विज्ञापन
विज्ञापन

मेडिटेशन करने के वो तीन तरीके, जिनसे दूर होंगी ये बड़ी बीमारियां

लाइफस्टाइल डेस्क Updated Wed, 14 Aug 2019 03:59 PM IST
different types of meditation cure diseases
ख़बर सुनें
ध्यान तनावपूर्ण दुनिया में विश्राम और जागरूकता के लिए समय प्रदान करता है जब हमारी इंद्रियां अक्सर सुस्त होती हैं। शोध बताते हैं कि ध्यान करने से अस्थायी तनाव से राहत की अधिक संभावना है।ध्यान करने की विविधता से पता चलता है कि व्यक्तित्व या जीवन शैली की के आधार पर हर व्यक्ति के लिए ध्यान की अलग-अलग शैली है। जो व्यक्ति ध्यान करता है, उसके लिए अभ्यास से शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार होता है, साथ ही भावनात्मक स्वास्थ्य भी सुधर जाता है।आगे की स्लाइड्स में जानें ध्यान की शैलियां। 
विज्ञापन
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

Recommended

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी
Invertis university

शेयर मार्केट, अब नहीं रहेगा गुत्थी

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में
Astrology Services

समस्या कैसी भी हो, पाएं इसका अचूक समाधान प्रसिद्ध ज्योतिषाचार्यों से केवल 99 रुपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें  लाइफ़ स्टाइल से संबंधित समाचार (Lifestyle News in Hindi), लाइफ़स्टाइल जगत (Lifestyle section) की अन्य खबरें जैसे हेल्थ एंड फिटनेस न्यूज़ (Health  and fitness news), लाइव फैशन न्यूज़, (live fashion news) लेटेस्ट फूड न्यूज़ इन हिंदी, (latest food news) रिलेशनशिप न्यूज़ (relationship news in Hindi) और यात्रा (travel news in Hindi)  आदि से संबंधित ब्रेकिंग न्यूज़ (Hindi News)।  

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Travel

बहुत शांत और खूबसूरत जगह है फिनलैंड, मौका मिले तो जरूर घूम कर आएं

मुझे भारत और फिनलैंड में एक समानता दिखाई दी कि दोनों ही जगहों पर कला को लेकर लोगों में जागरूकता है। वहां के लोग भी अपनी कला को खूब प्रोत्साहित करते हैं।

25 अगस्त 2019

विज्ञापन

बहरीन के 200 साल पुराने जिस मंदिर में मोदी ने की पूजा उसकी ये हैं खासियत

पीएम मोदी बहरीन के मनामा के 200 साल पुराने श्रीनाथ मंदिर में पूजा करने गए। यहां उन्होंने पूजा तो की ही साथ ही मंदिर के पुनर्निमाण योजना का शुभारंभ भी किया। हम आपको बताते हैं कि दो सौ साल पुराने इस मंदिर की क्या है खासियत।

25 अगस्त 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree