बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

Kisan Andolan: बोले राकेश टिकैत: दिक्कत क्या है, विदेशी हस्तियां सिर्फ समर्थन दे रही हैं और कुछ नहीं

अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली Published by: शाहरुख खान Updated Fri, 05 Feb 2021 12:00 AM IST

सार

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। सिंघु बॉर्डर पर 71वां और गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन को आज 69वां दिन है। वहीं, विपक्षी नेताओं का दल किसानों से मिलने गाजीपुर बॉर्डर पहुंचा। लेकिन पुलिस ने पहले ही रोक दिया। यहां पढ़ें किसान आंदोलन से जुड़ा पल-पल का अपडेट...
 
विज्ञापन
किसान नेता राकेश टिकैत
किसान नेता राकेश टिकैत - फोटो : ani
ख़बर सुनें

विस्तार

अगर कुछ विदेशी आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं, तो समस्या क्या हैः राकेश टिकैत
विज्ञापन

कई विदेशी शख्सियतों द्वारा किसान आंदोलन के समर्थन पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा अगर कुछ विदेशी आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं, तो समस्या क्या है? वे न तो कुछ दे रहे हैं और न ही हमसे कुछ ले रहे हैं। 

300 सोशल मीडिया हैंडल पाए गए हैं, जिनका इस्तेमाल घृणित और निंदनीय कंटेंट फैलाने के लिए किया जा रहा
दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त प्रवीर रंजन ने प्रेसवार्ता कर बताया कि दिल्ली की तीनों बॉर्डर पर किसान आंदोलन चल रहा है, दिल्ली पुलिस सोशल मीडिया को मॉनिटर कर रही है, लगभग 300

सोशल मीडिया हैंडल पाए गए हैं, जिनका इस्तेमाल घृणित और निंदनीय कंटेंट फैलाने के लिए किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इनका इस्तेमाल कुछ पश्चिमी हित संगठनों द्वारा किया जा रहा है, जो किसान आंदोलन के नाम पर भारत सरकार के खिलाफ गलत प्रचार कर रहे हैं।
 


ग्रेटा थनबर्ग पर एफआईआर दर्ज करने पर प्रवीर रंजन ने कहा कि एफआईआर में किसी का नाम नहीं है, यह केवल टूलकिट को बनाने वालों के खिलाफ है, जो जांच का विषय है।


एक गांव से 10 लोग एक ट्रैक्टर में बैठकर 21 दिन के लिए आंदोलन पर पहुंचेंगेः राकेश टिकैत
किसान आंदोलन को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि अब आंदोलन को एक गांव 10 लोग एक ट्रैक्टर और 21 दिन की तर्ज पर चलाया जाएगा। यानी अब एक गांव से 10 लोग एक ट्रैक्टर में बैठकर 21 दिन के लिए आंदोलन पर पहुंचेंगे।

80 साल की राम कुमारी देवी खुद ट्रैक्टर चलाकर गाजीपुर बॉर्डर पहुंचीं
मुरादनगर की रहने वाली 80 साल की राम कुमारी देवी खुद ट्रैक्टर चलाकर किसान आंदोलन का समर्थन करने गाजीपुर बॉर्डर पहुंचीं।

दिव्यांग किसान ने भी अपना समर्थन दिया
किसान आंदोलन में अलीगढ़ के जट्टारी से आए दिव्यांग किसान ने भी अपना समर्थन दिया। उनका कहना है कि जब आंदोलन में बड़े बुजुर्ग कृषि कानून के खिलाफ खड़े हैं तो वह भी उनका साथ देने के लिए यूपी गेट पहुंचे हैं।

गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे विपक्षी दल, पुलिस ने रोका
विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल गाजीपुर बॉर्डर पहुंच गया है। हालांकि विपक्षी दलों के प्रतिनिधिमंडल को पुलिस ने रोक दिया है। आपको बता दें कि विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल में एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले, डीएमके सांसद कनिमोझी, एसएडी सांसद हरसिमरत कौर बादल और टीएमसी सांसद सौगत रॉय समेत कई नेता शामिल हैं।
 

कीलों को उखाड़ा नहीं जा रहा, जगह बदली जा रही
कीलों को पुलिस द्वारा उखाड़ने की खबर फैलने के बाद पुलिस ने सफाई दी कि ऐसी वीडियो और तस्वीरें प्रसारित हो रही हैं जिसमें यह दिखाया जा रहा है कि गाजीपुर बाॅर्डर से कीलें हटाई जा रही हैं। कीलों की जगह बदली जा रही है। बाॅर्डर पर तैयारियां पहले जैसी ही हैं।
 

यहां 3 किलोमीटर तक बैरिकेडिंग लगी हुई: हरसिमरत कौर
हरसिमरत कौर ने कहा कि यहां 3 किलोमीटर तक बैरिकेडिंग लगी हुई हैं। ऐसे में किसानों की क्या हालत हो रही होगी। हमें भी यहां रोका जा रहा है हमें भी उनसे मिलने नहीं दे रहे। 
 

इतनी बैरिकेडिंग तो हिंदुस्तान के अंदर पाकिस्तान बॉर्डर पर भी नहीं: हरसिमरत कौर
हरसिमरत कौर ने कहा कि हम आठ-दस पार्टियां किसानों से मिलने गाज़ीपुर बॉर्डर जा रही हैं। जहां पर 13 लेयर की बैरिकेडिंग की गई है, इतना तो हिंदुस्तान के अंदर पाकिस्तान बॉर्डर पर भी नहीं है। हमें संसद में भी इस मुद्दे को उठाने का मौका नहीं दिया जा रहा है जो कि सबसे अहम मुद्दा है।

हम सभी किसानों का समर्थन करते हैं: सुप्रिया सुले
एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले ने कहा कि हम किसानों से मिलने जा रहे हैं। हम सभी किसानों का समर्थन करते हैं, हम सरकार से किसानों के साथ बातचीत करने का अनुरोध करते हैं। 

गाज़ीपुर बॉर्डर जा रहा विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल
विपक्षी नेताओं का एक प्रतिनिधिमंडल गाज़ीपुर बॉर्डर जा रहा है जहां किसान कृषि कानूनों के विरोध में बैठे हैं। विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल में एनसीपी सांसद सुप्रिया सुले, डीएमके सांसद कनिमोझी, एसएडी सांसद हरसिमरत कौर बादल और टीएमसी सांसद सौगत रॉय समेत कई नेता शामिल हैं।

सिंघु बॉर्डर पर सुरक्षाबल की तैनाती जारी
सिंघु बॉर्डर पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए बॉर्डर पर सुरक्षाबल की तैनाती जारी है। किसानों को सिंघु बॉर्डर पर विरोध-प्रदर्शन करते हुए आज 71 दिन हो गए हैं। 
 

गाज़ीपुर बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 69वें दिन भी जारी
कृषि कानूनों के खिलाफ गाज़ीपुर बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन आज 69वें दिन भी जारी है। गाजीपुर बॉर्डर बंद है। भारी संख्या में सुरक्षाबल तैनात हैं। 
 
देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन जारी है। सिंघु बॉर्डर पर 71वां और गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन को आज 69वां दिन है। वहीं, विपक्षी नेताओं का दल आज किसानों से मिलने गाजीपुर बॉर्डर पहुंच रहा है। 
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X