बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

पुलिस के हत्थे चढ़ा चोरों का गिरोह


नई टिहरी। मंदिरों में चोरी की घटनाओं को अंजाम देने वाले आखिरकार दो महीने बाद पुलिस के हत्थे चढ़ गए। उनके पास से मंदिरों से चोरी की गई दर्जनों घंटियां, गागर, छतर, मूर्ति और बैटरियां भी मिली हैं। चोरों के पास से दो तमंचे और तीन कारतूस भी बरामद किए गए हैं। पुलिस ने पांचों आरोपियों को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया।
पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पत्रकार वार्ता करते हुए एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि भिलंगना ब्लॉक में ग्राम पिलवा के शिव मंदिर और सेंदुल दुर्गा मंदिर से चांदी, घंटियां आदि चोरी होने पर क्षेत्र के पंकज लिंगवाल ने एक माह पहले घनसाली थाने में चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मंदिरों में लगातार हो रही चोरी की घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए घनसाली थानाध्यक्ष और एसओजी की संयुक्त टीम बनाई गई। 16 मई को घोंटी पुल के पास चेकिंग के दौरान बोलेरो की तलाशी ली गई तो यहां से नरसिंह मंदिर, दुर्गा मंदिर और उत्तरकाशी के रेणुका देवी मंदिर से चुराई गई कई घंटियां, अष्ठधातु मूर्तियां, चांदी के छतर, तांबे की गागरें, पीतल के बंठे और बीएसएनएल की बैटरियां सहित कई सामान मिला। इस पर पुलिस ने आरोपी सुलेमान, वाजिद, शहजाद तीनों निवासी ग्राम सिरचंदी थाना भगवानपुर जिला हरिद्वार, अलीम और नईम दोनों निवासी ग्राम खुब्बनपुर भगवानपुर जिला हरिद्वार को गिरफ्तार किया गया है। पांचों आरोपियों को न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया है। चोरी का खुलासा करने पर टीम को पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल क्षेत्र ने पांच हजार और एसएसपी ने ढाई हजार रुपये से पुरस्कृत किया। जांच टीम में घनसाली थानाध्यक्ष प्रदीप सिंह रावत, एसओजी एसआई विक्रम बिष्ट, विजय थपलियाल, आशीष भट्ट, गजेंद्र सिंह, राकेश कुमार, राजवर्द्धन सिंह, अरविंद रावत और उबैदुल्ला आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

अनुसूचित जाति के युवक संग मारपीट के बाद मौत के मामले में तीन आरोपी गिरफ्तार, चार अभी भी फरार 

उत्तराखंड में टिहरी के जौनपुर ब्लॉक के श्रीकोट गांव में दस दिन पहले एक विवाह समारोह में अनुसूचित जाति के युवक के साथ हुई मारपीट के आरोप में नामजद सात लोगों में से तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

कैंपटी थानाध्यक्ष कविता रानी ने बताया कि सोमवार सुबह मारपीट के आरोप में नामजद सोबत सिंह (55) पुत्र धूम सिंह, गजेंद्र सिंह (40) पुत्र प्रेम सिंह और हुकम सिंह (38) पुत्र बचन सिंह सभी निवासी ग्राम भटवाड़ी पट्टी इडवालस्यूं तहसील नैनबाग को कैंपटी से गिरफ्तार कर लिया गया है।

थानाध्यक्ष ने बताया कि अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है, सभी आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 
... और पढ़ें

पुलिस ने किया अंतरराज्यीय ठगों का भंडाफोड़

नई टिहरी। नगरवासियों को लाखों की चपत लगने से पुलिस ने बचा लिया। एक अंतरराज्यीय गिरोह का पुलिस ने भंडाफोड़ कर उसे बेनकाब किया है। गिरोह विभिन्न राज्यों में बाजार रेट से आधे दाम पर सामान देने के नाम पर लोगों से ठगी कर करोड़ की उगाही करता था। कई राज्यों में गिरोह के सदस्यों के खिलाफ मुकदमे दर्ज हैं।
नई टिहरी मॉडल हाउस में तमिलनाडु जिला नागपट्टिना मेन रोड चिसलिबड़म के ताज्जुदीन पुत्र अब्दुल हमीद और गणेशन पुत्र मुत्थैया ने 15 अप्रैल को सन ट्रेडर्स नाम से एक शोरूम खोला था। शोरूम में फर्नीचर से लेकर इलेक्ट्रानिक्स, क्रॉकरी समेत तमाम घरेलू प्रयोग में आने वाला सामान रखा था। वह ग्राहकों को बाजार रेट से आधे दाम पर सामान देने का वादा करते थे, लेकिन इसके लिए ग्राहक को सामान का पहले पूरा दाम जमा करने को कहते थे। दस दिन में होम डिलेवरी होने पर आधा दाम वापस करने की बात कहते थे।
शोरूम की ओपनिंग के दिन ही नगर क्षेत्र के लोगों ने करीब उनके पास ढाई लाख जमा करवा दिया। दुकान स्वामियों ने बाकायदा पालिका में रजिस्ट्रेशन और कोतवाली में सभी दस्तावेज भी जमा किए थे। कुछ जागरूक उपभोक्ताओं की शिकायत पर एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने कोतवाली निरीक्षक चंदन सिंह चौहान को मामले में नजर रखने के निर्देश दिए थे। पुलिस ने शोरूम संचालकों की जांच पड़ताल शुरू की, तो पता चला कि इन दोनों के खिलाफ असम के थाना लंका में रोज ट्रेडर्स के नाम से धोखाधड़ी का केस चल रहा है और दोनों जमानत पर हैं। साथ ही उड़ीसा में भी संगम ट्रेडर्स के नाम से मुकदमा, यूपी के रायबरेली में चार करोड़ की ठगी का केस और मध्यप्रदेश के रायसेन में भी फ्रॉड करने का केस चल रहा है। पुलिस ने शोरूम बंद कर नगर क्षेत्र के उपभोक्ताओं की धनराशि लौटाई। इसके बाद दोनों ने हाईकोर्ट नैनीताल में रिट दायर की कि टिहरी पुलिस उन्हें व्यवसाय नहीं करने दे रही है। कोर्ट ने पुलिस को समन भेजकर अपना पक्ष रखने के निर्देश दिए। एसएसपी ने बताया कि पुलिस ने न्यायालय में पक्ष रखते हुए जांच रिपोर्ट के दस्तावेज प्रस्तुत किए, जिस पर न्यायालय ने रिट याचिका खारिज करते हुए टिहरी पुलिस की सराहना की है। रिट याचिका खारिज होने के बाद से दोनों लोग फरार चल रहे हैं।
... और पढ़ें

उत्तराखंड : टिहरी में है फर्जी टेरिटोरियल आर्मी ट्रेनिंग सेंटर, पुलिस और एसओजी की टीम के हत्थे चढ़े जालसाजों ने किया खुलासा 

युवाओं को टेरिटोरियल आर्मी में भर्ती कराने के नाम पर ठगने वाले तीन युवकों को पुलिस और एसओजी की टीम ने गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से बहुत सी सामग्री मिली है, जिससे ये युवाओं को फर्जी लेटर आदि बनाकर देते थे। यही नहीं पुलिस टीम इनके गट्टू खाता स्थित ट्रेनिंग कैंप में भी गई। यहां ये युवकों को आर्मी से मिलती-जुलती वर्दी में ट्रेनिंग कराते थे। 

बता दें कि आर्मी इंटेलीजेंस की जानकारी पर पुलिस ने मामले की तफ्तीश की थी। सोमवार को एक युवक की तहरीर पर पांच आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। इसके बाद एसओजी प्रभारी एश्वर्य पाल और प्रेमनगर थाना प्रभारी धनराज बिष्ट की अध्यक्षता में एक टीम का गठन किया गया।

सोमवार शाम को ही पुलिस ने पांच में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें सोनू निवासी बोंदकला बोंदा चरखीदादरी भिवानी हरियाणा, स्वराज उर्फ युवराज उर्फ अरविंद निवासी गांव तिलियाधार खुर्जा बुलंदशहर और अक्षित उर्फ पंकज निवासी हरेडा थाना बागपत उत्तर प्रदेश शामिल हैं।

चार चरणों में करते हैं ठगी

प्रथम चरण : सबसे पहले रवीन्द्र नाम के व्यक्ति द्वारा हरियाणा, उत्तर प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों से बेरोजगार युवकों को इकट्ठा किया गया। 10-12 लड़के इकट्ठा होने के बाद धनराशि तय की गयी। प्रति युवक पांच से 10 लाख रुपये भर्ती के लिए तय हुआ था। 

