हड़ताल फेल होने के पीछे कौन है मास्टर माइंड?

अमर उजाला, फरीदाबाद Updated Wed, 22 Jan 2014 01:26 PM IST
teachers strike fail in haryana
फरीदाबाद में शिक्षा निदेशालय के सख्त निर्देश के बाद जिला शिक्षा अधिकारी की टीम की चुस्ती ने हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ की हड़ताल को फेल कर दिया है।

शिक्षा अधिकारियों का दावा है कि हड़ताल में केवल यूनियन पदाधिकारी शामिल रहे है। किसी स्कूल के शिक्षक ने हड़ताल में शामिल होने की हिम्मत नहीं जुटाई है।

यह भी पढ़ें:हड़ताल में गए तो चली जाएगी नौकरी!

हरियाणा कर्मचारी तालमेल कमेटी को समर्थन देते हुए हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ ने शिक्षकों से अपील की थी कि वह इस तीन दिवसीय हड़ताल में शामिल हों। लेकिन पदाधिकारियों के आह्वान के बावजूद कोई भी शिक्षक हड़ताल में शामिल नहीं हुआ।

बताया जाता है कि शिक्षा विभाग की वित्तायुक्त सुरीना राजन ने जिला शिक्षा अधिकारी राजीव कुमार अरोड़ा को आदेश दिया कि हड़ताल के दौरान प्रत्येक स्कूल का निरीक्षण किया जाए। अगर कोई अध्यापक हड़ताल पर पाया जाता है तो उसकी तत्काल अनुपस्थिति लगाकर मुख्यालय को रिपोर्ट भेजी जाए।

यह भी पढ़ें: तीन लाख सरकारी कर्मी करेंगे हड़ताल

इस आदेश का पालन करते हुए डीईओ ने खंड मौलिक शिक्षा अधिकारी फरीदाबाद ऋतु चौधरी, खंड मौलिक शिक्षा अधिकारी बल्लभगढ़ अनीता शर्मा और खंड शिक्षा अधिकारी बल्लभगढ़ डीसी चौधरी को जिले में स्कूलों के निरीक्षण की कमान सौंपी थी। जिसके तहत सभी स्कूल प्रमुखों की बैठक भी ली गई।

जिला शिक्षा अधिकारी राजीव कुमार अरोड़ा ने बताया है कि  सभी अधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट भेज दी है। जिसे मुख्यालय भेज दिया गया है। इस रिपोर्ट में केवल यूनियन पदाधिकारियों के ही हड़ताल में शामिल होने की बात कही गई है। संघ जिला प्रधान राज सिंह ने भी इस मामले पर पुष्टी करते हुए बताया है कि हड़ताल में कोई भी शिक्षक शामिल नहीं हुआ है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

गुरुग्राम में धारा 144 लागू, ‘पद्मावत’ देखने जाने से पहले रखें इन बातों का ध्यान

फिल्म 'पद्मावत' की रिलीज को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन और विवाद को देखते हुए गुरुग्राम में धारा 144 लगा दी गई है।

24 जनवरी 2018