंह ने बताया कि बैरिकेडिंग लगाने पहुंची रेलवे की टीम का स्थानीय लोगों ने विरोध किया। ऐसे में यदि कोई हादसा होता है वे लोग इसके जिम्मेदार स्वयं होंगे। यदि राज्य सरकार प्रस्ताव देती है तो वहां अंडरपास बनाया जाएगा। पांच नवंबर 2020 को भी रेलवे की टीम को विरोध के कारण बैरंग लौटना पड़ा था।
बाइक और साइकिल से पटरी पार करते दिखे सुरक्षा कर्मी
रुद्रपुर। जिस समय तहसीलदार और रेलवे विभाग के अधिकारी लोगों को रेलवे की पटरी पर होने वाले हादसों के बारे में बता रहे थे। उसी दौरान दो होमगार्ड साइकिल और बाइक के साथ रेलवे पटरी पार कर रहे थे।
रुद्रपुर में रेलवे पटरी के पास हंगामा कर रहे लोगों को समझाती तहसीलदार अमृता शर्मा।
रुद्रपुर में रेलवे पटरी के पास हंगामा कर रहे लोगों को समझाती तहसीलदार अमृता शर्मा।- फोटो : RUDRAPUR

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X