बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

बेलगाम शोर से कान हो रहे कमजोर

डीपी आर्य/अमर उजाला, गाजियाबाद Updated Sun, 05 Apr 2015 11:54 PM IST
विज्ञापन
The ears are unbridled noise weak

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
दिल्ली-एनसीआर का वायु प्रदूषण लगातार चर्चाओं में रहा है। इससे बचाव के कई नियम-कायदे भी लागू किए गए हैं। अबकी बार ध्वनि प्रदूषण का खतरा विकराल रूप धारण करके सामने आया है।
विज्ञापन


पर्यावरण विभाग के शोध में पाया गया है कि यहां के लोगों के सुनने की संख्या लगातार कम हो रही है। यदि इसी तरह ध्वनि प्रदूषण बढ़ता रहा तो एक दशक में यहां बुजुर्ग बहरों की संख्या एक मुसीबत बनकर उभरेगी।


दिल्ली एनसीआर में विकास तेजी से हुआ है। इसके चलते यहां कारखानों-वाहनों की संख्या बढ़ी है और देशभर के लोगों का यहां पलायन हुआ है। इससे शोर लगातार बढ़ता जा रहा है।

आलम यह है कि जिस क्षेत्र को शांत माना जाता है, वहां पर भी ध्वनि प्रदूषण का असर देखने को मिल रहा है। वाहनों और कारखानों का शोर लोगों को बेचैन कर रहा है।

ध्वनि प्रदूषण का असर मनुष्यों के साथ ही पशु-पक्षियों पर भी पड़ रहा है। बढ़ते शोर से लोगों में हाई बीपी, हाइपरटेंशन आदि बीमारियां घर बना रही हैं। सबसे ज्यादा प्रभावित लोगों की सुनने की क्षमता हो रही है।

पर्यावरण विशेषज्ञों के अनुसार लोगों को 80-85 डेसिबल की ध्वनि सबसे अच्छी रहती है। पॉल्यूशन विभाग के सर्वे के अनुसार, एनसीआर में लोगों को 10 घंटे से ज्यादा 130-160 डेसिबल शोर का सामना करना पड़ रहा है।

विशेषज्ञों के अनुसार तेज आवाज से लोगों के कान का पर्दा कमजोर हो रहा है और नसों में सूजन आ रही है। इससे सुनने की क्षमता प्रभावित हो रही है।

शोर केचलते 70 फीसदी लोगों के कान 50 साल की आयु तक सुनने की 40 फीसदी क्षमता खो चुके होते हैं। 50 साल की आयु से ही कानों की सुनने की क्षमता प्रभावित हो रही है। अब बच्चों के कान भी प्रभावित होने लगे हैं। गर्भवती महिलाओं पर इसका असर पड़ रहा है।

बढ़ते शोर से सबसे ज्यादा नुकसान कानों को हो रहा है। शोर को नियंक्ष्ति करने के साथ ही इससे कानों को बचाने की जरूरत है। तेज साउंड, डीजे और ज्यादा शोर वाले स्थानों पर कानों को बंद करके रखें। यदि अभी से सावधानी नहीं बरती गई तो आने वाले दिनों में बहरापन बड़ी समस्रूा बनकर उभरेगा।- डाॅ. बीपी त्यागी, ईएनटी विशेषज्ञ।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us