किसान आंदोलन: दूसरे दौर की वार्ता शुरु, कर्ज माफी पर अड़े किसान नेता

अमर उजाला टीम डिजिटल/जयपुर Updated Wed, 13 Sep 2017 05:35 PM IST
Rajasthan Farmer protests Agitation and traffic jam against government
बैठक में कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, सहकारिता मंत्री अजय सिंह किलक और भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी - फोटो : अमर उजाला
राजस्थान में किसानों का कर्ज माफ करने समेत विभिन्न मुद्दों को लेकर चल रहे आंदोलन को समाप्त कराने के प्रयास तेज हो गए हैं। आज दोपहर में किसान संगठनों के पदाधिकारियों और राज्य सरकार के बीच दूसरे दौर की बातचीत जयपुर में शुरू हुई। 
बैठक में कृषि मंत्री प्रभुलाल सैनी, सहकारिता मंत्री अजय सिंह किलक और भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष अशोक परनामी तथा किसान नेता अमराराम एवं अन्य नेता मौजूद है। बैठक शुरु होने से पहले अमराराम ने कहा किसरकार ने बातचीत के लिए दोपहर एक बजे बुलाया था, इसलिए वे आए है। उन्होंने कहा कि किसानों का कर्ज माफ कराना इस बैठक का अहम मुद्दा है। जब तक सरकार कर्ज माफी की घोषणा नहीं करती, आंदोलन जारी रहेगा। प्रदेश में किसानों पर करीब 39 हजार 500 करोड़ का कर्ज है।

उधर, 11 सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन आज भी जारी है। सीकर, श्रीगंगानगर, बीकानेर, हनुमानगढ़ आदि जिलों में किसानों ने प्रदर्शन किया और हाइवे पर जाम लगाया। बीकानेर में जयपुर हाइवे पर पेड़ डाल कर रास्ता बंद कर दिया है। इसी तरह सीकर में भी जगह-जगह किसानों ने जाम लगा रखा है। इस जाम की वजह से दूध, सब्जी आदि की सप्लाई भी प्रभावित हो रही है।   
 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

आप विधायक के इस बयान से मुश्किल में पड़ सकते हैं केजरीवाल, कहा- '...ऐसे अधिकारियों को ठोकना चाहिए'

केजरीवाल के आवास पर मुख्य सचिव से हाथापाई मामले में फजीहत झेल रही आम आदमी पार्टी अपने एक विधायक के विवादित बयान से बड़ी मुश्किल में फंस सकती है।

23 फरवरी 2018

Related Videos

VIDEO: दबंगों ने पीट-पीटकर ली युवक की जान

जुनूनी भीड़ जब-जब बेकाबू होती है उसका अंजाम बहुत ही बुरा होता है। राजस्थान के दो अलग-अलग इलाकों में एसी ही भीड़ का कातिलाना अंजाम देखने को मिला है। पूरा मामला जानने के लिए देखिए ये रिपोर्ट।

23 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen