लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Rajasthan ›   BJP leader Satish Poonia Attacked Rajasthan CM Ashok Gehlot Jaipur

Rajasthan: 'गहलोत कुर्सी की सुरक्षा कर रहे', बदहाल कानून व्यवस्था के विरोध में 20 को भाजपा का बड़ा प्रदर्शन

न्यूूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर Published by: उदित दीक्षित Updated Thu, 18 Aug 2022 10:51 PM IST
सार

Satish Poonia: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा, मुख्यमंत्री परफॉर्म करते तो शिकायत नहीं होती, लेकिन प्रदेश के हालातों से ऐसा लगता है कि उन्हें को राजस्थान की जनता की जनसुरक्षा से कोई सरोकार नहीं है। उन्हें सरोकार है तो सिर्फ अपनी कुर्सी से, कुर्सी की सुरक्षा उनके लिए जनसुरक्षा से बड़ी है। 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

Satish Poonia: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने प्रदेश की बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर सीएम अशोक गहलोत पर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा, कांग्रेस ने 2018 के अपने घोषणापत्र में भरोसा दिलाया था कि प्रदेश की कानून व्यवस्था को दुरुस्त रखेंगे। पुलिस को आधुनिक बनाकर संसाधनों से युक्त करेंगे और अपराधों पर नियंत्रण करेंगे, लेकिन ऐसा कुछ होता दिखाई नहीं दे रहा है।  



सतीश पुनिया भाजपा प्रदेश कार्यालय में मीडिया से बात कर रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य की बिगड़ी कानून व्यवस्था, महिला अत्याचार, मॉब लिंचिंग, हिंदुओं पर हो रहे अत्याचार आदि गंभीर मुद्दों को लेकर भाजपा 20 अगस्त को जयपुर में विशाल प्रदर्शन करेगी। हम लोग शहीद स्मारक पर इकट्ठा होकर मुख्यमंत्री आवास का घेराव करेंगे। 

 
उन्होंने कहा, किसी राज्य की कानून व्यवस्था का सीधा संबंध उस प्रदेश की आर्थिक तरक्की से भी होता है। दुनिया से भारत में आने वाला हर तीसरा पर्यटक राजस्थान जरूर आता है। पर्यटन का राजस्थान की आर्थिक तरक्की में बहुत बड़ा योगदान है, लेकिन उदयपुर में कन्हैयालाल का सिर कलम कर दिया गया। उसके बाद जिले के पर्यटन व्यवसाय की सारी बुकिंग निरस्त हो गईं। इस घटना के बाद उदयपुर का पर्यटन व्यवसाय बुरी तरह प्रभावित हुआ है। इसका सीधा असर लोगों के रोजगार पर भी पड़ा है। 

सतीश पूनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को जमवारामगढ़ की महिला टीचर को जलाने की घटना के बारे में जानकारी नहीं थी। गुजरात में जब वह मीडिया से बार कर रहे थे तब एक पत्रकार ने उनसे सवाल पूछा पर वह अनभिज्ञ थे। इसके बाद एक सहयोगी ने उन्हें उक्त घटना की जानकारी दी। ऐसी घटनाओं की एक लंबी फेहरिस्त है। राजस्थान का दुर्भाग्य है कि कांग्रेस सरकार को साढे तीन साल में कोई भी पूर्णकालिक गृहमंत्री ही नहीं मिला है।  

अगर, मुख्यमंत्री परफॉर्म करते तो शिकायत नहीं होती, लेकिन प्रदेश के हालातों से ऐसा लगता है कि उन्हें को राजस्थान की जनता की जनसुरक्षा से कोई सरोकार नहीं है। उन्हें कोई सरोकार है तो सिर्फ अपनी कुर्सी से, कुर्सी की सुरक्षा उनके लिए जनसुरक्षा से बड़ी है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00