बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
TRY NOW

पाकिस्तान से आए हिंदू शरणार्थियों की मुश्किलें बढ़ीं, नहीं मिल रही कोई मदद

अमित शर्मा, नई दिल्ली Updated Thu, 02 Aug 2018 06:09 PM IST
विज्ञापन
hindu-migrant
hindu-migrant

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
 साल 2013 में पाकिस्तान से भागकर हिंदुस्तान पहुंचे 620 हिंदू शरणार्थियों की मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं। लगभग दो महीने से बिना बिजली के रह रहे इन लोगों की परेशानी बारिश की वजह से और ज्यादा बढ़ गई है। हर जगह मदद का हाथ फैलाने के बाद भी इन्हें कोई मदद नहीं मिली है। 
विज्ञापन


स्थिति यह है कि जहांगीर पुरी के मजलिस पार्क मेट्रो स्टेशन के पीछे सेना की जमीन पर ये शरणार्थी बेहद तंगहाल परिस्थितियों में रहने को मजबूर हैं। इनके कैंपों के पास नाले बन गए हैं और गहरी जगहों पर जल भराव हो गया है जिनमें मच्छरों की ब्रीडिंग तेज हो गई है। इससे इन शरणार्थियों में डेंगू-मलेरिया जैसी बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ गया है। 


पिछले दिनों बिजली विभाग के कर्मचारियों ने इनके कैंपों से बिजली का कनेक्शन काट दिया था। दो महीने के बाद भी आज तक इन कैंपों में बिजली की सुविधा शुरु नहीं करवाई जा सकी। गर्मी में कड़ी धूप और बारिश की उमस के बीच ये लोग बेहद परेशानी भरे हालात में जी रहे हैं। 
 
कैसे चल रहा गुजारा
कुल 620 हिंदू शरणार्थियों में 160 बच्चे और 240 महिलाएं हैं। सभी 220 पुरुष स्थानीय बाजार में मजदूरों के रुप में काम कर रहे हैं। कुछ लोग रेहड़ी लगाते हैं या कोई छोटे-मोटे सामान बनाकर लोगों को बेचते हैं और उससे हुई आय से पेट भर रहे हैं। इन शरणार्थियों की मदद कर रहे एक समाजसेवी हरिओम ने बताया कि कुछ लोगों के सहयोग से यहां एक छोटा सा स्कूल खुलवा दिया गया है जहां इनके बच्चों को प्राथमिक शिक्षा दी जा रही है। लेकिन इसके लिए उन्हें किसी तरह का कोई सरकारी सहयोग नहीं मिल रहा है। हरिओम ने बताया कि कुछ दूर पर आंगनवाड़ी जैसे कार्यक्रम चल रहे हैं, लेकिन इन बच्चों के लिए प्रयास करने के बाद भी वे आंगनवाड़ी खुलवाने में सफल नहीं हो सके।  

उन्होंने बताया कि इन लोगों की मदद के लिए उन्होंने कई लोगों से संपर्क किया लेकिन कहीं से कोई मदद नहीं मिली। वे इनकी समस्याओं को लेकर केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी से लेकर दिल्ली सरकार तक में हर जगह अपील की, लेकिन उन्हें इसका कोई लाभ नहीं मिला। भाजपा से स्थानीय पार्षद गरिमा गुप्ता और आम आदमी पार्टी से विधायक पवन कुमार शर्मा से भी मदद के नाम पर उन्हें आश्वासन के अलावा और कुछ नहीं मिला है। 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X