विज्ञापन
विज्ञापन

बद्दी में बीबीएनडीए पांच हजार भवनों को जल्द कराएगा नियमित

ब्यूरो, बद्दी सोलन Updated Mon, 27 Jun 2016 09:15 PM IST
औद्योगिक शहर बीबीएन में अब अवैध रूप से तैयार हो चुुके भवनों के नक्शों को बीबीएनडीए से पास किया जा सकेगा।
औद्योगिक शहर बीबीएन में अब अवैध रूप से तैयार हो चुुके भवनों के नक्शों को बीबीएनडीए से पास किया जा सकेगा। - फोटो : demo pic
ख़बर सुनें
औद्योगिक शहर बीबीएन में अब अवैध रूप से तैयार हो चुुके भवनों के नक्शों को बीबीएनडीए से पास किया जा सकेगा। प्रदेश सरकार ने लोगों को अपने मकान, व्यावसायिक और औद्योगिक परिसरों में सैटबैक को लेकर 70 फीसदी तक के अवैध निर्माण को नियमित करने के लिए औद्योगिक शहर बीबीएन में रिटेंशन पॉलिसी को लागू कर दिया है।
विज्ञापन
इसके तहत औद्योगिक क्षेत्र में तकरीबन 5000 हजार भवन मालिकों को लाभ मिलेगा। बीबीएनडीए के सीईओ ललित जैन ने सोमवार को पत्रकारवार्ता में इसका खुलासा किया है। कहा कि इच्छुक 29 जुलाई तक 11 सौ रुपये के साथ ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं। कहा कि सरकार की इस योजना के तहत बीबीएनडीए के अधिकार क्षेत्र में आने वाले सभी प्रकार के भवनों में सैटबेक को लेकर 70 फीसदी अवैध निर्माण वाले नक्शों को स्ट्रक्चर स्टेबिलिटी रिपोर्ट और एक निर्धारित शुल्क के साथ पास किया जाएगा।

यह तय की गईं हैं शर्तें
16 जून 2016 तक हुए निर्माण को इस पॉलिसी के दायरे में रखा है। इसमें पांच मंजिला से अधिक ऊपर की इमारतों को भी पास किया जा सकेगा। इसमें एक भवन के लिए दो बार आवेदन नहीं किया जा सकेगा। आवेदन पर एक साल के भीतर बीबीएनडीए फैसला लेने का अधिकार रखेगा। इस प्रकार के निर्माण का नक्शा पास करवाने के लिए आवेदक को सरकारी मान्यता प्राप्त सिविल इंजीनियर से स्ट्रक्चर, स्टेबिलिटी की ऑडिट रिपोर्ट को भी देना होगा। इसके बाद बीबीएनडीए स्वयं भवन का जायजा लेगा। पॉलिसी के तहत लैंड यूज यानी रेजिडेंशियल से कॉमर्शियल यूज करने पर भी नक्शा पास किया जा सकेगा।

11 सौ रुपये फीस के साथ आनलाइन आवेदन
बीबीएनडीए के पास अवैध निर्माण का नक्शा पास करवाने के लिए आवेदक को एक हजार रुपये के साथ एक सौ रुपये ई-चार्जिज के रूप में देने होंगे। इसके बाद भवन की प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से रेग्यूलराइजेशन फीस अलग से देनी होगी। औद्योगिक शहर बीबीएन में नगर परिषद नालागढ़, एचपीएसआईडीसी, डीआईसी और हिमुडा के अतिरिक्त बीबीएनडीए के अधीन करीब पांच हजार अवैध निर्माण का आंकड़ा बताया जा रहा है। प्रदेश सरकार की इस रिटेंशन पॉलिसी का इन लोगों को सीधे तौर पर लाभ मिलेगा।

अपील का भी है प्रावधान
बीबीएनडीए से आवेदन के बावजूद नक्शा पास न होने पर इसके लिए सेक्रेटरी टीसीपी को भी अपील की जा सकती है। यहां दोबारा नक्शा पास करने को लेकर रिटेंशन पॉलिसी का सहारा लिया जा सकता है। पॉलिसी में प्रदेश सरकार की ओर से बीपीएल के दायरे में आने वालों को शुल्क में 50 फीसदी की छूट दी गई है ताकि लोगों पर अधिक आर्थिक बोझ न पड़े।
पार्किंग में अवैध निर्माण मान्य नहीं
भवन के पार्किंग एरिया में अवैध निर्माण होने पर बीबीएनडीए इसे पॉलिसी के माध्यम से मान्य नहीं करेगा। पार्क में भी भवन निर्माण करने पर नक्शा पास नहीं किया जाएगा। इसके अलावा एतिहासिक भवनों में तबदीली करने पर नक्शा पास किया जा सकेगा।  

यह शुल्क किया है निर्धारित
सैटबेक में 35 फीसदी तक अवैध निर्माण पर आवेदक को नगर परिषद एरिया में ग्राउंड फ्लोर पर 800 रुपये प्रति वर्ग मीटर और 400 रुपये इससे ऊपर की मंजिलों के लिए देना होगा। 35 फीसदी से अधिक के अवैध निर्माण पर दोगुना शुल्क देना होगा। बिना स्वीकृति भवन पर 100 वर्ग मीटर तक अतिरिक्त मंजिल तैयार करने पर नगर परिषद एरिया में 15 सौ रुपये प्रति वर्ग मीटर तथा नगर परिषद एरिया से बाहर 1000 रुपये प्रति वर्ग मीटर शुल्क के रूप में देने होंगे। 100 वर्ग मीटर से अधिक एरिया में यह शुल्क का दोगुना देना होगा।

बिना नक्शा पास करवाए भवनों के लिए फीस
अगर बिना नक्शा पास करवाए नगर परिषद एरिया में किसी भवन का निर्माण किया गया और सैटबेक 35 फीसदी तक अवैध बने हैं तो ग्राउंड फ्लोर के लिए 2400 रुपये प्रति वर्ग मीटर तथा इससे ऊपर की मंजिलों के लिए 1200 रुपये प्रति वर्ग मीटर देने होंगे। नप एरिया से बाहर पढ़ने वाली जमीन पर 1200 रुपये ग्राउंड फ्लोर और 600 रुपये प्रति वर्ग मीटर इससे ऊपर की मंजिलों के लिए देने होंगे। अवैध भवन निर्माण में सैटबेक की जगह पर 70 फीसदी तक अवैध निर्माण पर यह फीस का दोगुना होगी।

एक से अधिक अवैध निर्माण पर फीस
एक से अधिक अवैध निर्माण में अगर भवन निर्माण को लेकर स्वीकृति नहीं है और इमारत को बहुमंजिला बनाया है तो 100 वर्ग मीटर के लिए नगर परिषद एरिया में 4500 रुपये प्रति वर्ग मीटर तथा नप क्षेत्र से बाहर 3000 रुपये प्रति वर्ग मीटर फीस के रूप में देने होंगे। 100 वर्ग मीटर से अधिक की बहुमंजिला इमारत के लिए यह शुल्क का दोगुना देना होगा।
विज्ञापन

Recommended

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश
Dholpur fresh

प्रथम श्रेणी के दुग्ध उत्पादों के लिए प्रतिबद्ध है धौलपुर फ्रेश

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Himachal Pradesh

प्याज की थोक और परचून बिक्री पर मुनाफा तय, ज्यादा वसूली पर होगी ये कार्रवाई

कोई भी प्याज विक्रेता थोक या परचून में तय दाम से ज्यादा रेट में प्याज नहीं बेच पाएगा। हिमाचल के जिला सोलन प्रशासन ने प्याज कारोबारियों के लिए मुनाफे की दरें तय कर दी हैं।

9 दिसंबर 2019

विज्ञापन

माइक्रोनेशिया के यप द्वीप में आज भी चलते हैं पत्थर के सिक्के !

दुनिया में Yap एक ऐसी जगह है जहां Rai Stone Money चलती है। Micronesia Island की ये जगह पुरानी मानी जाती है।

10 दिसंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls
Niine

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election