बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

फर्जी मेडिकल सर्टिफिकेट बनाने में फंसी महिला चिकित्सक

अमर उजाला ब्यूरो/संभल Updated Mon, 07 Mar 2016 12:33 AM IST
विज्ञापन
रिपोर्ट
रिपोर्ट - फोटो : getty images

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
दुष्कर्म के आरोपी का फर्जी मेडिकल सर्टिफिकेट बनाने के आरोप में महिला चिकित्सक के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज की गई है। जिला अस्पताल के कार्यवाहक मुख्य चिकित्सधीक्षक डा. कप्तान सिंह ने मामले की जांच की। उन्हीं की तहरीर पर कोतवाली में महिला चिकित्सक व बहजोई के पैथोलॉजी संचालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।
विज्ञापन


सीएचसी की स्थानांतरित चिकित्साधिकारी डा. अर्चना पर दुष्कर्म के आरोपी का फर्जी मेडिकल सर्टिफिकेट बनाने का आरोप है। उन्होंने बहजोई के बंबा रोड निवासी मोहित वार्ष्णेय को 19 मई 2015 से छह जून 2015 तक सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती दर्शाया था।


इसी बीच मोहित पर दुष्कर्म का आरोप लगाते हुए बहजोई थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। जिसका मुकदमा न्यायालय में विचाराधीन है। दुष्कर्म पीड़िता के पिता ने फर्जी मेडिकल बनाकर मोहित वार्ष्णेय को बचाए जाने का आरोप लगाया और इसकी शिकायत चंदौसी में तहसील दिवस में की थी।

इसकी विभागीय जांच की गई। जांच में मामला सही पाया गया। जांच में यह भी पाया गया कि बहजोई की निर्मल पैथोलॉजी लैब ने मोहित वार्ष्णेय को बीमारी की फर्जी रिपोर्ट बनाकर दी हैं। रविवार को महिला चिकित्सक डा. अर्चना व पैथोलॉजी संचालक के खिलाफ धोखाधड़ी के आरोप में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

डा. अर्चना का कहना है कि मैंने कोई फर्जी मेडिकल नहीं बनाया। मुझे झूठे आरोपों में फंसाने की साजिश की जा रही है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us