द्वितीय चरण : सेना में भर्ती के लिए लड़कों का चयन होने के बाद रवीन्द्र अपने साथी सोनू को इन लडकों से मिलवाता था और सोनू इन लडकों से उनके कागजात आधार कार्ड आदि इकठ्ठे करता था। इसके बाद अपने अन्य साथी युवराज के साथ मिलकर फर्जी ज्वाइनिंग लैटर / सलेक्शन लैटर तैयार करवाता था। 

तृतीय चरण : सभी लड़कों के कागजात इकट्ठा होने के बाद उन लड़कों का मेडिकल करवाने के लिए आर्मी कैंट क्षेत्र चुना जाता था, जिसमें इनका सहयोगी रोहित नाम का व्यक्ति आर्मी कैंट, धौलाकुंआ, दिल्ली कैंपस में अंदर ले जाकर इनके मेडिकल करवाता है। 

चतुर्थ चरण : इसमें सभी लड़कों का मेडिकल होने के बाद ट्रेनिंग के लिए स्थान का चयन किया जाता है, जहां पर बैच के अनुसार इन्हें ट्रेनिंग दिलवायी जाती है। हिमालयन कैंप, गट्डू खत्ता टिहरी गढ़वाल में आर्मी की मिलती जुलती वेशभूषा में इन्हें आर्मी की तरह प्रशिक्षण दिया जाता है। 

पिछले साल भी हुई थी ठगी 

पिछले साल भी सोनू ने अपने गांव के आसपास के 5-6 लड़कों के पैसे लेकर फर्जी ज्वाइनिंग लेटर दे दिए थे, जिसका पता चलने पर लोगों ने सोनू की पिटाई भी की, किंतु कोई मुकदमा दर्ज नहीं करवाया था।
... और पढ़ें
युवकों को आर्मी से मिलती-जुलती वर्दी में ट्रेनिंग कराते थे युवकों को आर्मी से मिलती-जुलती वर्दी में ट्रेनिंग कराते थे

उत्तराखंडः ताऊ के बेटे से हुआ प्यार तो महिला ने प्रेमी और चचेरे भाई के करवा दी पति की हत्या

कैंपटी में हुए हत्याकांड के पीछे प्रेम प्रसंग का मामला सामने आया है। टिहरी पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। बताया गया कि आरोपियों ने पहले मृतक को शराब पिलाई उसके बाद उसके सिर में रॉड मारकर उसे मौत के घाट उतारा।

देहरादूनः एक होटल में हुई युवती की साधारण सी हत्या बनी पेचिदा, ‘क’ और ‘ज’ के राज में उलझी पुलिस

घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी भागने की फिराक में थे, लेकिन जांच में जुटी पुलिस और एसओजी ने आरोपियों को पकड़ लिया। एसएसपी तृप्ति भट्ट ने बताया कि हत्या में शामिल दोनों आरोपियों और मृतक की पत्नी को न्यायालय में पेश किया गया है, जहां अदालत ने उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

कैंपटी में हुई युवक की हत्या का खुलासा करते हुए एसएसपी ने बताया कि प्रेम संबंध में आड़े आ रहे पति को मौत के घाट उतारने का प्लान मृतक की पत्नी पिंकी ने ही बनाया था। 16 मार्च को मसूरी अपने मायके गई पिंकी ने अपने ताऊ के बेटे प्रेमी नितिन कुमार और चचेरे भाई दिनेश दास को फोन कर बताया कि उसका पति शिव दास कमरे पर अकेला है।

उसके बाद दोनों शराब लेकर उसके कमरे पर गए। आरोपियों ने शिव दास (26) पुत्र प्रेम दास निवासी ग्राम डरोगी थाना पुरोला उत्तरकाशी को पहले शराब पिलाई और उसके बाद उसके सिर पर रॉड मारकर उसे मौत के घाट उतार दिया। उसके बाद दोनों फरार हो गए।

बताया गया कि शाम करीब चार बजे पड़ोस की एक महिला ने शिव दास को लहूलुहान स्थिति में देखा। मकान मालिक को भी घटना का पता चलने पर उसने पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए भेजा और जांच शुरू कर दी। 
... और पढ़ें

