बर्लिन में भारतीय पैरा एथलीट को मांगनी पड़ी भीख, जीता सिल्वर मेडल

amarujala.com- Presented By: अभिषेक मिश्रा Updated Wed, 12 Jul 2017 08:31 AM IST
Indian para athlete have to beg in berline, as ignored by authorities
पैरा एथलीट कंचनमाला पांडे आंखों से तो नहीं देख सकती, लेकिन तैरना बखूबी जानती है। भारत की ओर से उन्हें बर्लिन वर्ल्ड पैरा स्विमिंग चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए भेजा गया था, लेकिन उन्हें इस सफर पर सरकार और अथॉरिटी की गलतियों का खामियाजा भुगतना पड़ा।  
दरअसल कंचनमाला और पांच अन्य पैरा एथलीट्स को जर्मनी पैरा स्विमिंग चैंपियनशिप में भाग लेने के लिए भेजा गया था, लेकिन सरकार द्वारा भेजी गई सहायता राशि उन तक नहीं पहुंची। पैसा न होने के कारण उन्हें अनजान शहर में भीख मांगने के लिए मजबूर होना पड़ा। खिलाड़ियों के साथ हुई इस अनदेखी के लिए पीसीआई ने स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया को दोषी ठहराया है। 

वहीं इन हालातों में भी कंचन और सुयाश जाधव ने हार नहीं मानी और दोनों ने देश के लिए सिल्वर मेडल जीता और वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए क्वालिफाई किया। कंचन एस 11 कैटेगरी की तैराक हैं। वह फ्री स्टाइल, बैक स्ट्रोक, ब्रेस्ट स्ट्रोक सभी प्रकार से तैर सकती हैं। इस साल भारत की ओर से वर्ल्ड पैरा स्विमिंग चैंपियनशीप में क्वालिफाई करने वाली अकेली महिला हैं। 

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

आरबीआई की रिपोर्ट में खुलासा: हर चार घंटे में बैंक का एक स्टाफ पकड़ा जाता है फ्रॉड केस में

आरबीआई की एक रिपोर्ट में हैरान कर देने वाले तथ्य सामने आए हैं।

18 फरवरी 2018

Related Videos

भारत पहुंचे कनाडाई PM के बेटे हैं तैमूर से भी ज्यादा क्यूटनेस, सोशल मीडिया पर छाए

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो भारत के सात दिन के दौरे पर हैं। भारत पहुंचने पर उन्होंने प्लेन से उतरने से पहले नमस्ते करते हुए लोगों का अभिवादन किया।

18 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen