विज्ञापन
विज्ञापन

रहमतों और बरकतों का महीना है रमजान

Meerut Bureauमेरठ ब्यूरो Updated Sat, 18 May 2019 02:43 AM IST
ख़बर सुनें
रहमतों और बरकतों का महीना है रमजान
विज्ञापन
विज्ञापन
फलावदा। रमजान का महीना यानी रहमतों और बरकतों का महीना। इस माह में रहमत और बरकतें हर उस मोमिन पर उतार दी जाती हैं। जो अल्लाह के हुक्म को पूरा करते हुए रोजा रखे और इबादत भी करें। ऐसा करने वालों को अल्लाह ताला खुद अपने हाथों से इनाम से नवाजता है और कहता ताकि तुम ईमान और तकवे वाले बनो। इसी महीने में कुरआन शरीफ को हजरत मोहम्मद पर मुकम्मल उतारा गया। रमजान के दूसरे जुमे को नमाज अदा कर पूरे आलम के लिए दुआ मांगी।
रोजा रखने से मुराद प्यासे रहने से नहीं है और न ही ऐसे काम अल्लाह को पसंद है जो इंसान रोजे के दौरान झूठी बात कहने और झूठ पर अमल करने तथा बुराई से बचें। अल्लाह ताला को उसकी इबादत भूखा प्यासा रहना कोई अहमियत नहीं रखती। इंसान को चाहिए उन सभी लायानी बातों से दूर रहें। इस महीने में अल्लाह ने दुनिया में भटके लोगों को रास्ता दिखाने के लिए अपनी आखिरी आसमानी किताब यानी कुरान ए पाक को हजरत मोहम्मद पर उतारा। इसी महीने में हजरत मोहम्मद को भटके इंसानों को रास्ता दिखाने के लिए आखिरी पैगम्बर बनाकर दुनिया में भेजा। रमजान का महीना भलाई बरकत रहमत के अतिरिक्त दुआएं कुबूल होने का महीना है। अल्लाह ताला ने इंसानों को एक ऐसा महीना रमजान दिया है पूर्व में की गई गुनाह से तौबा कर लेने से सारी गुनाह माफ कर दी जाती है। वह मोमिन खुशकिस्मत माना गया है जो कि साफ मन से जिंदगी गुजारे। इस महीने को हासिल करें इस माह की पहली रात को ही जन्नत के दरवाजे खोल दिए जाते हैं और दोजख के दरवाजे महीने भर के लिए बंद कर दिए जाते हैं। इसी तरह शैतान को भी कैद कर दिया जाता है। इस माह में नेकी और इबादत का सवाब 70 गुना बढ़ा दिया जाता है। खुदा फरमाता है रोजा रखने के बाद यह एहसास होना भी जरूरी है। जिन लोगों को भर पेट खाना नहीं है उन लोगों के बारे में भी सोचा जाए। रोजा रखने के बाद खैरात जकात की भी खास अहमियत है। इस माह को तीन हिस्सों में बांटा गया है। पहले दस दिन का एक अशरा होता है। पहला अशरे में आसमान से रहमत, बरकते नाजिल होती हैं। दूसरा अशरा बख्शीश का और तीसरा अशरा दोजख की आग से निजात हासिल करने का है। रमजान के दूसरे जुमे को अकीदतमंदों ने नमाज अदा कर रहमत बख्शीश और पूरे आलम में अमनो अमान की दुआ मांगी।

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Meerut

Election Results Live 2019: इस ऐतिहासिक सीट पर भाजपा-बसपा में कांटे की टक्कर

मेरठ में भाजपा से दो बार के लगातार विजेता रहे राजेंद्र अग्रवाल और गठबंधन प्रत्याशी याकूब कुरैशी में कांटे की टक्कर चल रही है।

23 मई 2019

विज्ञापन

जीत के बाद पीएम मोदी का पहला भाषण, कहा बदनीयत से नहीं करूंगा कोई काम

जीत के बाद पीएम मोदी का पहला भाषण। हजारों कार्यकर्ताओं से भरा प्रांगण मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा।

24 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election