उत्तराखंड के युवक की दिल्ली में चाकू से गोदकर निर्मम हत्या, मिला क्षत-विक्षत शव

#कबतकनिर्भया : कर्नाटक से उत्तराखंड आई युवती से ट्रक चालक ने किया दुष्कर्म

कर्नाटक से उत्तराखंड आई एक युवती से अज्ञात ट्रक चालक ने दुष्कर्म किया। आरोप है कि टिहरी जिले के कंडीसौड़ में एक अज्ञात ट्रक चालक ने ट्रक में युवती के साथ दुष्कर्म किया।

पुलिस ने युवती की तहरीर के आधार पर अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। युवती का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया। कंडीसौड़ के राजस्व उप निरीक्षक ने बताया कि कर्नाटक की एक 28 साल की युवती मानसिक रूप से कुछ परेशान लग रही है।

उक्त युवती राजस्व पुलिस चौकी में पहुंची। युवती घर से बिना बताए यहां आई है। 28 नवंबर को वह चंबा पहुंची। वहां से एक ट्रक में बैठकर कंडीसौड़ की तरफ आई। जहां रास्ते में ट्रक चालक ने उसके साथ दुष्कर्म किया। युवती ने अपने पिता का मोबाइल नंबर बताया है। राजस्व पुलिस ने उसके पिता से संपर्क कर घटना की जानकारी दे दी ही।
... और पढ़ें

शिक्षक की बहन मूक बधिर को बंधक बनाकर लाखों की लूट, ग्रामीणों ने पुलिस पर लगाए आरोप

प्रतीकात्मक तस्वीर
जिला मुख्यालय के नजदीकी गांव कुट्ठा में दिन दहाड़े एक मूक बधिर महिला को बंधक बनाकर लाखों रुपये की लूटपाट की गई है। घटना के समय महिला घर पर अकेली थी। पुलिस ने मामले में शुक्रवार को मुकदमा दर्ज कर लिया है, वहीं ग्रामीणों ने पुलिस पर मामले में मुकदमा दर्ज करने में लेटलतीफी का आरोप लगाया है। ग्रामीणों ने सीओ से मुलाकात कर आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की है।

पांच किमी दूर कुट्ठा गांव में चोरों ने फिल्मी अंदाज में लूटपाट की घटना को अंजाम दिया है। सबली की बूढ़ाकेदार में शिक्षक हैं। सबली ने बताया कि बुधवार 27 नवंबर को वे अपने परिवार को बूढ़ाकेदार मेले में ले गए थे। घर में उनकी मूक बधिर बहन ऐला देवी (55) अकेली थी।

उन्होंने पुलिस को दी तहरीर में बताया कि शाम करीब पांच बजे पड़ोस की भाभी को फोन कर भैंस का दूध दुहने के लिए को कहा, जब वह घर गई तो कमरे से आवाज सुनकर उन्होंने दरवाजा खोला। जहां उन्होंने देखा कि मूक बधिर के हाथ-पांव बांधकर और मुंह में कपड़ा ठूंस कर उसे बाक्से में बंद किया हुआ था। इससे घबराई महिला ने उसे बाहर निकालकर गांव वालों को बुलाया और सबली के साथ ही पुलिस को फोन कर घटना की जानकारी दी।
... और पढ़ें

चार वाहन सील कर 38 के चालान काटे

उत्तराखंड: सामने आया नाबालिग से छेड़छाड़ व मारपीट का मामला, खेत में पड़ी मिली बेहोश

उत्तराखंड के टिहरी में जौनपुर क्षेत्र में एक नाबालिग से छेड़छाड़ व मारपीट का एक और मामला सामने आया है। किशोरी कैंपटी क्षेत्र में एक बंजर खेत में बेहोश पड़ी मिली। पुलिस ने उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से उसे दून अस्पताल रेफर कर दिया गया।

परिजनों का आरोप है कि किशोरी वहां अपने दोस्त के बुलाने पर गई थी, जिसने उसके साथ यह हरकत की। परिजनों की तहरीर पर मसूरी कोतवाली में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। 

कैंपटी थाना पुलिस को दी गई तहरीर में पीड़ित किशोरी की मां ने बताया कि उनकी नाबालिग बेटी को जानने वाले सवर्ण जाति के एक युवक कमल बिष्ट ने अपनी दोस्त से मिलाने के बहाने मसूरी के पास हाथीपांव बुलाया।
... और पढ़ें

देहरादून के ट्रक मालिक की पत्थरों से कुचलकर हत्या, बदरीनाथ हाईवे पर लहूलुहान मिला शव

देहरादून निवासी एक ट्रक मालिक की पत्थरों से कुचलकर हत्या कर दी गई। उसका लहूलुहान शव यहां बदरीनाथ हाईवे स्थित लोनिवि दोराहे पर ट्रक के पास ही पड़ा था। पुलिस ने मामले में अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। हत्यारों की तलाश में शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग खंगाली जा रही है। 

बृहस्पतिवार सुबह लोनिवि डाक बंगले को बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग से जोड़ने वाले प्वाइंट पर ट्रक के पास ही एक युवक का लहूलुहान शव पड़े होने से सनसनी फैल गई। स्थानीय लोगों की सूचना पर थाना प्रभारी महिपाल रावत फोर्स सहित मौके पर पहुंचे।

ट्रक में मिली आईडी के आधार पर मृतक की पहचान रोहित (30)  उर्फ हनी पुत्र स्व. सुनील वेलिंगटन निवासी 172/2  छोटा भारूवाला, थाना क्लमेनटॉउन (देहरादून) के रूप में हुई।
... और पढ़ें

दुष्कर्म पीड़ित बच्ची की हालत बिगड़ी, रेफर

नई टिहरी। नौ साल की दुष्कर्म पीड़ित बच्ची के पेट में अचानक तेज दर्द होने पर परिजनों ने उसे दोबारा मसूरी सिविल अस्पताल में भर्ती कराया। डाक्टरों ने बच्ची की गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे हायर सेंटर देहरादून रेफर कर दिया है। समाज कल्याण मंत्री ने पीड़िता के घर पहुंचकर परिजनों को न्याय दिलाने और पीड़िता के उचित उपचार का आश्वासन दिया। उन्होंने पीड़िता के परिजनों को सरकार की ओर से ढाई लाख की आर्थिक सहायता का चेक भी दिया।
जौनपुर क्षेत्र में 30 मई को अनुसूचित जाति की नौ साल की बच्ची को घर में अकेला देखकर गांव के ही युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया। आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है, लेकिन पीड़िता के मजिस्ट्रेट के सामने 164 के बयान दर्ज नहीं हो पाए थे। रविवार सुबह पीड़िता ने पेट में तेज दर्द की शिकायत की। परिजन उसे मसूरी स्थित सिविल अस्पताल ले गए। एसडीएम धनोल्टी रजा अब्बास, तहसीलदार जेएस राणा भी पीड़िता के साथ अस्पताल गए। एसडीएम ने बताया कि पीड़िता को मसूरी में उपचार के बाद देहरादून रेफर किया गया है।
इस बीच, समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य ने पीड़िता के घर पहुंचकर घटना पर गहरा दु:ख जताया और पीड़िता का उचित उपचार कराने का भरोसा दिया। उन्होंने पुलिस की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि आरोपी, पीड़िता और उसके परिजनों को एक ही वाहन में बैठाकर न्यायालय ले जाना उचित नहीं था। जन आंदोलन संगठन के राष्ट्रीय समन्वयक जबर सिंह वर्मा ने कहा कि पुलिस पीड़िता के अस्वस्थ होने के बावजूद उसे और उसके परिजनों को तीन दिन से देहरादून और नई टिहरी घुमा रही है, लेकिन अभी तक भी पीड़िता के 164 के बयान दर्ज नहीं करवा पाई है। घटना की विवेचना कर रहे सीओ नरेंद्रनगर से तत्काल जांच हटाकर किसी उच्च स्तरीय एजेंसी को जांच सौंपने की मांग की।
... और पढ़ें

नई टिहरीः दुष्कर्म के आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेजा, जल्द दर्ज कराए जाएंगे बच्ची के बयान 

अनुसूचित जाति की मासूम बच्ची से दुष्कर्म करने के आरोपी को पुलिस ने विशेष न्यायाधीश (पोक्सो) की अदालत में पेश किया गया। अदालत ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। पुलिस ने बताया कि मजिस्ट्रेट के सामने पीड़ित बच्ची के बयान जल्द दर्ज कराए जाएंगे।

जौनपुर क्षेत्र में गुरुवार को एक दरिंदे ने अपने ही गांव की नौ वर्ष की मासूम को घर में अकेला देखकर उसके साथ दुष्कर्म कर समाज को शर्मसार कर दिया था। जिससे इस घटना से क्षेत्र में तनाव की स्थिति पैदा हो गई थी। नौ साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना सामने आने के बाद लोगों ने आरोपी को फांसी की सजा देने की मांग उठाई है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन