विज्ञापन
विज्ञापन

आदर्श नगर सोसाइटी का विवादित भूखंड सील

Dehradun Bureauदेहरादून ब्यूरो Updated Sat, 15 Jun 2019 01:45 AM IST
ख़बर सुनें
ब्यूरो/अमर उजाला, ऋषिकेश। आदर्श नगर स्थित विवादित भूमि को उप जिलाधिकारी के आदेश पर शुक्रवार को सील कर दिया गया है। लंबे समय से मालिकाना हक को लेकर चल रहे विवाद में एसडीएम कोर्ट, ऋषिकेश के आदेश पर पुलिस ने ये कार्रवाई की है। ताजा आदेश के तहत एसडीएम ने आदेश दिया है कि विवाद निस्तारण तक उक्त संपत्ति कोतवाल ऋषिकेश की अभिरक्षा में रहेगी। भविष्य में जब मामला निस्तारित हो जाएगा उसके बाद नियमानुसार भूमि हस्तांतरित की जाएगी।
विज्ञापन
विज्ञापन
घटनाक्रम के मुताबिक नगर स्थित संपत्ति संख्या 56/78 आदर्श नगर कोआपरेटिव हाउसिंग सोसायटी लिमिटेड की थी। 19 जनवरी 1979 को उक्त संपत्ति को गंगा गिरि स्मारक ट्रस्ट को बेच दी गई। इसी आधार पर तत्कालीन नगर पालिका के अभिलेखों में गंगा गिरि स्मारक ट्रस्ट के नाम दर्ज कर दी गई। बाद में हाउसिंग सोसायटी के कई सदस्यों ने स्वामी गंगा गिरि ट्रस्ट के खिलाफ फास्ट ट्रैक अपर जिला एवं सत्र न्यायालय में मुकदमा दायर कर दिया।
इसी क्रम में कोर्ट ने ट्रस्ट के नाम की गई संपत्ति की रजिस्ट्री को अमान्य घोषित कर दिया था। कोर्ट के आदेश के बाद उक्त संपत्ति को दोबारा हाउसिंग सोसायटी के नाम दर्ज करने के लिए पालिका में दस्तावेज पेश किए गए। नामांतरण प्रक्रिया में जमकर घालमेल किया गया।

पुलिस ने सामान निकलवाकर गेट किया सील
आदर्श नगर स्थित उक्त संपत्ति पर महंत रत्नेश नामक व्यक्ति पिछले कई महीने से काबिज थे। शुक्रवार को आदेश जारी होने के बाद कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुंचकर भूखंड को खाली करवाया और गेट को सील कर दिया है। सीलिंग के दौरान महंत रत्नेश मौके पर नहीं थे। फोन पर संपर्क करने की कोशिश की गई तो किसी अन्य साथी ने बताया कि वह कहीं गए हैं अभी बात नहीं हो पाएगी।

कोर्ट के आदेशों को दरकिनार कर हुआ था नामांतरण
पूरे प्रकरण में नगर निगम का भी अहम किरदार सामने आया। इसके तहत 10 सितंबर 2007 को जारी हुए कोर्ट के आदेशों को नजरंदाज कर निगम प्रशासन के गृह कर विभाग ने गंगा गिरि ट्रस्ट के नाम पर संपत्ति दर्ज कर दी। इस मामले को लेकर मेयर अनिता ममगाईं ने भी कड़ा रुख अख्तियार किया था। नामांतरण की इस घालमेल के आरोपी अफसरों को फटकार भी लगाई गई थी। इतना ही नहीं गृहकर विभाग के बाबू ने भी अपनी रिपोर्ट में नामांतरण प्रक्रिया में हुई गड़बड़ी को लिखित में दर्ज किया है। इसको लेकर गृहकर विभाग के दो अफसरों की भूमिका भी संदिग्ध बताई गई है। फिलहाल इस मामले में नगर आयुक्त चतर सिंह चौहान अभी विधिक रायशुमारी ले रहे हैं।

Recommended

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए
Lovely Professional University

एलपीयू ही बेस्ट च्वॉइस क्यों है इंजीनियरिंग और अन्य कोर्सों के लिए

जानिए जल्दी से सरकारी नौकरी पाने के उपाय।
Astrology

जानिए जल्दी से सरकारी नौकरी पाने के उपाय।

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Rishikesh

डंपर का टायर फटा, युवक के सिर पर लगी चोट

डंपर का टायर फटा, युवक के सिर पर लगी चोट

17 जून 2019

विज्ञापन

संसद के बजट सत्र के पहले ही दिन प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष को कही ये बड़ी बात

सत्रहवीं लोकसभा का पहला सत्र सोमवार से शुरू हो गया। सत्र शुरू होने से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने मीडिया से रूबरू हुए। सुनते हैं किस तरह से प्रधानमंत्री मोदी ने बजट सत्र और विपक्ष के सहयोग को लेकर अपनी बात कही।

17 जून 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
सबसे तेज अनुभव के लिए
अमर उजाला लाइट ऐप चुनें
Add to Home Screen
Election